आज और कल की कहानी, story in hindi

story in hindi

आज और कल की कहानी

Hindi Story.jpg

Hindi Story

इस कहानी मैं हम राजा हर्ष और चाचा चौधरी के बारे मैं फिर से जानेगे. एक दिन राजा हर्ष ने ऐलान किया कि जो भी मेरे सवालों का सही जवाब देगा उसे भारी ईनाम दिया जाएगा. सवाल कुछ इस प्रकार से थे, ऐसा क्या है जो आज भी है और कल भी रहेगा. ऐसा क्या है जो आज भी नहीं है और कल भी नहीं होगा. ऐसा क्या है जो आज तो है लेकिन कल नहीं होगा. इन तीनों सवालों के उदाहरण भी देने थे.





किसी को भी चतुराई भरे इन तीनों सवालों का जवाब नहीं सूझ रहा था. तभी चाचा चौधरी बोला, हुजूर , आपके सवालों का जवाब मैं दे सकता हूं, लेकिन इसके लिए आपको मेरे साथ शहर का दौरा करना होगा. तभी आपके सवाल सही ढंग से हल हो पाएंगे. हर्ष और चाचा चौधरी ने वेश बदला और सूफियों का बाना पहनकर निकल पड़े. कुछ ही देर बाद वे बाजार में खड़े थे. फिर दोनों एक दुकान में घुस गए. चाचा चौधरी ने दुकानदार से कहा, हमें बच्चों की पढ़ाई के लिए मदरसा बनाना है, तुम हमें इसके लिए हजार रुपये दे दो.




जब दुकानदार ने अपने मुनीम से कहा कि इन्हें एक हजार रुपये दे दो तो चाचा चौधरी बोला, जब मैं तुमसे रुपये ले रहा हूंगा तो तुम्हारे सिर पर जूता मारूंगा. हर एक रुपये के पीछे एक जूता पड़ेगा. बोलो, तैयार हो. यह सुनते ही दुकानदार के नौकर का पारा चढ़ गया और वह चाचा चौधरी से दो दो हाथ करने आगे बढ़ आया. लेकिन दुकानदार ने नौकर को शांत करते हुए कहा, मैं तैयार हूँ, लेकिन मेरी एक शर्त है. मुझे विश्वास दिलाना होगा कि मेरा पैसा इसी नेक काम पर खर्च होगा.

Read More-परीक्षा का परिणाम

Read More-हिंदी कहानी विवाह

Read more-गांव में बदलाव

ऐसा कहते हुए दुकानदार ने सिर झुका दिया और चाचा चौधरी से बोला कि जूता मारना शुरू करें. तब चाचा चौधरी व हर्ष बिना कुछ कहे सुने दुकान से बाहर निकल आए. दोनों चुपचाप चले जा रहे थे कि तभी चाचा चौधरी ने मौन तोड़ा, बंदापरवर , दुकान में जो कुछ हुआ उसका मतलब है कि दुकानदार के पास आज पैसा है और उस पैसे को नेक कामों में लगाने की नीयत भी, जो उसे आने वाले कल में नाम देगी. इसका एक मतलब यह भी है कि अपने नेक कामों से वह जन्नत में अपनी जगह पक्की कर लेगा. आप इसे यूं भी कह सकते हैं कि जो कुछ उसके पास आज है, कल भी उसके साथ होगा.

Read More-सफल किसान एक कहानी

Read More-एक दूरबीन का राज

Read More-चश्में की हिंदी कहानी

यह आपके पहले सवाल का जवाब है. फिर वे चलते हुए एक भिखारी के पास पहुंचे. उन्होंने देखा कि एक आदमी उसे कुछ खाने को दे रहा है और वह खाने का सामान उस भिखारी की जरूरत से कहीं ज्यादा है. तब चाचा चौधरी उस भिखारी से बोला, हम भूखे हैं, कुछ हमें भी दे दो खाने को. यह सुनकर भिखारी बरस पड़ा, भागो यहां से. जाने कहां से आ जाते हैं मांगने. तब चाचा चौधरी राजा से बोला, यह रहा हुजूर आपके दूसरे सवाल का जवाब. यह भिखारी ईश्वर को खुश करना नहीं जानता. इसका मतलब यह है कि जो कुछ इसके पास आज है, वो कल नहीं होगा. दोनों फिर आगे बढ़ गए. उन्होंने देखा कि एक तपस्वी पेड़ के नीचे तपस्या कर रहा है. चाचा चौधरी ने पास जाकर उसके सामने कुछ पैसे रखे. तब वह तपस्वी बोला, इसे हटाओ यहां से. मेरे लिए यह बेईमानी से पाया गया पैसा है. ऐसा पैसा मुझे नहीं चाहिए.

