अलग हुए दो गांव की कहानी, kahani

kahani

अलग हुए दो गांव की कहानी, kahani, यह कहानी दो गांव की है जो कैसे अलग हुए थे यह सब कुछ हम अपनी कहानी में आगे पढ़ेंगे, यह कहानी आपको पसंद आएगी,

अलग हुए दो गांव की कहानी : kahani 

kahani.jpg

kahani

दोनों गांव आमने सामने थे, मगर कोई भी गांव का आदमी दूसरे गांव में जाना पसंद नहीं करता था ऐसा पता नहीं क्या हुआ था कोई भी आदमी नहीं जाना चाहता था, उस गांव के सभी लोग अच्छे थे मगर कोई भी आदमी क्यों नहीं जाना चाहता था, यह बात गांव के बहुत पुराने आदमी जानते थे, मगर कोई भी इस समस्या को दूर नहीं करना चाहता था उनका यही कहना था की जो हो रहा है ठीक हो रहा है अगर ऐसा ही होना था तो हम क्या कर सकते है,

 

ऐसी के साथ ही गांव के बीच में एक ही स्कूल था, उस स्कूल में कोई भी पढ़ सकता था, ऐसा कुछ भी नहीं था की गांव अलग है तो गांव के स्कूल भी अलग होंगे, स्कूल एक ही था, जैसा की गांव में लोग एक दूसरे से बात करना पसंद नहीं करते थे, ऐसा स्कूल के अंदर नहीं था क्योकि स्कूल का नियम था की गांव का कोई भी नियम यहां पर नहीं चलने वाला है, यहां पर कोई भी इस बात को लेकर बात नहीं करेगा, अगर ऐसा हुआ तो उसे स्कूल छोड़ना होगा,

 

इसलिए ऐसा नहीं हो सकता था, कोई भी स्कूल के अंदर ऐसा व्यवहार नहीं करेगा, इसलिए यह बात सभी को पता था, मगर यह कोई भी नहीं जनता था की बात क्या हुई थी क्योकि यह बात कुछ ही लोग जानते थे इसलिए सभी को यह पता नहीं था की इसका मुख्य कारण क्या है, मगर कोई भी जानना नहीं चाहता था, शायद यह बात साल से ऐसा ही देख रहे है तो कोई भी इस बात की चिंता नहीं करता है क्योकि किसी को भी इस बात से मतलब नहीं है. मगर एक गांव में रहने वाला लड़का जोकि पढ़ाई में बहुत होशियार है और वह नहीं चाहता है की कोई भी ऐसी बात जोकि गांव को अलग रखती है,

Read More-बोझ की कहानी

Read More-जीवन में ख़ुशी का उपयोग कहानी

Read More-दूर तक फैला गांव एक कहानी

Read More-नयी यादों के पल कहानी

यहां पर नहीं होनी चाहिए, वह लड़का एक दिन टीचर से इस बात को पूछा रहा था मगर टीचर भी शायद इस बारे में नहीं जानते थे, क्योकि इस बात को बहुत साल भी हो गए थे, शायद ही कोई आदमी इस बारे में बता सकता है मगर उसे खोजना होगा, तभी इस बात का सही पता चल पायेगा, उस लड़के को आज कुछ भी पता नहीं चल पाया था, मगर वह अपनी पूरी कोशिश कर रहा था जबकि उसके दोस्त यही कह रहे थे की हमे इस बारे में नहीं सोचना चाहिए, तुम्हे अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना होगा,

 

अगर हम सभी यह बात सोचते है तो हमे अपनी पढ़ाई का नुक्सान उठाना होगा, मगर कुछ भी लड़के को यही लगता था की हमे जरूर पता करना होगा, वह यह बात नहीं मान रहा था उसे तो उस बात का पता लगाना था, और वह अपनी पूरी कोशिश कर रहा था, जब तक वह बात का पता नहीं कर पाता है तब तक शायद उसे कुछ भी अच्छा नहीं लगेगा, तभी वह प्रिंसिपल से मिलने चला गया था जब वह प्रिंसिपल के पास गया तो उन्होंने ने यही कहा की तुम्हे ध्यान नहीं देना चाहिए, तुम्हे अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना होगा, यह बाते बेकार की है, 

