भविष्य की चिंता ना करे, story in hindi

story in hindi

भविष्य की चिंता ना करे

hindi story.jpg
story in hindi

इस कहानी मैं आपको भविष्य और वर्तमान की काहनी के बारे मैं बतायेगे. क्योकि हमे सदा ही इस बात का ध्यान रखना चाहिए , की हमे हमेशा ही वर्तमान मैं जीना चाहिए ना की भविष्य मैं. क्योकि भविष्य कोई नहीं देख सकता. बल्कि आपका वर्तमान सदा ही आपके साथ ही चलता रहता है.

एक बार एक देश के राजा डेनिश ने सुलेमान को बुलाया और उस से पूछा कि सुलेमान तुम्हारे बारे में मैंने बहुत सुना है कि तुम बहुत चालक हो और बुद्दिमान भी इसलिए क्या तुम एक काम कर सकते हो जो मैं तुमसे कहने वाला हूँ. इस पर सुलेमान ने कहा मैं कुछ भी कर सकता हूँ बस आप एक बार आज्ञा दे.

इस पर राजा डेनिश ने कहा क्या तुम अपने इस प्रिय बकरी को पढना सिखा सकते हो इस पर सुलेमान ने कहा हाँ क्यों नहीं मैं इसे आराम से सिखा सकता हूँ. इस पर राजा डेनिश ने कहा ‘बकवास मत करो ‘ क्या गारंटी है तुम ऐसा कर सकते हो . सुलेमान ने जवाब दिया कि एक काम कीजिये आप मुझे एक लाख स्वर्ण मुद्राएँ दीजिये. उसके बाद मैं गारंटी लेता हूँ कि 10 साल के अंदर मैं इस बकरी को पढना सिखा सकता हूँ.

Read More-राजा और मंत्री की कहानी 

Read More-एक छोटी सी मदद की कहानी

इस पर राजा डेनिश ने कहा अगर तुम ऐसा कर पाने में सफल नहीं होते हो तो मैं तुम्हे जेल में डाल दूंगा. सुलेमान ने हामी भर ली और वंहा से चला गया. घर आने के बाद सुलेमान से उसके एक दोस्त ने कहा, सुलेमान तुमने ये क्या किया. सब जानते है तुम ऐसा नहीं कर सकते फिर भी तुमने राजा डेनिश को यह वचन दे दिया है, क्या तुम्हे जेल जाने से डर नहीं लगता सुलेमान ने सहज भाव से उत्तर दिया.

Read More-एक नाटक से सीख

Read More-जादुई बक्सा हिंदी कथा

तुम इतना ज्यादा मत सोचो क्योंकि 10 साल में तो या तो हमारा राजा डेनिश नहीं रहेगा और हो सकता है. मेरा गधा भी तब तक नहीं रहे लेकिन फिर भी अगर ऐसा होता है कि 9 साल तक दोनों में से कोई भी नहीं जाता तो मेरे पास पूरा एक साल है कि मैं सोच सकता हूँ राजा डेनिश की सज़ा से कैसे बचा जा सकता है. राजा और सुलेमान की ये कहानी एक मजाक नहीं है , बल्कि हमे एक उपदेश देती है. की हमे सदा ही वर्तमान मैं ही जीना चाहिए ना की भविष्य मैं.

Read More-महात्मा और शेर की कहानी

Read More-गुलाब के फूल की कहानी

Read More-महात्मा बुद्ध और भिखारी की कहानी

Read More-समय का महत्व

Read More-एक किसान की कहानी

Read More-पशु की भाषा हिंदी कहानी

Read More-उस पल की कहानी

Read More-एक महाराजा की कहानी

Read More-वो सोता और खाता था हिंदी कहानी

Read More-मंगू और दूसरी पत्नी की कहानी

Read More-सोच की कहानी

Read More-एक शादी की कहानी

Read More-छोटा सा गांव हिंदी कहानी

Read More-एक बोतल दूध की कहानी

Read More-सुबह की हिंदी कहानी

Read More-जादुई लड़के की हिंदी कहानी

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-आईने की हिंदी कहानी

Read More-जादुई कटोरा की कहानी

Read More-एक चोर की हिंदी कहानी

Read More-जीवन की सच्ची कहानी

Read More-छज्जू की प्रतियोगिता

Read More-जब उस पार्क में गए

Read More-असली दोस्ती क्या है

Read More-एक अच्छी छोटी कहानी

Read More-गुफा का सच

Read More-बाबा का शाप हिंदी कहानी

Read More-यादगार सफर

Read More-सब की खातिर एक कहानी

Read More-जादू का किला    

Read More-मेरे जीवन की कहानी

Read More-आखिर क्यों एक कहानी

Read More-मेरा बेटा हिंदी कहानी

Read More-दूल्हा बिकता है एक कहानी

Read More-जादूगर की हिंदी कहानी

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी

Read More-हीरे का व्यापारी

Read More-पंडित के सपने की कहानी

Read More-बिना सोचे विचारे

Read More-जादू की अंगूठी

Read More-गमले वाली बूढ़ी औरत

Read More-छोटी सी बात हिंदी कहानी

Read More-समय जरूर बदलेगा

Read More-सोच का फल कहानी

Read More-निराली पोशाक

Read More-पेड़ और झाड़ी

Read More-राजा और चोर की कहानी

Read More-पत्नी का कहना

Read More-एक किसान

Read More-रेल का डिब्बा

Read More-छोटी सी मदद

Read More-दिल को छूने वाली कहानी

Read More-गुस्सा क्यों

Read More-राजा की सोच कहानी

Read More-हिंदी कहानी एक सच

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-हिंदी कहानी विवाह

Read more-गांव में बदलाव

Read More-चश्में की हिंदी कहानी

Read More-परीक्षा का परिणाम

Read More-सफल किसान एक कहानी

Read More-एक दूरबीन का राज

1 thought on “भविष्य की चिंता ना करे, story in hindi”

  1. Ankur Rathi

    Yah kahani hme bahuth kuch sikhaati hai

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!