भूत के पीछे भूत, real bhoot story in hindi

real bhoot story in hindi

भूत के पीछे भूत

real bhoot.jpg

real bhoot story

real bhoot story in hindi, दोस्तों क्या अपने ये कभी भी सुना है की एक भूत के पीछे भूत हो. जी मैं आज आपको ऐसी ही एक घटना के बारे मैं बताने जा रहा हु , जहा पर एक नहीं बल्कि भूत के पीछे भूत चलते हुए नज़र आते थे. ये बात तब की है जब मैं बंगाल गया हुआ था अपने एक दोस्त के साथ घूमने के लिए. उसने जो होटल बुक कराया था दरअसल वो एक शमशान घाट के कुछ एक आध किलोमीटर ही दूर था. यांनी की आप घूमते हुए भी वहा पर जा सकते थे , वो इतनी ही दूर था मात्र. मुझे इसके बारे में बिलकुल भी नहीं पता था , वरना मैं कभी भी बुक नहीं करता इस होटल को.



हम जैसे ही वहा पर पहुंचे तभी उसी दिन से ये सब शुरू हो गया. हम दोनों डिनर करके रात मैं टहलने के लिए होटल से बाहर निकले हुए थे, घूमते हुए हम उस शमशान घाट के नज़दीक ही पहुंच गए थे क्योकि हमे अंदाजा नहीं तह इस बारे मैं की यहाँ पर ये सब भी होगा. जैसे ही हम वहा पर पहुंचे हमे कुछ लोग एक के पीछे एक चलते हुए नज़र आये. तो हमने उन्हें देखना शुरू कर दिए , लेकिन मेरे दोस्त ने उन्हें आवाज लगाई की कौन हो भाई और कहा पर जा रहे हो. किसी ने कोई भी जवाब नहीं दिया. हम वापिस होटल आ गए. अगली राटा हम फिर डिनर के बाद घूमने निकले. हमे फिर वही सब नज़र आये चलते हुए.


इस बार हमने नजदीक जाकर पूछने की कोशिश की तो वो सब धुए के साथ अचानक से गायब हो गए. हमने होटल वापिस आकर वेटर से पूछा की श्मशान घाट के पास हमने कुछ लोग देखे है वो भी दो दिनों से लगातार, कौन है वो लोग और क्यों रात मैं घूमते है रोजाना. तो वेटर ने कहा की साहब आप वहा पर न जाया करे, वो जिन्दा नहीं बल्कि मरे हुए लोग है जो की रात भर भटकते है और घूमते है वहा पर. क्योकि वही उनका घर है और वही उनकी जिंदगी है. कोई भी वहा जाता है या फिर उन्हें परेशान करने की कोशिश करता है तो वो सब उसे मर डालते है.

Read More-दहशत की एक रात कहानी

Read More-एक पुराना किला

Read More-वो सुनसान रास्ता

Read More-डरावनी रात एक कहानी

Read More-एक हवैली

Read More-अनहोनी एक कहानी

real bhoot story in hindi, ये सब सुनकर तो मेरे रोंगटे ही खड़े हो गए और इस बात पर मैंने अपने दोस्त को बहुत खरी खोटी सुनाई की तुम्हे अकल नहीं है कौन सा होटल बुक किया है तूने. यहाँ तो नजदीक मैं ही भूत बस्ते है. कही हमे मार डालते वो , तो हम करते बताओ. अब रात को तुरंत ही मैंने वो होटल छोड़ने का फैसला किया और हम दोनों दोस्त उसी रात मैं वहा से दूसरे होटल मैं चले गए रहने के लिए. इस तरह से मैंने एक के पीछे एक चलते हुए भूत देखते थे. इसी को कहते है की भूत के पीछे भूत.

Read More-भूत की कुर्सी

Read More-ब्लडी मैरी शीशे के अंदर

Read More-भूतो का डर

Read More-भूत-प्रेत की कहानी

Read More-मेरी सच्ची कहानी

Read More-भूत देखना है

Read More-भूत का नाटक एक घोस्ट कहानी

Read More-भूत का साया

Read More-एक दानव कुत्ते की कहानी

Read More-क्या सच मैं भूत होते है

Read More-कब्रिस्तान मैं वो इंसान

Read More-एक भूत की फोटो जब देखी

Read More-उस रात का डर

Real More-जब हुआ रूह से सामना

Read More-क्या भूत होते है

Read More-गोविन्द की भूतिया कहानी

Read More-भूत या रहस्य एक कहानी

Read More-परिवार का भूत

Read More-मेरी कहानी

Read More-कब्रिस्तान का रास्ता

Read More-भूत-प्रेत की सच्ची कहानी 

Read More-तालाब का भूत एक सच्ची घटना

Read More-कोहरे की रात

Read More-किले का रहस्य

Read More-कमरे में कौन था

Read More-पेड़ का भूत एक कहानी

Read More-हवेली का प्रेत

Read More-कमरा नंबर 201 की कहानी

Read More-कमरा नंबर 303

Read More-एक भटकती आत्मा

Read More-काला जादू की सच्ची कहानी

Read More-केंटीन का भूत कहानी

Read More-मेरी अपनी कहानी

Read More-खेत मैं प्रेत से सामना

Read More-लड़की का प्रेत एक कहानी

Read More-मैंने देखी जब एक छाया

Read More-चलती गुड़िया

Read More-भूतो का गांव

Read More-पत्नी की आत्मा एक कहानी 

Read More-गली नंबर 18 की कहानी

Read More-आत्मा की कहानी

Read More-असली भूत की कहानी

Read More-उस रात की खौफनाक कहानी

Read More-जब उस चुड़ैल ने देखा

Leave a Reply

error: Content is protected !!