भूतिया होटल की दास्ताँ, bhoot pret real story

Bhoot pret real story

Bhoot pret real story, भूतिया होटल की दास्तान की कहानी, हमें चलते हुए बहुत समय बीत गया है, हमें जो होटल सामने दिखाई दे रहा है, उसमें चल कर आराम कर लेना चाहिए, Because अभी रात बहुत हो गई है और हम आगे नहीं बढ़ सकते हैं, यही सोचकर हमने उस होटल में रुकने का फैसला किया था, but हमें नहीं लगता था कि उस होटल में रुकने से हमारे सामने बहुत सारी मुश्किलें पैदा हो जाएंगे, जिनका सामना करना आसान नहीं होगा

भूतिया होटल की दास्तान की कहानी : Bhoot pret real story

real bhoot.jpg

bhoot pret real story, हम होटल में रुकने के लिए चले गए हम नहीं जानते थे कि वह होटल वहां पर कैसे आया होगा हम वहां पर नये थे और हमें उस बारे में जानकारी भी नहीं थी हम उस होटल में रुकने के लिए एक कमरे की तलाश कर रहे थे हम एक कमरा मिल भी गया था जिसमें हम आराम से रुक सकते थे हम सभी रात के समय में उस होटल के कमरे में रुके हुए थे तभी हमने यह आवाज सुनी वह खिड़की से आ रही थी जब हमने खिड़की में नीचे देखने की कोशिश की तो एक आदमी नीचे खड़ा हुआ नजर आ रहा था

अनहोनी एक कहानी

वह हमें बुला रहा था और हम सभी का नाम भी वह अच्छी तरह से जानता था यह समझ में नहीं आ रहा था कि वह हमारा नाम कैसे जानता है हम सभी खिड़की से अंदर हो गए हो सोचने लगे कि वह आदमी कौन हो सकता है जो हमारा नाम जानता है और हमें बुला रहा है इसलिए हमें नीचे चल कर देखना चाहिए कि वह आदमी हमसे क्या चाहता है जब हम नीचे गए तो वह आदमी खड़ा हुआ था और कहने लगा कि तुम्हें यहां पर नहीं रुकना चाहिए और यहां से चले जाना चाहिए जगह ठीक नहीं है

डरावनी रात एक कहानी

यह बात सुनकर हमें थोड़ा अजीब लग रहा था Because वह ऐसी बातें क्यों कह रहा था वह हमें कुछ बताना चाहता था इससे पहले ही होटल का एक आदमी आया और कहने लगा कि आप किससे बात कर रहे है यह तो पागल है और सभी कोई ऐसी ही बातें कहता है इसलिए आपको अंदर चल कर सो जाना चाहिए जब हम सभी अंदर जा रहे थे तभी वह आदमी इस बात को कह रहा था कि तुम्हारे लिए यह होटल अच्छा नहीं है तुम्हें यहां से चले जाना चाहिए कुछ बात समझ में नहीं आ रही थी but आदमी ने कहा कि यह पागल है तो हो सकता है कि हमें भी यही लग रहा था कि वह पागल हो सकता है

एक हवैली

इसलिए ऐसी बातें कर रहा है कमरे में गए और इस बात को सोचने लगे कि वह हमारा नाम क्यों जानता है वह कौन है जो हमारा नाम जानता है जबकि हम तो यहां पर पहली बार आए हैं यह बात हमारे दिमाग में सही तरह से नहीं बैठ रही थी हमें तो कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि वह हमारा नाम कैसे जान सकता है होटल का आदमी भी हम सभी का नाम नहीं जानता यह बात हमारी समझ दूर थी but हम क्या कर सकते थे कुछ समझ में नहीं आ रहा था सोने की कोशिश की Because हमें थोड़ी परेशानी हो गई थी जिसकी वजह से अब नींद आ जाए तो ही अच्छा होगा

दहशत की एक रात कहानी

कुछ समय बाद हमें नींद आ गई और जब आंखें खुली तो हम देखते ही रह गए वह आदमी सही कह रहा था यह होटल हमारे रुकने लायक नहीं है Because वहां पर कोई होटल ही नहीं है जगह पूरी तरह से खाली और हम सभी जमीन पर बैठे हुए थे और दूर तक जंगल दिखाई दे रहा था अब हमें बात समझ में आ गई थी कि वह आदमी हमें क्यों मना कर रहा है होटल में हमें नहीं रुकना चाहिए Because वहां पर कोई होटल ही नहीं है एक तरह का छलावा था जो हमारे सामने था जिसकी वजह से हमें वह होटल नजर आ रहा था

भूत या रहस्य एक कहानी

जब हमने सभी जगह पर देखा तो वह आदमी दूर खड़ा हुआ था जोकि रात में हमे मना कर रहा था उससे सब कुछ पूछना चाहते थे मगर वह गायब हो गया था शायद वह हमारी मदद करने आया था, वह हमे समस्या से दूर करना चाहता था but हम लोग समझ नहीं रहे थे, क्योकि उस वक़्त सब कुक्ष्च हमारी समझ से परे था, हम कुछ भी समझ नहीं सकते थे, अब हमारी समझ में आ गया था हम सभी उस जगह से चले गए थे, कुछ बातो पर यकीन करना बहुत मुश्किल होता है 

भूतिया होटल की दास्ताँ : Bhoot pret real story

Bhoot pret real story, ये कहानी एक बहुत ही पुराने होटल की है जो की अब 200 सालो से खाली होने के कारण भूतिया बन गया है. शायद इस आभा के बारे में कुछ ऐसा लगता है जो हॉट स्प्रिंग्स को बहुत बड़ा होने से बचाने में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहा है. वर्षों से, दो भव्य होटल स्प्रिंग्स के पास बनाए गए हैं,

