सोच का फल कहानी, one moral story in hindi

one moral story in hindi

moral story.jpg

one moral story in hindi

सोच का फल कहानी

one moral story in hindi, एक बार एक राजा युद्ध करके अपने नगर को लौट रहा था जब राजा नगर को लौट रहा था तो उसके कुछ सैनिक वहीं पर मारे गए इसलिए राजा अकेला ही रह गया था राजा बहुत ही परेशान और थका हुआ था राजा जैसे ही अपने नगर में प्रवेश करने वाला था तो उस रास्ते में एक खेत पड़ता था




 जिस पर एक किसान काम कर रहा था राजा उसके पास गया और कहने लगा कि मुझे भूख लगी है क्या तुम्हारे पास कुछ खाने को है किसान राजा को नहीं पहचान पाया और राजा भी मैं किसान को यह भी नहीं बताया कि मैं भी इसी नगर का राजा हूं




किसान ने उसे एक दुखी और परेशान आदमी समझ कर उसके भोजन के लिए अपने बाग से आम की व्यवस्था की जब राजा ने आम खाए तो उसे बहुत ही आनंद आ गया और सोचने लगा कि यह तो बहुत ही मीठे हैं आम है किसान बड़ी मेहनत करके अपना खेत में अच्छी फसल उगा पाता है

Read More-बाबा की सीख

Read More-ढोंगी पंडित की कहानी 

Read More-बेवकूफ दोस्त की कहानी

फिर राजा ने किसान से कहा कि क्या तुम्हारे राजा लगान लेते हैं इस पर किसान ने कहा वह लगान लेते हैं बहुत ही थोड़ा लगान लेते हैं राजा ने सोचा कि हमें इसका खेत और बाकी खेतों का भी लगान बढ़ा देना चाहिए क्योंकि अगर लगान हमें मिलेगा

Read More-बाबा की सीख

Read More-ढोंगी पंडित की कहानी 

Read More-बेवकूफ दोस्त की कहानी

तो इससे राज्य की व्यवस्था और भी सुधर जाएगी और यही सोचते सोचते राजा आराम करने लगा और वह सो गया जब राजा उठा तो उसे लगा कि थोड़ी सी भूख उसे  लगी है इस पर उस किसान से कहा कि क्या तुम मुझे थोड़े से आम और लाकर दे सकते हो

Read More-सेब का फल हिंदी कहानी

Read More-साधू की पद यात्रा

Read More- धनवान आदमी हिंदी कहानी 

किसान आम लेने चला गया जब किसान आम लेकर वापस आया तो राजा ने जैसी आम को चखा तो आम थोड़े से खट्टे थे राजा ने कहा कि जब पहले आप आम लेकर आए थे तो वह बड़े मीठे थे और अब भी हैं आम खट्टे क्यों हो गए हैं

Read More-ज्ञान का भंडार

Read More-बिना सोचे विचारे

Read More-राजा और लेखक

किसान ने कहा कि जब हम कोई भी फल खाते हैं तो हम उस फल को जिस विचारधारा से खाते हैं वह हमें वैसा ही लगता है राजा को अपनी बात समझ में आ गई कि किसानों से कर लेना भी परेशानी अगर हम इन्हें से कर लेते हैं तो इन्हें भी परेशानी होती होगी

Read More Hindi Story

one moral story in hindi, इसलिए जब मैंने पहले सोचा था तो आम मीठा था जबकि मेरे सोचने में अब विभिन्नता आ गई है इसी वजह से मुझे आम खट्टे लग रहे हैं और राजा को अपनी गलती का एहसास हो गया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!