एक घर की डरावनी कहानी, darawni kahani in hindi

Darawni kahani in hindi | Bhoot ki kahani hindi

एक घर की डरावनी कहानी, darawni kahani in hindi, यह बहुत ही डरावनी कहानी है, जब रमेश ने अपने उस घर के बारे में बताया जो उन्होंने ने अभी हाल में लिया था, उसकी बात सुनकर मुझे बहुत डर लगने लगा था, पहले तो मुझे यकीन नहीं हुआ था, लेकिन जब उसकी पूरी बात मेने सुनी तो बहुत डर लगने लगा, ऐसा कभी पहले तो नहीं सुना था,

एक घर की डरावनी कहानी : darawni kahani in hindi

horror kahani.jpg
darawni kahani in hindi

bhoot ki kahani hindi, darawni kahani in hindi, एक दिन की बात है, रमेश मेरे घर आया और उसने अपने घर के बारे में बताया था, रमेश के पापा की प्राइवेट कम्पनी में काम करते है, इसलिए वो ज्यादातर बाहर ही रहते है, क्योकि उनकी कम्पनी दूसरे शहर में थी, इसलिए वो रोज नहीं आया करते थे, रमेश और उसका भाई ही उस घर में रहते थे, रमेश अभी भी पढ़ रहा था, जब रमेश मेरे घर पर आया था, तो उसने बताया था, की जब से वो इस घर में आये है, तब से रात को पास वाले घर में से कुछ आवाज आती है, पास वाला घर बहुत साल से बंद है,

पेड़ के पास कोई है भूत की कहानी

एक बंद घर की नयी कहानी

अगर हम पास वाले घर को देखे तो उसमे बहुत से पौधे उग आये है, या घर बहुत साल से बंद है और यहां पर कोई आता भी नहीं है, इस घर में रहने वाले लोग अब दूसरे देश में चले गए है, इसलिए वो आते नहीं है, और इस घर में कोई दूसरा आदमी भी नहीं आता है, जब रमेश के पापा ने यह घर लिया था, तो उन्हें यह काफी सस्ते में मिल गया था, रमेश के पापा कुछ दिन रह कर अपने काम पर चले गए थे,

डरावनी जगह की कहानी

अब इस घर में रमेश और उसका भाई रहता है, रमेश कहता है, जब रात हो जाती है, तो पास वाले घर में जो रमेश के घर की बगल में है, उसमे किसी के चलने की आवाज आती है, यह हर रोज रात को ऐसा ही रहता है, कभी किसी के बोलने की आवाज भी आती है, और कभी समान के उठाने की आवाज आती है, ऐसा रात को ही होता है, इस बारे में रमेश के पापा को बताया था, लेकिन उन्होंने ने इस बारे में कुछ नहीं किया था, वो कहते है की यह वहम हो सकता है,  

एक हवैली

अनहोनी एक कहानी

एक दिन की बात है, रमेश के पापा कुछ दिन की छुट्टी लेकर घर आये हुए थे, जब वो रात में सो रहे थे, तब उन्हें प्यास लगी थी, पानी पीने के लिए जब वो उठे थे, तो उन्हें भी कुछ आवाज सुनाई दी, आवाज को सुनने के लिए उन्होंने ने थोड़ा ध्यान से सुन्ना चाहा, पर कुछ भी सुनाई नहीं दिया था, जब उन्हें कुछ महसूस हुआ की कोई बगल में सीढ़ी पर चढ़ रहा है, तो उन्हें तो विस्वास ही नहीं हुआ था, जब वो अपने घर के बाहर निकले तो पास वाले घर में अँधेरा था, वहा पर कोई नहीं था, ऐसा कैसे हो सकता है,

Bhangarh ka kila

भूतो का संसार

जब सुबह हुई तो इस बारे में उन्होंने ने किसी दूसरे आदमी से पूछा था की क्या कोई इस घर में आता है, पर कोई इस बारे मे नहीं जनता है, कुछ समझ नहीं आ रहा था, बहुत ही मुश्किल से यह घर मिला था, रमेश ने भी यह बताया था, की पास वाले घर से आवाज आती है, इस बात पर अब उन्हें यकीन था, लेकिन कुछ नहीं किया जा सकता था, वो लोग आज भी उस घर में रहते है जिसमे उन्हें आज भी डर लगता है,

