अकबर बीरबल की 5 नयी हिंदी कहानी | akbar birbal ki kahani in hindi

Akbar birbal ki kahani in hindi

अकबर बीरबल की 5 नयी हिंदी कहानी, akbar birbal ki kahani in hindi, Akbar Birbal stories in hindi, stories akbar birbal in hindi अकबर हमेशा बीरबल की बुद्धि की परीक्षा लेते रहते थे अकबर सोचते थे की बीरबल से ऐसा प्रश्न किया जाए जिसका जवाब वो न दे सके अकबर बीरबल से प्रशन्न पूछने वाले ही थे की अचानक बेच में सिपाही आ जाता है और कहता है की महाराज दूसरे मुल्क की सेना हम पर आक्रमण कभी भी कर सकती हैं

Akbar birbal ki kahani in hindi: अकबर बीरबल की 5 नयी हिंदी कहानी

akbar birbal ki kahani.jpg
akbar birbal ki kahani

Akbar birbal ki kahani in hindi, अकबर अपने सेनापति को बुलाते है और कहते है की अपनी सेना को जल्दी तैयार करे Because हम पर किसी भी वक़्त आक्रमण हो सकता है सेनापति अपनी सेना को तैयार करने के लिए चला जाता है बीरबल (Birbal) कहते है की दूसरे मुल्क के राजा तो आपके मित्र थे पर उन्होंने ऐसा करने के लिए क्यों सोचा अकबर (Akbar) कहते है की इंसान का क्या भरोसा वो कब क्या सोच ले और युद्ध को तैयार हो जाए,

 

बीरबल (Birbal) ने कहा की हमे युद्ध नहीं करना चाहिए बल्कि इसका कोई हल सोचना चाहिए अकबर (Akbar) ने कहा की हमने तो युद्ध करने के लिए नहीं कहा बल्कि युद्ध के बारे में तो वो सोच रहे है अकबर (Akbar) से बीरबल (Birbal) ने कहा की हम उनके पास जाते है और पता करते है की ऐसा क्यों हो रहा है अगर मामला कोई और है तो युद्ध करने की ज़रूरत ही नहीं पड़ेगी

राजा बीरबल की खिचड़ी

बीरबल अकबर से आज्ञा लेकर दूसरे मुल्क के राजा के पास गए और पूरी बात जानने की कोशिश की बीरबल को पता चल गया था की ऐसा क्यों हो रहा है जब दूसरे मुल्क के राजा ने कहा की फल तो आपकी और से हुई थी हम तो ऐसा नहीं चाहते थे हमारे गुप्तचर ने बताया था की अकबर युद्ध की तैयारी कर रहे है

अकबर और बीरबल

इसलिए हम यहां पर आये है जिससे युद्ध के द्वारा सब कुछ हो जाए पर बीरबल के समझाने पर राजा ने कहा ठीक है अगर ऐसी बात है तो हम युद्ध नहीं करते है फिर दोनों राजा आपस मिले और युद्ध नहीं किया गया जब दोनों राजा वार्ता कर रहे थे तो बीरबल उन दोनों लोगो को पकड़ लाये जो सेना में हाल में भर्ती हुए थे और दोनों राजा का युद्ध करवाने में शक पैदा कर रहे थे जिससे दोनों राजा के बेच युद्ध हो और वह मोके का फायदा उठा सके

राजा और चोर की कहानी

पर बीरबल की समझदारी से ऐसा होना सम्भव नहीं हो सका और एक बार फिर बीरबल की बुद्धि काम कर गयी और राजा अकबर को एहसास हुआ की बीरबल बहुत ही काम के आदमी है जिनकी वजह से सच का पता चल सका, अगर बीरबल इस समस्या का हल नहीं खोजते तो युद्ध की पूरी संभावना बढ़ सकती थी, but बीरबल ने सही वक़्त पर इस समस्या का हल खोज निकाला था,

अकबर-बीरबल और मुखिया की कहानी

बीरबल किसी भी समस्या का हल निकाल सकते है वह अपनी समझदारी से जल्दी ही समस्या को दूर कर सकते है, अकबर बीरबल और युद्ध, akbar birbal ki kahani in hindi, Akbar Birbal stories in hindi, stories akbar birbal in hindi, अगर आपको अकबर बीरबल की कहानी पसंद आयी है तो हमे भी बताये और आगे भी शेयर करे.