Read More-समय-समय की हिंदी कहानी

Read More-यकीन नहीं होता हिंदी कहानी

Read More-एक गांव का पेड़ कहानी

Read More-समय का इंतज़ार हिंदी कहानी  

उसके बाद लड़के ने प्रिंसिपल से पूछा की आप यह नहीं चाहते है की यह दोनों गांव एक साथ हो जाये तो कितना अच्छा होगा, मगर प्रिंसिपल ने यही कहा की हमारे चाहने से कुछ भी नहीं होगा, सबसे पहली बात तो यही है की हमे तो यह भी नहीं पता है की बात क्या हुई थी यह दोनों गांव अलग कैसे हुए थे, शायद यह प्रिंसिपल को भी नहीं पता था, क्योकि इस बात को बहुत साला बीत गए थे, कोई भी नहीं जनता था, जब बात ही पता नहीं है तो क्या किया जा सकता है

 

सबसे पहले उस वजह को खोजना होगा जिससे यह सब कुछ हुआ था, जब तक वह वजह नहीं मिलती है तब तक कुछ भी नहीं कहा जा सकता था, वजह मिलने के बाद ही कुछ हो सकता था, मगर कैसे पता करे की लया हुआ था लड़के ने बहुत कोशिश भी की थी, मगर कुछ भी पता नहीं चल रहा था, यह सब कैसे पता किया जा सकता था उसने अपने गांव से ही पहली शरुवात की थी, क्योकि शायद यहां पर वह आदमी मिल जाये जिससे पता किया जा सकता था, बहुत लोगो से बात की थी, मगर उसे अभी तक कोई नहीं मिला था,

Read More-हार की जीत की कहानी

Read More-प्रेरक हिंदी कथा

Read More-कुछ तो है एक कहानी

क्योकि जो भी यह बात बता सकता था वह बहुत ही पुराना आदमी होना चाहिए था, क्योकि वही सब कुछ बता सकता था, कुछ लोग यही कहते थे की तुम्हे इस बात से कोई भी मतलब नहीं होना चाहिए क्योकि यह क्यों हुआ था इसे जानकार भी कुछ नहीं होगा बहुत से लोग तो भूल ही गए है, मगर जब पूरी कोशिश की जाये तो शायद पता चल भी सकता है, एक बहुत बूढ़े आदमी उसे मिल गए थे जो उसे बता सकते थे, क्योकि उन्हें भी उनके पिताजी ने इस बारे में बताया था की उस दिन क्या हुआ था, 

Read More-अनोखा सफर एक कहानी

Read More-पापा के प्यार की कहानी

Read More-विवाह की अनोखी कहानियां

Read More-जिंदगी में बदलाव कहानी

वह बूढ़े आदमी बता रहा था की यह बात बहुत साल पहले की है, यह गांव साथ में रहता था, सभी लोग आपस में ख़ुशी से रहते थे, यह सब कुछ शायद उस सेठ की वजह से हुआ था जिसने आधा गांव अपनी और कर रखा था, इसका एक कारण यह भी था की उसने सभी को धन भी दिया था जिससे उसकी बात को सभी लोग मान सके, जा उस सेठ ने पूरा गांव की अपनी और करना चाहा तो गांव में इस बात को लेककर काफी परेशानी भी होने लगी थी, कुछ समस्य बाद ही यह एक गांव अलग हो गया था,

Read More-एक मूर्ति की हिंदी कहानी

Read More-एक सुनहरा पल कहानी

Read More-कुछ बातों का जीवन कहानी

Read More-रौशनी कहा से आ रही है कहानी

सेठ को चाहने वाले दूसरी और चले गए थे और बाकी एक और रह गए थे बात कुछ भी नहीं थी मगर गांव अलग हो गया था, उसके बाद कोई भी एक दूसरे के गांव में जाना पसंद नहीं करता था, उसके बाद किसी ने भी कोई कोशिश नहीं की थी, जिससे गांव फिर से एक हो सके, अब उस लड़के को बात समझ आ गयी थी की गांव कैसे अलग हो गया था, मगर इन्हे एक करना आसान नहीं था, क्योकि आधे लोग भूल चुके है की उन्हें कभी साथ भी रहना है,