भूत का रहस्य

वह इस बात को जानते है की घर उन्हें नहीं मिलने वाला है इसलिए वह उस घर में रहने पर मजबूर है मगर वह कुछ नहीं कर सकते है जिस घर में डर लगता है उसमे रहना आसान नहीं है मगर वह कुछ नहीं कर सकते है यह बात वह जानते है, एक घर की डरावनी कहानी, darawni kahani in hindi, अगर आपको यह कहानी (bhoot ki kahani hindi) शेयर करनी है तो आप कर सकते है 

 

रस्ते में मिला भूत की कहानी :- bhoot ki kahani hindi

bhoot ki kahani hindi, भूत की कहानी पर हमेशा यकीन नहीं होता है मगर कुछ ऐसी बाते है, जिनसे हमे पता चल जाता है की यहां पर कुछ ऐसा अभी है जिस पर यकीन किया जा सकता है यह बात उस समय की है, जब वह लड़का अपने घर शाम के वक़्त आ रहा था, उसे नहीं पता था की कोई आवाज उसका उसका पीछा कर रही है, वह कुछ आवाज से रुक जाता है, वह सोचता है की उसके पीछे कोई है, मगर कोई भी नहीं था,

 

वह कुछ समय रुकता है क्योकि उसे लगता है जरूर कोई है, मगर उसे कुछ भी पता नहीं चलता है, वह सोचता है शायद उसका कोई भृम हो सकता है, वह आगे बढ़ता है वह बढ़ता जाता है मगर उसके सामने एक छोटा सा पेड़ आकर गिरता है वह डर जाता है, यह कैसे हो गया था, क्योकि उसे यकीन नहीं हो रहा था एक पेड़ जोकि जड़ से उखड़ा हुआ लग रहा था वह मेरे सामने कैसे आ गया है, वह रुक जाता है आज उसे पता चल गया था, जरूर कोई मेरा पीछा कर रहा है वह आवाज लगाता है तुम कौन हो, मेरे सामने क्यों नहीं आते हो, उसे आवाज सुनाई देती है,

 

bhoot ki kahani hindi, darawni kahani in hindi, अगर में तुम्हारे सामने आ गया तो समस्या हो सकती है, वह लड़का सोचता है यह कोई भूत है जो मेरे सामने कभी भी आ सकता है वह भाग जाता है आज उसे बहुत डर लग रहा था उसे नहीं पता था की उसके सामने कभी कोई भूत भी आ सकता है, वह घर जाकर रुकता है मगर उसे वही डर था कही वह मेरे पीछे तो नहीं आ रहा है लेकिन वह उसके पीछे नहीं था वह रातभ्हर सोया नहीं था उसके साथ जो हुआ था वह पहले कभी भी नहीं हुआ था, यह कुछ बाटे हमे यह बात कहती है, भूत हो सकते है, लेकिन जब तक हम देख न ले, हमे यकीन नहीं आता है

Bhoot ki kahani in Hindi :-

पेड़ के पास कोई है भूत की कहानी

रात का डरावना सफर

तालाब का भूत एक सच्ची घटना

कमरा नंबर 201 की कहानी

कमरा नंबर 303

Horror real spirit stories in hindi

Mirror bloody mary real story in hindi

Ghost story of bloody mary in hindi

Queen bloody mary story in hindi

dar ki raat very short story in hindi

पुराना महल, Purana mahal ki ghost kahani

एक भटकती आत्मा, haunted stories in hindi

 

2 thoughts on “एक घर की डरावनी कहानी, darawni kahani in hindi”

  1. tarun patel

    vaahh bhutt hii aachi or khatrnaak story thii..maja agaa..
    keep it up..

  2. RAMESH PATIL

    bAHUT HEE ACHHI KAHANI HEIN

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!