दर्जी का तोता पंचतंत्र की कहानी, hindi story

hindi story

दर्जी का तोता पंचतंत्र की कहानी

hindi story.jpg

hindi story

panchtantra story in hindi, एक नगर में एक दर्जी रहता था पूरे नगर के कपड़े वही दर्जी सीला करता था क्योंकि वहां पर और कोई भी दर्जी की दुकान नहीं थी दर्जी की दुकान बहुत अच्छी चल रही थी दर्जी के पास एक तोता था जोकि उसी के पास ही हमेशा रहता था और धीरे-धीरे दर्जी की आवाज की नकल भी करता था.





जब दर्जी नहीं होता था तो उस वक्त तोता दर्जी की ही बातें करता रहता था एक आदमी दर्जी की दुकान पर आया और उसने दर्जी से पूछा कि मेरे कपड़े जो मैंने तुम्हें दिए थे क्या तुमने वह सिल दिए हैं दर्जी ने कहा कि इसमें अभी 1 दिन का काम और बाकी है ऐसा करना कि तुम कल आकर अपने कपड़े ले जाना




तोता हमेशा उन सभी लोगों की बातें सुनता रहता था दर्जी में हमेशा यह कमी थी कि वह हर ग्राहक की नकल करता रहता था और जो भी ग्राहक उसे पसंद नहीं आता था वह उसके जाने के बाद नकल जरूर करता था जैसी नकल दर्जी करता था वैसे ही तोता सीख लेता था अगले दिन वह आदमी अपने कपड़े लेने के लिए आया है

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

लेकिन दर्जी किसी काम से अपने घर पर गया हुआ था और दुकान पर सिर्फ तोता ही था उस ग्राहक ने कहा कि दर्जी यहीं पर है या कहीं  गया हुआ है ग्राहक की कुछ समझ में नहीं आया और वह थोड़ी देर दुकान के पास ही खड़ा रहा उधर से तोता बोला कि तुम बड़े ही मोटे दिखते हो और बहुत ही भद्दे देखते हो

Read More-एक बोतल दूध की कहानी

ग्राहक कोई अपने बारे में यह बात सुनकर अच्छा नहीं लगा और उसने तोते से पूछा कि तुम्हें यह कैसे पता कि मैं मोटा हूं और भद्दा दिखता हूं तोते ने कोई जवाब नहीं दिया और चुप हो गया अब ग्राहक की समझ में आ गया था कि यह काम सिर्फ दर्जी का ही है जब दर्जी ने कहा होगा तभी इस तोते ने सुना है तभी मुझे यह बात कही है

Read More-एक शादी की कहानी

Read More-समझदार गधे की कहानी

panchtantra story in hindi, कुछ देर बाद दर्जी वापस आया और उसके बाद उस ग्राहक ने उस दर्जी की पिटाई कर दी और कहा कि आगे से अगर मुझे मोटा कहा है तो तुम्हारी और भी पिटाई हो जायेगी  दर्जी सोचने लगा कि उसे कैसे पता कि मैंने उसे मोटा कहा था तब उसके दिमाग में बात आएगी है काम तोते का है तोते ने ही जरूर आदमी के सामने मेरी बुराई करी होगी अब वह इस तोते से परेशान हो गया था इसलिए वह अपने तोते को घर पर ले गया और उसे घर पर ही रखने लगा उसके बाद उसने कभी भी तो होता अपनी दुकान पर लेकर नहीं आया इसलिए दोस्तों कहते हैं कि कभी भी किसी के भी सामने किसी भी आदमी की तुम्हें बुराई नहीं करनी चाहिए क्योंकि पता नहीं किस वक्त वह आदमी आपकी बुराई दूसरों के सामने कर दे अगर आपको कहानी पसंद आई है तो आगे भी शेयर करें और कमेंट करके हमें भी बताये.

Read More-विश्वास की कहानी

Read More-सफल किसान एक कहानी

Read More-एक दूरबीन का राज

Read More-एक अच्छी छोटी कहानी

Read More-सब की खातिर एक कहानी

Read More-जादू का किला    

Read More-मेरे जीवन की कहानी

Read More-आखिर क्यों एक कहानी

Read More-मेरा बेटा हिंदी कहानी

Read More-दूल्हा बिकता है एक कहानी

Read More-जादूगर की हिंदी कहानी

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी

Read More-हीरे का व्यापारी

Read More-पंडित के सपने की कहानी

Read More-बिना सोचे विचारे

Read More-जादू की अंगूठी

Read More-गमले वाली बूढ़ी औरत

Read More-छोटी सी बात हिंदी कहानी

Read More-समय जरूर बदलेगा

Read More-सोच का फल कहानी

Read More-निराली पोशाक

Read More-पेड़ और झाड़ी

Read More-राजा और चोर की कहानी

Read More-पत्नी का कहना

Read More-एक किसान

Read More-रेल का डिब्बा

Read More-छोटी सी मदद

Read More-दिल को छूने वाली कहानी

Read More-गुस्सा क्यों

Read More-राजा की सोच कहानी

Read More-हिंदी कहानी एक सच

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-हिंदी कहानी विवाह

Read more-गांव में बदलाव

Read More-चश्में की हिंदी कहानी

Read More-परीक्षा का परिणाम

Leave a Reply

error: Content is protected !!