अलग हुए दो गांव की कहानी, kahani, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आप इसे शेयर कर सकते है, 

Read More Hindi Story :-

Read More-जीवन की अच्छी बातें कहानी

Read More-उसने आखिर पूछ लिया कहानी

Read More-जिंदगी में नया मोड़ कहानी

Read More-सही मार्ग कौनसा है हिंदी कहानी

Read More-भक्त की हिंदी कहानी

Read More-एक समस्या की कहानी

Read More-आज भी बीत जाएगा कहानी

Read More-नया जमाना हिंदी कहानियाँ

Read More-कोहरे का सफर कहानी

Read More-किसान और बेटे की हिंदी कहानी

Read More-सही मार्ग कौनसा है हिंदी कहानी

Read More-बात की गहराई कहानी

Read More-मन क्यों शांत नहीं है कहानी

Read More-अनसुलझी एक कहानी

Read More-मंजिल दूर नहीं हिंदी कहानी

Read More-उगते सूरज की कहानी

Read More-एक हिंदी नाटक कहानी

Read More-राजमहल में चोर हिंदी कहानी

Read More-मिठाईवाले की कहानी

Read More-एक आरज़ू की कहानी

Read More-बांसुरी की धुन एक लघु कहानी

Read More-एक कहानी ऐसी भी

Read More-भगवान् की भक्ति

Read More-एक कलाकार की कहानी

Read More-मेरी नयी हिंदी कहानी

Read More-कुछ भी हो सकता है कहानी

Read More-मै नहीं मानता हिंदी कहानी

Read More-उस दिन की हिंदी कहानी

Read More-चलते-चलते हिंदी कहानी

Read More-अधूरी बात की कहानी

Read More-ज्योतिष की कहानी

Read More-लकीर का फकीर हिंदी कहानी

Read More-जब वक़्त मिले हिंदी कहानी

Read More-दादा जी की बातें हिंदी कहानी

Read More-सोने के सिक्के की कहानी

Read More-अच्छी मुलाकात की कहानी

Read More-जरूर सोचिये हिंदी कहानी

Read More-बढ़ई की नयी सीख कहानी

Read More-समय का सही उपयोग कहानी

Read More-अनोखी भाषा की हिंदी कहानी

Read More-आज का दिन हिंदी कहानी

Read More-कुछ भी नहीं है एक कहानी

Read More-ये दूरियां हिंदी कहानी

Read More-कल क्या होगा कहानी

Read More-मन की जीत एक कहानी

Read More-बरसात के दिन आये कहानी

Read More-आप क्या करते हो हिंदी कहानी

Read More-बदलते विचार की हिंदी कहानी

Read More-एक कहानी सोचना जरुरी है

Read More-सुखमय जीवन की कहानी

Read More-जीवन की सफलता की कहानियां

Read More-सही दिशा में सपनों की कहानी

Read More-अकेले ही चलते रहे हिंदी कहानी

Read More-एक सच्चे दोस्त की कहानी

Read More-उड़ती हुई रेत की कहानी

Read More-कला का ज्ञान हिंदी कहानी

Read More-मेहनत बेकार नहीं जाती कहानी

Read More-जीवन में कामयाबी की कहानी

Read More-सीखने की कला हिंदी कहानी

Read More-यादगार पल की हिंदी कहानी

Read More-परेशानियों का सामना हिंदी कहानी

Read More-विचित्र हिंदी कहानियां

Read More-सब-कुछ संभव है कहानी

Read More-आप कैसे हो एक कहानी

Read More-पहाड़ी की दूरिया हिंदी कहानी

Read More-कबीले के पास की गुफा हिंदी कहानी

Read More-जीवन के सही मूल्यों की कहानी

Read More-अनोखी दास्तान की कहानी

Read More-गांव पर शेर का हमला कहानी

Read More-मन की शांति की कहानी

Read More-काबिल इंसान की कहानी

Read More-राजकुमारी और तितली की कहानी

Read More-सेवा का सही मूल्य हिंदी कहानी

Read More-राजा और चोर की कहानी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!