भूतिया अस्पताल, real ghost stories in hindi

real ghost stories in hindi

भूतिया अस्पताल

ghost stories.jpg

real ghost stories in hindi

मेरे दोस्तों ये बात मेरे नाना जी ने मुझे बताई थी , जो की आज मैं आप लोगो को बताने जा रहा हु. ये एक सच्ची घटना है. यहाँ पर आज भो रोने और बिलखने की आवाजे आती है. इस अस्पताल को आज से करीबन 350 साल पहले अंग्रेजो ने बनवाया था . उस अस्पताल के सामने एक कब्रिस्तान है . मेरे नाना जी ने मुझे बताया था कि आज से 70 साल पहले इस अस्पताल में ऑपरेशन के दौरान एक लड़के की मौत हो गयी थी .

 

तब से उस लड़के की आत्मा उस अस्पताल में भटकती है . रात ढलते ही कोई भी इन्सान उस रास्ते से नहीं गुजरता है क्यूंकि उस लड़के की आत्मा राहगीरों को परेशान करती है . हालंकि मै नाना जी की बताई पुरानी भूतहा कहानियों में ज्यादा विश्वास नहीं करता था . एक रात मै अपने तीन दोस्तों दिनेश , विकास और आकाश के साथ रात को बाइक पर घूम रहे था तभी मेरे एक दोस्त ने मुझसे सरोज अस्पताल वाले रास्ते से चलने को कहा. हम में से कोई भी ज्यादा भूत प्रेतों पर विश्वास नहीं करते थे और हमने उस रास्ते से जाने का विचार किया था.

उस समय रात के 11 बज चुके थे . हम तीनो ने ये बात अपने परिवार वालो को नहीं बताने का वादा किया और उस रास्ते पर निकल पड़े . जैसे ही हम उस रास्ते से निकले रास्ते पर रेत होने की वजह से हमारी बाइक फिसल गयी और हम तीनो धडाम से बाइक से दूर गिर गए . गनीमत थी कि हम लोगो को कोई चोट नहीं आयी थी .बाइक चला रहे मेरे दोस्त दिनेश ने बोला कि उसका बैलेंस तो बराबर था फिर ये बाइक कैसे फिसल गयी . हालंकि वो थोडा डर गया था तो मेरे दुसरे मित्र आकाश ने बाइक चलाने को कहा .

Read More-भयानक भूत

Read More-वो भूतिया रास्ता

अब आकाश बाइक चला रहा था . हम 2 किमी ही चले थे कि अचानक हमारी गाडी का टायर पंचर हो गया और गाडी की स्पीड तेज़ होने से गाडी इस बार फिर पिछली बार से भी दूर तक फिसलती गयी . इस बार हमे कोहनियों और घुटनों परथोड़ी चोट आयी थी . दिनेश फिर से बोला कि इस जगह में जरुर कोई गडबड है . हम लोग वापस उल्टे चलते है . लेकिन मैंने और आकाश ने उसकी बात नहीं मानी और बाइक उठाकर पैदल चलना शुरू कर दिया. हम थोड़ी दूर ही चले थे कि अचानक किसी लड़के के चीखने की आवाज़े सुनाई दी .

Read More-डरावनी रात एक कहानी

Read More-एक हवैली

ये सुनकर हम रुक गए और दिनेश बोला यार तुम लोगो को चीखने की आवाज़ सुनाई दी क्या ?? हमने उसकी बातो को अनसुना कर कहा कि कोई जानवर की आवाज़ होगी . पांच मिनट चलने के बाद फिर वोही चीख फिर से सुनाई दी . इस बार तो हम दोनों को भी थोडा डर लगने लगा . हम तीनो ने वापस चलने के बारे में सोचा लेकिन हम रास्ते के बीच में आ गये थे . पीछे चलने में 3 किमी और आगे चलने में 2 किमी ओर बाकी थे . हम लोगो ने आगे जाने का सोचा.

Read More-अनहोनी एक कहानी

Read More-डायन की डरावनी कहानी

थोडा आगे चलने पर हमे बरगद के पेड़ के नीचे एक औरत दिखाई दी . इतनी रात को अकेली औरत को देखकर हमारे तो रौंगटे खड़े हो गये थे . हम लोगो ने पीछे मुड़ने का सोचा . तभी वो बुढी औरत चिल्लाई बेटा रुको मुझे हाईवे तक का रास्ता बता दो . हमने पूछा कि इतनी रात को आप इस रास्ते से कैसे निकल रही हो . तो उस बुढिया ने कहा कि मै पड़ोस के गाँव की रहने वाली और मेरे पास पैसे नहीं है इसलिए मै पैदल ही निकल पडी , हाईवे के उस पार मेरा गाँव है . हमने उस बुढिया की बात का विश्वास कर लिया और आगे निकल पड़े .

