भूतो के डर की दो नयी हिंदी कहानी, Horror and ghost stories in hindi

Horror and ghost stories in hindi

Horror and ghost stories in hindi, भूत कैसे होते है या कैसे दिखते है लोग ये सब जानना चाहते है. क्योकि इनके बारे मैं कुछ भी सही जानकारी किसी के भी पास आज तक भी नहीं है. आज के टीवी शो या फिर मूवी मैं इन्हे कई शक्लो मैं पेश किया जाता रहा है. लेकिन इनकी सच्चाई किसी को भी नहीं पता है.

भूतो के डर की दो नयी हिंदी कहानी :- Horror and ghost stories in hindi

real ghost.jpg
ghost stories in hindi

Horror and ghost stories in hindi, ये मात्र एक रूह के भेष मैं होते है , जो कभी कभी इंसानी रूप भी ले लेते है. ऐसी ही एक सच्ची घटना आज मैं आप लोगो को बताने जा रहा हु. जो की मेरे साथ खुद ही घटित हुई ही. मेरा नाम दिनेश है और मैं कानपूर उत्तर प्रदेश का रहने वाला हु. ये तब की बात है जब मैं ट्रैन से लखनऊ जा रहा था अपनी कंपनी के काम से. मुझे वह पर जल्दी पहुंचना था तो मैं रात की ही ट्रैन से निकल पड़ा था.

डरावनी रात एक कहानी

ट्रैन कुछ जल्दी ही लखनऊ रेलवे स्टेशन पर पहुंच गयी और मैं रात को 2.30 बजे ही उतर गया स्टेशन पर. मुझे अब पूरी रात भर वहा पर रुकना था क्योकि मैंने कोई भी होटल बुक नहीं किया था रुकने के लिए. मैं एक टी पीकर रात मैं ही स्टेशन पर घुम रहा था, की तभी मुझे एक भूदा आदमी मिला जो की मेरे से इलाहबाद जाने के लिए कोई ट्रैन पूछ रहा था. पर वो मुझे कुछ अजीब सा लग रहा था, क्योकि उसमे से कुछ ऐसी बदबू आ रही थी जो की मैंने कभी भी सूंघी नहीं थी. ना तो वो पसीना था और ना ही ऐस कि कभी बहुत दिनों तक कोई इंसान नहाया न हो. मुझे बहुत ही अजीब सा लग रहा था.

एक हवैली

मैंने उनहे कहा बाबा आप उस औरत से पता कर लो जो खिड़की पर बैठती है, वो आपको सारी ट्रैन के बारे मैं सही सही जानकारी दे देगी. मुझे ज्यादा नहीं पता है ट्रेनों के बारे मैं. तो वो वहा से चले गए, और मैं घूमता रहा स्टेशन पर ही. फिर कुछ देर बाद मेरे पास एक बूढी महिला आयी, वो भी मुझसे इलाहबाद ट्रैन के बारे मैं पूछ रही थी और उसमे से भी ठीक वैसे ही बदबू आ रही थी , जैसी की उस बूढ़े आदमी मैं से आ रही थी. मेरे बिलकुल भी समझ मैं नहीं आ रहा था की , आज मेरे साथ क्या हो रहा है ये. जो भी कोई आता है इलाहबाद के बारे मैं ही पूछता है और वो भी एक जैसे लोग , जिनमे से एक ही जेई बदबू मार रही है.

अनहोनी एक कहानी

अब मुझे लखनऊ रेलवे स्टेशन पर घूमते हुए कोई सुबह के 4.30 बज चुके थे , क्योकि ठण्ड का मौसम था इसलिए स्टेशन के बाहर अभी भी घुप्प अँधेरा ही था और साथ ही घना कोहरा भी था. तो मैं वापिस स्टेशन के अंदर जाने लगा की तभी मेरा किसी ने हाथ पकड़ लिया , वो आदमी एक पैर से लंगड़ा था और मुझ से कह रहा था की साहब आप यहाँ से चले जाय नहीं तो आपके साथ कुछ भी गलत हो सकता है. मैंने उसकी बातो को ज्यादा सीरियस नहीं लिया और स्टेशन के अंदर चला गया, की तभी मैं क्या देखता हु की . जहा तक भी मेरी नज़र जाती , वही तक मुझे वो ही इंसान नज़र आ रहे थे जो की मुझसे इलाहबाद जाने के लिए ट्रैन पूछ रहे थे.

दहशत की एक रात कहानी

Horror and ghost stories in hindi, इतने सरे आदमियों को देख मैं बहुत ही घबरा गया और उनके बारे मैं सोचने लग गया , की तभी वही लंगड़ा आदमी फिर से मेरे पास आया और ये बताने लगा की साहब ये जो भी लोग खड़े है स्टेशन पर ये सब मरे हुए है. इनमे से कोई भी जिन्दा नहीं है, इसलिए मैं आपसे कह रह था की आप जितना जल्दी हो सके यहाँ से चले जाय. नहीं तो ये आपको भी मार डालेंगे जैसे इन्होने मुझे मार डाला था. उसकी ये बात सुन मैं तुरंत ही लखनऊ रेलवे स्टेशन से बाहर निकल गया और दोबारा कभी भी रात की गाड़ी से उस स्टेशन पर नहीं आया. इसलिए मैं बता सकता हु की भूत इंसानी शकल मैं भी नज़र आ सकते है आप लोगो को. तो भूत कैसे होते है , ये ऐसे भी होते है.

