पेड़ और झाड़ी, new moral stories in hindi

new moral stories in hindi

moral stories.jpg

new moral stories in hindi

पेड़ और झाड़ी की कहानी 

new moral stories in hindi, hindi story, एक जंगल था उसमें एक बहुत बड़ा पेड़ था और उसी के पास कांटे वाले झाड़ियां थी पेड़ हमेशा अपने ऊपर घमंड करता था कि देखो मैं कितना बड़ा हूं मैं, मेरे पास लोग आते हैं मेरे फल खाते हैं और मेरी नीचे बैठकर छाया लेते हैं




तुम्हारे पास तो कोई आता भी नहीं है ना ही तुम्हारे से कोई लेता है झाड़ी ने कहा कोई बात नहीं कुछ लोग पेड़ के पास आये  पेड़  बहुत खुश हो रहा था कि देखो यह मेरे पास बैठेंगे यह मेरे फल खाएंगे पर वो लोग तो पेड़ की जड़ को  कारी से काटने लग गए




पेड़ ने कहा तुम मेरे ही फल खाते थे और मेरे ही छांव में घंटों बैठ बैठते थे और फिर तुम आज मुझे क्यों काट रहे हो उन आदमियों ने कहा कि हमें लकड़ी की जरूरत है इसीलिए हम तुम्हें काट रहे हैं यह सुनकर झाड़ी हंस पड़ी और बोली देखो तुम्हें अपने आप पर कितना घमंड था

पर तुम थोड़ी ही देर में कट जाओगे मुझे देखो कोई मेरे पास नहीं आता लेकिन मैं हमेशा यहीं रहती हूं ना तो कोई मुझसे कुछ लेता है और ना ही देता है अपने आप को जितना बड़ा समझते थे आज तुम उतनी ही छोटे हो जाओगे और इस जंगल से चले जाओगे

Read More-Hindi Story

new moral stories in hindi, hindi story, यह सुनकर पेड़ को अपनी गलती का एहसास हुआ और वह झड़ी से माफी मांगने लगा कोई छोटा बड़ा नहीं होता सब अपने अपने गुणों से छोटे बड़े होते हैं.

Related Posts:-

Read More-ज्ञान का भंडार

Read More-बिना सोचे विचारे

Read More-राजा और लेखक

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!