 

Akbar Birbal ki kahani in hindi :अकबर और मुखिया की कहानी  

Akbar Birbal stories in hindi
Akbar Birbal stories in hindi :अकबर और मुखिया की कहानी

आज Akbar यही चाहते थे की बीरबल उनके पास रहे क्योकि उन्हें birbal की जरूरत है, इसलिए वह ऐसा करना चाहते है, कुछ देर बाद बीरबल आते है और अकबर कहते है की आपको हमारे साथ शिकार पर जाना होगा birbal कहते है की आप जैसा चाहते है वैसा ही होगा कुछ देर बाद बीरबल और Akbar शिकार पर चले जाते है वह दोनों अकेले ही होते है, उनके साथ में कोई और नहीं होता है,

बीरबल और गरीब आदमी की कहानी

वह दूसरे इलाके में चले जाते है और जंगल में शिकार करते है, दोनों ही शिकार करने में काफी दूर निकल जाते है और उन्हें एक बस्ती नज़र आती है उन्हें ऐसा लगता है की आज इस बस्ती में ठहरा जाए क्योकि आज बहुत देर भी हो गयी है, दोनों ने अपनी वेशभूषा बदल ली थी, उसके बाद वह बस्ती में जाते है बस्ती में मुखिया कहता है की आप दोनों कौन है और यह पर क्या कर रहे है वह दोनों कहते है की हम मुसाफिर है और रास्ता भटक गए है

राजकुमारी और तितली की कहानी

मुखिया कहता है की आप चिंता न करे आज रात बहुत हो गयी है कल सुबह आप अपने रास्ते पर जा सकते है मुखिया उनके लिए भोजन बनवाता है और Akbar birbal भोजन करते है उसके बाद वह बाते करते है Akbar मुखिया से कहता है की आप यही पर रहते है जबकि मुखिया जवाब देता है की हम यहां पर नहीं रहते है बल्कि कुछ समय के लिए यह पर डेरा लगा हुआ था, उसके बाद हम यह ऐसे चले जायेंगे हम भी आपकी तरह ही मुसाफिर है जबकि आपकी मंजिल है और हम्रारा कोई ठिकाना नहीं है

अकबर बीरबल की मजेदार नयी कहानियां

मुखिया कहता है की हमने सूना है राजा Akbar बहुत अच्छे है, वह सभी की मदद करते है, हमने सोचा है की उनसे उम्मीद लगाने पर पूरी हो सकती है हम उन्ही के पास जायँगे यह सुनकर राजा कहते है की आपको जाने की जरूरत नहीं है आप हमसे कह सकते है यह सुनकर मुखिया कहता है की में आपकी बात नहीं समझा, तभी birbal कहते है की यही तो अकबर राजा है, यह सुनकर मुखिया खुश हो जाता है क्योकि उनकी बस्ती में Akbar आये है सभी लोग खुश हो जाते है

राज्य पर संकट बीरबल की कहानी

अकबर उनकी सभी परेशानी दूर करते है और अपने राज्य में उन्हें ठहरने के लिए जगह देते है बीरबल इस काम से बहुत खुश हो जाते है अकबर हमेशा ही अच्छा काम करते है अगर आपको यह akbar birbal ki kahani in hindi, Akbar Birbal stories in hindi, stories akbar birbal in hindi पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

 

Akbar Birbal ki kahani in hindi : अकबर की चिंता बीरबल की कहानी

stories akbar birbal in hindi
stories akbar birbal in hindi

आज बीरबल जी क्यों नहीं आये है जबकि Akbar ने बीरबल को बुलाया है, बात कुछ समझ नहीं आ रही है, birbal अकबर की बात को कभी भी टाल नहीं सकते है, Akbar कहते है की बीरबल कहा है हमे उनसे बात करनी है, सैनिक को बुलाया जाता है और कहा जाता है की birbal को जल्दी ही बुलाया जाए सैनिक बीरबल को बुलाने जाता है, बीरबल जी की आज तबियत ठीक नहीं है इसलिए वह नहीं आ सकते है सैनिक को यह पता चल जाता है

अकबर-बीरबल और मुखिया की कहानी

सैनिक दरबार की और जाता है और यह खबर Akbar को दी जाती है, की बीरबल की तबियत ठीक नहीं है इसलिए वह नहीं आ सकते है, यह बात सुनकर Akbar कहते है की अगर बीरबल की तबियत ठीक नहीं है तो हमे ही उनके पास जाना चाहिए अकबर birbal से मिलने जाते है, but अकबर देखते है की birbal तो आराम से घूम रहे है वह तो बीमार नहीं लग रहे है अकबर कहते है की मुझे नहीं लगता है की आपकी तबियत खराब है बीरबल कहते है की आप ठीक कह रहे है मगर सैनिक ने बताया था की आपकी तबियत ठीक नहीं है तभी हम यहां पर आये है

