कब्रिस्तान का रास्ता, bhoot wali kahani

bhoot wali kahani

कब्रिस्तान का रास्ता एक कहानी

bhoot kahani.jpg

bhoot wali kahani

bhoot wali kahani, ये बात उन दिनों की है जब मैं अपने दोस्त के घर उसकी सिस्टर की शादी से वापिस अपने घर लोट रहा था. बात लगभग 8 साल पुरानी है, दिसंबर की ठण्ड का मौसम और ठंडी ठंडी हवा के साथ हिलते पेड़ मानो रात मैं शैतान का रूप ले लेते है. मेरा नाम दिनेश है और मैं जम्मू का रहने वाला हूँ.





नज़दीक ही मेरे दोस्त की सिस्टर की शादी थी और उसने मुझे बुलाया था. मेरी तबियत रात को ख़राब हो जाने के कारण से मैं कुछ जल्दी ही घर की और निकल गया. मुझे मेरे दोस्त ने बहुत रोका भी लेकिन मैं रुका नहीं और वापिस घर की और चल दिया.




मुझे याद है की मेरे दोस्त के घर से लगभग 3 किलोमीटर दूर रास्ते मैं ही एक कब्रिस्तान पड़ता है. मैं अपनी खुद की बाइक से ही गया था शादी मैं. जैसे ही मैं उस कब्रिस्तान के पास पंहुचा तो मेरी बाइक अचानक से रुक गयी. मुझे लगा , ये क्या हो गया है अब मेरी बाइक को.

Read More-पत्नी की आत्मा एक कहानी 

अभी तो मेरे घर लगभग उस कब्रिस्तान से 4.5 किलोमीटर दूर था. रात के समय ना तो कोई ऑटो ही दिखा रह था और ना ही कोई बाइक ठीक करने वाला ही. मैंने सोचा क्यों न घर पर कॉल करके अपने भाई को बुला लेता हूँ, तो मैंने फ़ोन करने की कोसिस की लेकिन कॉल भी नहीं मिल पा रही थी किसी को भी.

Read More-भूतो का गांव

अब तो मुझे बहुत भी ज्यादा डर लग रहा था की ये फ़ोन को क्या हो गया है अब. ये क्यों नहीं काम कर रहा है. पहले तो बाइक ख़राब हो गयी और अब ये फ़ोन भी. मैंने गुस्से मैं अपने फ़ोन को कब्रिस्तान की और फेंक दिया. लेकिन बाद मैं सोचा अरे मैंने ये क्या कर दिया यार ये फ़ोन तो भाई ने गिफ्ट दिया था.

Read More-चलती गुड़िया

और ये था भी बड़ा कॉस्टली. लगभग 18,000 का था ये फ़ोन. अब मैं उसे ढूंढने के लिए कब्रिस्तान के अंदर चला गया. तो मुझे वहा का वातावरण कुछ अगल ही लग रहा था, क्योकि ठंडा मौसम होने के बावजूद भी वहा पर गर्मी लग रही थी मुझे. मैं सोचने लग गया की ये हो क्या रहा है, आज मेरे साथ.

Read More-मैंने देखी जब एक छाया

मैंने फिर कुछ न सोच कर फ़ोन को ढूंढना शुरू कर दिया, जब मैं अपने फ़ोन को ढूंढते हुए एक कब्र के पास पंहुचा तो मुझे उसमे से कुछ हलचल नज़र आयी तो मैं वहा से एक दम से दूर भाग गया. तो कुछ देर बाद मैं क्या देखता हूँ की उसमे से एक हाथ निकलता हुआ मुझे नज़र आ रहा था. मुझे बहुत डर लग रहा था. धीरे धीरे हाथ बहुत ही बड़ा होता जा रहा था. और देखते देखते अब उस कब्र मैं से भूत ही बहार आ चूका था.

Read More-लड़की का प्रेत एक कहानी

bhoot wali kahani, मेरे तो होश ही उड़ गए थे उसे देखकर. मैं अब वहा पर बिलकुल भी रुकना नहीं चाहता था. लेकिन भाग भी तो कैसे वहा से , वो भूत भी तो उसे मैं गेट के नजदीक था. जैसे ही वो कुछ दूर गया मैं तुरंत ही वहा से भाग निकला और अपने घर वापिस आ गया. तो दोस्तों कभी भी आप अकेले मैं या किसी के साथ भी रात को किसी भी कब्रिस्तान मैं ना जाए. मेरी आपसे यही गुजारिस है.

Read More-खेत मैं प्रेत से सामना

Read More-मेरी अपनी कहानी

Read More-केंटीन का भूत कहानी

Read More-भूत या रहस्य एक कहानी

Read More-परिवार का भूत

Read More-तालाब का भूत एक सच्ची घटना

Read More-कोहरे की रात

Read More-किले का रहस्य

Read More-कमरे में कौन था

Read More-पेड़ का भूत एक कहानी

Read More-हवेली का प्रेत

Read More-कमरा नंबर 201 की कहानी

Read More-कमरा नंबर 303

Read More-एक भटकती आत्मा

Read More-काला जादू की सच्ची कहानी

Read More-एक दानव कुत्ते की कहानी

Read More-वो सुनसान रास्ता

Read More-एक पुराना किला

Read More-जब उस चुड़ैल ने देखा

Read More-दहशत की एक रात कहानी

Read More-एक हवैली

Read More-डरावनी रात एक कहानी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!