गांव में बदलाव, story in hindi

story in hindi

गांव में बदलाव

hindi story.jpg

story in hindi

story in hindi, दो दोस्त बहुत ही अच्छे से एक साथ रहते थे एक दिन दोनों बात कर रहे थे की हमारे गांव का कुछ भी विकास नहीं हो रहा है न ही यहां पर पीने का अच्छा पानी है और न ही यहां पर अच्छी सड़के है सब कुछ बस ऐसे ही चल रहा है हमे कुछ सोचना चाहिए अपने गांव के बारे में जिससे यहां पर सब कुछ अच्छा हो जाए





उन दोनों में से एक दोस्त पढ़ने के लिए शहर चला गया और दूसरा वही पर खेती कर रहा था जो दोस्त पढ़ने के लिए गया था उसका नाम था विनीश और खेती करने वाले का नाम सुनोज था सुनोज का व्यवहार बहुत अच्छा था और वह सबकी मदद भी करता था





विनीश के मन में हमेशा अपने गांव की तरक्की की बात चलती थी जिससे की उसका गांव बहुत ही अच्छा बन जाए जहा पर हर सुविधा हो और किसी को भी बहार न जाना पड़े इन दोनो दोस्तों के गांव में ऐसा क्यों नहीं हो रहा था इसका कारण था गांव का प्रधान जो कुछ भी नहीं करना चाहता था

Read More-बिना सोचे विचारे

Read More-विश्वास की कहानी

गांव प्रधान बस यही सोचा करता था जो चल रहा है वो अच्छा चल रहा है अगर यह पर सब कुछ हो जाएगा तो उसकी पूछ कम हो जायेगी इसलिए वह पर कुछ नहीं था एक दिन विनीश शहर से बहुत अच्छा पढ़कर वापिस आया और अपने दोस्त से मिला.   

Read More-चमत्कारी तेल

Read More-राजा की मनमानी

विनीश ने कहा की मेने पढ़ाई तो पूरी कर ली अब हमे गांव में विकास का काम शुरू कर देना चाहिए अगर में किसी और जगह काम करता भी हु तो उससे मेरे गांव का विकास नहीं होगा सुनोज को लेकर विनीश दो दिन तक पुरे गांव में घूमा और पता लगया की कहा से शुरुवात करनी चाहिए

Read More-जीवन का सच

Read More-भोला का गांव हिंदी कहानी

विनीश ने कहा की हमे सबसे पहले यहां पर दूध की डेरी खोलनी चाहिए सभी को दूध की जरूरत है और जब सब दूध पियेंगे तो उनका दिमाग भी अच्छा चलेगा दोनों दोस्तों ने दूध की डेरी खोल ली और कुछ लोगो को उसमे काम भी दिया अब यह बात प्रधान तक पहुंच गयी की कुछ लोग उसका काम छोड़कर दूसरे काम में लग गए है

Read More-मन की आवाज

Read More-गमले वाली बूढ़ी औरत

इससे प्रधान पर मुसीबत आ सकती है इसलिए उसने अपने कुछ आदमी भेजे जिससे उनका काम रुक जाए पर सुनोज और विनीश ने उन्हें वह से भगा दिया और अपने काम को करते रहे विनीश ने सड़को का भी काम करवाया और साड़ी सुविधा उस गांव में धीरे धीरे आने लगी

Read More-हीरे का व्यापारी

Read More-सोच का फल कहानी

और कुछ ही सालों में वह गांव तरक्की पर चल पड़ा अब लोगो को दवाई लाने के लिए मिलो नहीं जाना पड़ता था और पानी की भी व्यवस्था हो गयी जिस गांव में कुछ भी नहीं था आज वह पर सबकुछ है और साड़ी सुविधा भी है

Read More-पेड़ और झाड़ी

Read More-निराली पोशाक

story in hindi, दोस्तों कौन कहता है की बदलाव एक आदमी नहीं ला सकता अगर ऐसा है तो उस गांव में सुविधा कैसे आ गयी हम सिर्फ सोचते है की बदलाव एक से नहीं आता है बल्कि बदलाव लाने के लिए सिर्फ एक आदमी ही काफी है बस  अपनी-अपनी सोच का फर्क है तुम जो चाहो वो कर सकते हो अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आगे भी शेयर करे और हमे भी बताये

Read More-राजा और चोर की कहानी

Read More-पत्नी का कहना

Read More-सच्चा भक्त

Read More-तलाक का एक किस्सा

Read More-एक किसान

Read More-रेल का डिब्बा

Read More-छोटी सी मदद

Read More-दिल को छूने वाली कहानी

Read More-गुस्सा क्यों

Read More-राजा की सोच कहानी

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी

Read More-हिंदी कहानी एक सच

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-हिंदी कहानी विवाह

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!