Read More-भूत ही भूत

Read More-चुड़ैल की कहानी

रास्ते में वो बुढिया हमसे सारी बाते पूछने लगी . बुढिया हम तीनो के पीछे चल रही थी हम तीनो दोस्त अब अपनी बात कर रहे थे . तभी आकाश बोला कि लो मांजी आपका रास्ता आ गया और वो जैसे ही पीछे मुड़ा तो वहा कोई नहीं था . हम तीनो की तो सिट्टी पिट्टी गुल हो गयी . हम बाइक को धक्का मारते हुए जोर से भागने लगे .भागते भागते दिनेश ठोकर खाकर गिर गया और हमे जोर से चीखे सुनाई दी .हमने भी बाइक को वही पटककर दिनेश को साथ लेकर दौड़ने लगे औ रअस्पताल के पास कब्रिस्तान तक पहुच गए .

Read More-भूत बंगला रियल कहानी

Read More-पीपल का भूत

ये सब घटित होते 1 बज चुकी था. हम पसीने से तर बतर हो गए थे और कब्रिस्तान पार कर एक मंदिर में रुक गए क्यूंकि अगर बिना बाइक के घर जाते तो….? . इसलिए उस रात मंदिर में ही रुक गए और सुबह होते ही बाइक लेकर अपने अपने घर आ गये और घर वालो दोस्त के यहा रुकने का बहाना बना दिया .उस रात के बाद से हम उस रास्ते से कभी नहीं गए . मुझे आज भी सपनों में वो भूतिया बुढिया और चीखने की आवाज़े आती है . तो दोस्तों आपको मेरी ये सच्ची घटना कैसी लगी हमे जरूर बताये. ताकि मैं और इससे भी ज्यादा आपको रियल बाते शेयर कर स्कू.

Read More-खौफनाक जंगल की दास्तां

Read More-Bhangarh ka kila

Read More-भूतो का संसार

Read More-जब देखीं एक आत्मा

Read More-भूत का रहस्य

Read More-Room no-15 true story of ghost

Read More-एक घर की डरावनी कहानी

Read More-पुराना महल

Read More-दहशत की एक रात कहानी

Read More-एक पुराना किला

Read More-रात का डरावना सफर

Read More-पुराना महल

Read More-दहशत की एक रात कहानी

Read More-एक पुराना किला

Read More-वो सुनसान रास्ता

Read More-राजस्थान का किला

Read More-भूत की कुर्सी

Read More-ब्लडी मैरी शीशे के अंदर

Read More-भूतो का डर

Read More-भूत के पीछे भूत

Read More-भूत-प्रेत की कहानी

Read More-मेरी सच्ची कहानी

Read More-भूत देखना है

Read More-भूत का नाटक एक घोस्ट कहानी

Read More-भूत का साया

Read More-एक दानव कुत्ते की कहानी

Read More-क्या सच मैं भूत होते है

Read More-कब्रिस्तान मैं वो इंसान

Read More-एक भूत की फोटो जब देखी

Read More-उस रात का डर

Real More-जब हुआ रूह से सामना

Read More-क्या भूत होते है

Read More-गोविन्द की भूतिया कहानी

Read More-भूत या रहस्य एक कहानी

Read More-परिवार का भूत

Read More-मेरी कहानी

Read More-कब्रिस्तान का रास्ता

Read More-भूत-प्रेत की सच्ची कहानी 

Read More-तालाब का भूत एक सच्ची घटना

Read More-कोहरे की रात

Read More-किले का रहस्य

Read More-कमरे में कौन था

Read More-पेड़ का भूत एक कहानी

Read More-हवेली का प्रेत

Read More-कमरा नंबर 201 की कहानी

Read More-कमरा नंबर 303

Read More-एक भटकती आत्मा

Read More-काला जादू की सच्ची कहानी

Read More-केंटीन का भूत कहानी

Read More-मेरी अपनी कहानी

Read More-खेत मैं प्रेत से सामना

Read More-लड़की का प्रेत एक कहानी

Read More-मैंने देखी जब एक छाया

Read More-चलती गुड़िया

Read More-भूतो का गांव

Read More-पत्नी की आत्मा एक कहानी 

Read More-गली नंबर 18 की कहानी

Read More-आत्मा की कहानी

Read More-असली भूत की कहानी

Read More-उस रात की खौफनाक कहानी

Read More-जब उस चुड़ैल ने देखा

Read More-Horror real spirit stories in hindi

Read More-Mirror bloody mary real story in hindi

Read More-Ghost story of bloody mary in hindi

Read More-Queen bloody mary story in hindi

Read More-dar ki raat very short story in hindi

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!