ऊंट और सियार की कहानी, hindi bal story

hindi bal story

hindi story.jpg

hindi bal story

 ऊंट और सियार की कहानी 

hindi bal story, kahani kids, एक जंगल में ऊंट और सियार दोनों रहते थे दोनों में अच्छे दोस्ती थी दोनों एक दूसरे से खूब बातें करते थे जंगल में एक नदी थी नदी के उस पार एक तरबूज का खेत था सोनू नदी को पार करके तरबूज खाने जाते थे.




 नदी में पानी ज्यादा था इसीलिए ऊंट सियार को अपनी पीठ पर बिठाकर नदी पार करता था सियार को एक आदत थी वह कुछ भी खाने के बाद उसे पचाने के लिए जोर जोर से आवाजें करता था इसलिए ऊंट उसे हमेशा कहता था कि तुम खेत में ही जोर जोर से आवाज मत करना नहीं तो खेत का मालिक जाग जाएगा और हम दोनों की पिटाई होगी.




एक दिन दोनों तरबूज खाने के लिए गए सियार ने बहुत ज्यादा खा लिए और कहने लगा अब तो मैं इन्हें पचाने के लिए जोर जोर से आवाज करूंगा ऊंट ने कहा नहीं खेत का मालिक जाग जाएगा और बहुत पिटाई करेगा

 

क्योंकि तुम तो तेज भाग जाओगे पर  मैं तो तेज नहीं भाग सकता यार ऊंट ने बात नहीं सुनी और तरबूज खाने के बाद जोर जोर से आवाज करने लगा आवाज सुनकर खेत का मालिक आ गया सियार तो भाग गया पर ऊंट की बहुत पिटाई हुई

 

 सियार नदी के पास पहुंच गया और उसका इंतजार करने लगा बेचारा ऊंट धीरे नदी के पास पहुंचा सियार कहने लगा मुझे मेरी कोई गलती नहीं मुझे तो तरबूज खाने के बाद जोर-जोर से लूटी लूटी आते ही है ऊंट कहने लगा चलो मेरी पीठ पर बैठा

 

 मैं तुम्हें नदी पार कर आता हूं सियार  ऊंट की पीठ पर बैठ गया जब उठ बीच नदी में पहुंच गया तो कहने लगा मुझे तो बहुत तेज लेटने का मन कर रहा है सियार बोला नहीं अगर तुम लेट गए तो मैं नदी में डूब जाऊंगा

 

hindi bal story, kahani kids, ऊंट ने कहा मुझे कुछ नही पता  ऊंट जैसे ही नदी में बैठा सियार नदी में गिर कर  डूब गया ऊंट ने कहा जैसे तुमने मेरे साथ किया वैसा ही मैंने तुम्हारे साथ किया इसमें बुरा मानने की कोई बात नहीं है जैसा बीज बोते हैं फल भी हमें वैसा ही मिलता है.

Related Posts:-

Read More-सेब का फल हिंदी कहानी

Read More-साधू की पद यात्रा

Read More- धनवान आदमी हिंदी कहानी 

Leave a Reply

error: Content is protected !!