 

भूत के डर की घटना हिंदी कहानी :- Horror and ghost stories in hindi

Horror and ghost stories in hindi, जब दोनों दोस्त रात के समय में घर वापिस आ रहे थे उन्हें नहीं पता था की उनके सामने कोई भूत भी आ सकता है, वह पहली बार तो उस रस्ते से नहीं आये थे बल्कि वह बहुत बारे आ चुके थे मगर आज ऐसा क्या हुआ था, वह दोनों बात करते हुए जा रहे थे तभी उन्हें आवाज आती है, यह आवाज क्या कहती है, वह दोनों रुक जाते है, वह देखते मगर कोई नज़र नहीं आ रहा था, वह दोनों सोचते है, मगर जब कोई नहीं है,

भूत-प्रेत की कहानी

वह आगे बढ़ते है, तभी पहला दोस्त कहता है, मुझे लगता है कोई है, जो हमारे पीछे है, क्योकि वह मुझे पकड़ रहा है, दूसरा दोस्त कहता है, तुम यह सब क्या कह रहे हो, वह दोनों रुक जाते है, पहला दोस्त कहता है, मेरा हाथ ऊपर नहीं उठ रहा है, उसके दोस्त को यकीन नहीं हो रहा था, तभी पहला दोस्त नीचे गिर जाता है, दुसरा कहता है मुझे समझ नहीं आ रहा था, तुम नीचे क्यों गिर गए हो, तभी दुसरा दोस्त भी गिर जाता है, अब उन्हें यकीन हो जाता है यहां पर कोई भूत है, वह आवाज उसी की होगी, अब वह भागने लगते है, उन्हें लग रहा था,

एक पुराना किला

वो सुनसान रास्ता

Horror and ghost stories in hindi, इस रास्ते से उन्हें आकर बहुत बड़ी गलती की है, वह घर तो आ गए थे, मगर उनकी बताए उनके साथ क्या हुआ था उसे सोचकर उन्हें डर लगता है, वह भूत नज़र नहीं आया था मगर उन्हें यकीन हो गया था, इस दुनिया में भूत होते है, क्योकि उनके साथ जो हुआ था, वह अच्छा नहीं था, आज वह इस बात को समझ गए थे वह किसी से कुछ नहीं कहते थे, क्योकि उनका मजाक उड़ाया जा सकता था, मगर यह घटना उन्हें सोचने पर मजबूर करती है, जीवन में कुछ भी हो सकता है, मगर भूत है या नहीं इस बात पर हमेशा संदेह रहेगा

Read More Ghost story Hindi :-

Read More-मेरी सच्ची कहानी

Read More-भूत देखना है

Read More-भूत का नाटक एक घोस्ट कहानी

Read More-भूत का साया

Read More-एक दानव कुत्ते की कहानी

Read More-क्या सच मैं भूत होते है

Read More-कब्रिस्तान मैं वो इंसान

Read More-एक भूत की फोटो जब देखी

Read More-उस रात का डर

Real More-जब हुआ रूह से सामना

Read More-क्या भूत होते है

Read More-गोविन्द की भूतिया कहानी

Read More-भूत या रहस्य एक कहानी

Read More-परिवार का भूत

Read More-मेरी कहानी

Read More-कब्रिस्तान का रास्ता

Read More-भूत-प्रेत की सच्ची कहानी 

Read More-तालाब का भूत एक सच्ची घटना

Read More-कोहरे की रात

Read More-किले का रहस्य

Read More-कमरे में कौन था

Read More-पेड़ का भूत एक कहानी

Read More-हवेली का प्रेत

Read More-कमरा नंबर 201 की कहानी

Read More-कमरा नंबर 303

Read More-एक भटकती आत्मा

Read More-काला जादू की सच्ची कहानी

Read More-केंटीन का भूत कहानी

Read More-मेरी अपनी कहानी

Read More-खेत मैं प्रेत से सामना

Read More-लड़की का प्रेत एक कहानी

Read More-मैंने देखी जब एक छाया

Read More-चलती गुड़िया

Read More-भूतो का गांव

Read More-पत्नी की आत्मा एक कहानी 

Read More-गली नंबर 18 की कहानी

Read More-आत्मा की कहानी

Read More-असली भूत की कहानी

Read More-उस रात की खौफनाक कहानी

उस रात की खौफनाक कहानी, khofnak kahani

Real story in hindi | horror stories in hindi | जब उस चुड़ैल ने देखा

2 thoughts on “भूतो के डर की दो नयी हिंदी कहानी, Horror and ghost stories in hindi”

  1. SANDEEP KUMAR

    VERY GOOD, DEAR
    THESE STORIES ARE VERY HELPFUL FOR ME.
    BECAUSE MY SON MITTHU LIKES THESE STORIES. I READ AND MY SON LISTEN THESE STORIES FROM ME. SO THANKS AGAIN. THANK YOU VERY MUCH.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!