Read More-हिंदी कहानी एक सच

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-साधू और गिलहरी की कहानी

अब चाचा चौधरी बोला, हुजूर , इसका मतलब यह हुआ कि अभी तो नहीं है लेकिन बाद में हो सकता है. आज यह तपस्वी सभी सुखों को नकार रहा है. लेकिन कल यही सब सुख इसके पास होंगे. और हुजूर , चौथी मिसाल आप खुद हैं. पिछले जन्म में आपने शुभ कर्म किए थे जो यह जीवन आप शानो शौकत के साथ बिता रहे हैं, किसी चीज की कोई कमी नहीं. यदि आपने इसी तरह ईमानदारी और न्यायप्रियता से राज करना जारी रखा तो कोई कारण नहीं कि यह सब कुछ कल भी आपके पास न हो. लेकिन यह न भूलें कि यदि आप राह भटक गए तो कुछ साथ नहीं रहेगा. अपने सवालों के बुद्धिमत्तापूर्ण चतुराई भरे जवाब सुनकर राजा हर्ष बेहद खुश हुए. इस बार भी चाचा चौधरी ने बहुत ही कमाल कर दिया.

Read More-दानवीर सुखदेव सिंह की कहानियां

Read More-गुलाब के फूल की कहानी

Read More-व्यापारी के अहंकार की कहानी

Read More-सच्चे मन की प्रार्थना की कहानी

Read More-राजा और मंत्री की कहानी 

Read More-एक छोटी सी मदद की कहानी

Read More-मूर्खो से बचे एक कहानी

Read More-व्यापारी के अहंकार की कहानी

Read More-सच्चे मन की प्रार्थना की कहानी

Read More-इंसान और क्रोध की कहानी

Read More-एक नाटक से सीख

Read More-जादुई बक्सा हिंदी कथा

Read More-समय का महत्व

Read More-एक किसान की कहानी

Read More-पशु की भाषा हिंदी कहानी

Read More-जीवन की सीख एक कहानी

Read More-उस पल की कहानी

Read More-एक महाराजा की कहानी

Read More-वो सोता और खाता था हिंदी कहानी

Read More-मंगू और दूसरी पत्नी की कहानी

Read More-सोच की कहानी

Read More-एक शादी की कहानी

Read More-छोटा सा गांव हिंदी कहानी

Read More-एक बोतल दूध की कहानी

Read More-सुबह की हिंदी कहानी

Read More-जादुई लड़के की हिंदी कहानी

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-आईने की हिंदी कहानी

Read More-जादुई कटोरा की कहानी

Read More-एक चोर की हिंदी कहानी

Read More-जीवन की सच्ची कहानी

Read More-छज्जू की प्रतियोगिता

Read More-जब उस पार्क में गए

Read More-असली दोस्ती क्या है

Read More-एक अच्छी छोटी कहानी

Read More-गुफा का सच

Read More-बाबा का शाप हिंदी कहानी

Read More-यादगार सफर

Read More-सब की खातिर एक कहानी

Read More-जादू का किला    

Read More-मेरे जीवन की कहानी

Read More-आखिर क्यों एक कहानी

Read More-मेरा बेटा हिंदी कहानी

Read More-दूल्हा बिकता है एक कहानी

Read More-जादूगर की हिंदी कहानी

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी

Read More-हीरे का व्यापारी

Read More-पंडित के सपने की कहानी

Read More-बिना सोचे विचारे

Read More-जादू की अंगूठी

Read More-गमले वाली बूढ़ी औरत

Read More-छोटी सी बात हिंदी कहानी

Read More-समय जरूर बदलेगा

Read More-सोच का फल कहानी

Read More-निराली पोशाक

Read More-पेड़ और झाड़ी

Read More-राजा और चोर की कहानी

Read More-पत्नी का कहना

Read More-एक किसान

Read More-रेल का डिब्बा

Read More-छोटी सी मदद

Read More-दिल को छूने वाली कहानी

Read More-गुस्सा क्यों

Read More-राजा की सोच कहानी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!