गोविन्द की भूतिया कहानी

जिनमें से दोनों को बर्बाद करना पड़ा. पैटन के व्हाईट हाउस, जिसे 1837 में बनाया गया था, में 450 कमरे और एक डाइनिंग रूम था, जो 800 सीट सकता था. होटल ने उत्तरी कैरोलिना में सबसे बड़े बॉलरूम को भी अभिमानित किया, विज्ञापन अच्छी तरह से चलने वाले पर्यटकों के लिए एक गंतव्य था सदी के मध्य में जमीन. इसके उत्तराधिकारी, माउंटेन पार्क इन, 1886 में बनाया गया था और यह एक बहुत ही शानदार था नौ छेद वाले गोल्फ कोर्स के साथ यह 200 कमरे होटल और स्प्रिंग्स द्वारा खिलाए गए सोलह संगमरमर स्नान. किन माउंटन पार्क इन ने भी 1920 में जमीन पर जला दिया.

जब उस चुड़ैल ने देखा

कुछ लोगों को भीड़ भरे होने से हॉट स्प्रिंग्स रखने पर लग रहा था. पृथ्वी से बहने वाले गर्म पानी चेरोकी के लिए पवित्र थे, और नदी के कुछ मील की दूरी पर पेंट रॉक की महत्वपूर्ण चेरोकी धार्मिक स्थल है. 19 वीं शताब्दी के बाद से, लोगों ने एक चेरोकी आदमी के आंकड़े को देखकर सूचित किया है जो नदी के पास के जंगल में चल रहा है और स्प्रिंग्स. हॉट स्प्रिंग्स एक बार फिर व्यापार के लिए खुले हैं, केवल अतीत के भव्य होटल की तुलना में बहुत छोटे पैमाने पर. स्प्रिंग्स से बहने वाला पानी फ्रेंच ब्रॉड के किनारे आश्रययुक्त गर्म टब की एक श्रृंखला में पंप है.

उस रात की खौफनाक कहानी

ऐसा कहा जाता है कि चेरोकी का भूत इन पर अपनी आंखें रखता है, और बहुत से आश्चर्यचकित करने वालों ने यहां तक कि भूत के बगल में आने वाले टब में सूचना दी है. क्या वहां कुछ ऊर्जा है जब हॉट स्प्रिंग्स चेरोकी पवित्र भूमि थी जो जांच में विकास कर रहा है? आज, हॉट स्प्रिंग्स कलाकारों और आध्यात्मिक साधकों के लिए एक चुंबक है, जिनके सभी लोग इस बात से सहमत हैं कि शहर की भावना के बारे में कुछ अनोखा है. यह शहर एक बार फिर से एक उभरता पर्यटक आकर्षण है, और बढ़ने शुरू कर रहा है. शायद कुछ हमें बताएंगे कि क्या यह बहुत बड़ा हो जाता है. ये एक सच्ची कहानी है.

उस रात की आकृति : Bhoot pret real story

bhoot pret real story, जब पवन रात को उठा तो देखा की बिजली नहीं है बिजली न होने की वजह से पवन को कुछ ऐसी चीज चाहिए थी जिससे वह कुछ देख पाए पर उसके पास न तो कोई टार्च थी न ही कोई माचिस अब कुछ भी समझ नहीं आ रहा था पवन के दाहिने हाथ की तरफ छत पर जाने का रास्ता था वह छत पर ही चला गया छत पर जाना के बाद उसे कुछ रौशनी मिली but बहुत ज्यादा उजाला नहीं था फिर भी कुछ न कुछ दिखाई  दे रहा था, छत से नीचे दिखने पर उसे कुछ अजीब सी आकृति दिखाई दी

कमरा नंबर 201 की कहानी

यह आकृति किस की है उसे कुछ भी समझ नहीं आ रहा था बहुत गोर करने पर भी नहीं दिख रहा था उसने जैसे ही एक छोटा पत्थर उसकी और फेखा पर उसे लगा ही नहीं अब तो ये मामला और पेचीदा था और समझ से बहार था, पर जब उस आकृति ने ऊपर देखा तो पवन ने सोचा की अब यहां से भागने में ही भलाई है पर जब पवन भागने लगा तो आकृति उसके सामने आ गयी और पवन बेहोश हो गया जब सुबह हुई तो सभी परिवार के सदस्य उसके पास खड़े थे और पूछ रहे थे की तुम रात को यहां क्या कर रहे थे

पत्नी की आत्मा एक कहानी 

bhoot pret real story,पवन यही सोच रहा था की सपना था या हकीकत में कोई था वह कभी नहीं जान पाया और अगले दिन वह वापिस आ गया आप भी सोच रहे होंगे की क्या था but पूरा सच तो हमे भी नहीं पता आखिर वो चीज क्या थी कभी कभी लगता है कोई है but सत्य प्रमाण के कहना थोड़ा मुश्किल ही है, 

Read More Ghost stories :-

असली भूत की कहानी

उस रात का डर

जब हुआ रूह से सामना

क्या भूत होते है

परिवार का भूत

मेरी कहानी

कब्रिस्तान का रास्ता

भूत-प्रेत की सच्ची कहानी 

तालाब का भूत एक सच्ची घटना

कोहरे की रात

किले का रहस्य

कमरे में कौन था

पेड़ का भूत एक कहानी

हवेली का प्रेत

कमरा नंबर 303

एक भटकती आत्मा

काला जादू की सच्ची कहानी

केंटीन का भूत कहानी

मेरी अपनी कहानी

खेत मैं प्रेत से सामना

लड़की का प्रेत एक कहानी

मैंने देखी जब एक छाया

चलती गुड़िया

भूतो का गांव

गली नंबर 18 की कहानी

आत्मा की कहानी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!