 

birbal कहते है की आप सही कह रहे है मेने ही सैनिक से कहा था की मेरी तबियत ठीक नहीं है अकबर को कुछ भी समझ नहीं आता है यह क्या हो रहा है तभी birbal कहते है की आप चिंता न करे हम ठीक है but में यह देखना चाहता था की आप मेरी कितनी चिंता करते है मुझे लगता है की आप मेरी बहुत चिंता करते है Akbar कहते है की ऐसा कुछ नहीं है वह तो आपकी तबियत ठीक नहीं थी इसलिए में आ गया था बीरबल अपने मन में हस्ते है क्योकि वह जानते है की अकबर उनकी चिंता करते है अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

 

अकबर और बीरबल की तबियत : Akbar Birbal stories in hindi

आज बीरबल जी की तबियत खराब है वह महल नहीं आ सकते है यह खबर birbal जी ने एक सैनिक के दवारा Akbar को भेज दी थी but आज अकबर को यही लग रहा था, की birbal को यहां पर होना चाहिए था, but बीरबल की तबियत तो बहुत खराब है इसलिए Akbar ने सोचा की हमे चलकर उन्हें देखना चाहिए, अकबर ने दरबार का काम जल्द ही पूरा कर लिया था but अकबर सीधे ही बीरबल जी के पास नहीं जा सकते थे वह कोई योजना सोच रहे थे,

 

Akbar ने अपनी वेशभूषा को बदल लिया था और एक बूढ़े बाबा का रूप बना लिया था यही अच्छा लग रहा था Akbar अब ऐसे ही बिना किसे को बताये जाना चाहते थे वह birbal के पास जाने लगे थे कुछ समय बाद बीरबल के घर पहुंच गए थे बीरबल के दरवाजे पर जाकर दस्तक दी थी, birbal की तबियत बहुत खराब लग रही थी वह दरवाजे पर आये थे, उन्हें देखकर अकबर को लग रहा था आज बीरबल अच्छे नहीं लग रहे है बीरबल कहते है की आप कौन है आपको क्या चाहिए

 

Akbar कहते है की में यह से जा रहा था तबाही मुझे प्यास लग रही थी इसलिए आपके पास आ गया हु, birbal कहते है की मेरी तबियत अच्छी नहीं है आप अंदर आकर पानी पी सकते है, अकबर अंदर आते है और देखते है की पानी किस जगह पर रखा हुआ है, अकबर ने कहा की आपको कुछ मदद चाहिए तो में आपकी सेवा कर सकता हु, बीरबल कहते है की आपको प्यास लगी है आप पानी पीजिये मुझे मदद नहीं चाहिए, अकबर birbal के पास बैठ जाते है, उसके बाद Akbar कहते है की आपको आराम करना चाहिए, बीरबल कहते है की मुझे ऐसा लगता है की आपको कुछ काम नहीं है

 

akbar birbal ki kahani in hindi, Akbar Birbal stories in hindi, stories akbar birbal in hindi, इसलिए अगर आप आ ही गए है तो आप मेरे लिए भोजन तैयार कर सकते है मुझे ऐसा लगता है की बहुत भूख लगी है यह सुनकर Akbar कहते है की मुझे खाना नहीं बनाना आता है, बीरबल कहते है की तभी तो आपको ही बनाना चाहिए यह सुनकर अकबर birbal की और देखते है और birbal हस्ते है क्योकि वह समझ जाते है की अकबर ने उन्हें पहचान लिया है उसके बाद Akbar उस दिन उनके पास ही रुकते है क्योकि उनकी तबियत ठीक नहीं थी अगर आपको यह अकबर और बीरबल की कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

 

बीरबल और एक चोर की कहानी : akbar birbal ki kahani in hindi

बीरबल उस चोर को कैसे खोज सकते है यह बात Akbar भी जानना चाहते है Because अभी तक उस चोर को किसी ने भी देखा नहीं है, इस तरह birbal उसे कैसे पकड़ सकते है, बीरबल को भी लगता है की उसे खोजना बहुत मुश्किल हो सकता है but हम कोशिश करते है तो उसे देख सकते है, birbal उसे खोजने में लग जाते है, वह देखना चाहते है की वह कौन है, एक दिन बीरबल सोये हुए थे, बीरबल ने उसे पकड़ने के लिए योजना बनाई थी, उन्होंने सोने के जूते खरीदे थे,

 

जिससे वह चोर आएगा उन्हें चुराने की कोशिश करेगा उसके बाद वह पकड़ा जायेगा वह चोर बीरबल के कमरे में आता है birbal इस बता को जानते थे की वह जरूर आएगा जैसे ही उसने वह जूते चुराने की कोशिश की तो वह चोर पकड़ा जायेगा, वैसा ही हुआ था वह चोर पकड़ा गया था अब अकबर यह पूछते है की यह चोर आपके घर कैसे गया था, वह आपके जूते चोरी कर सकता है यह बात आपको कैसे पता चल पायी थी, birbal अकबर से कहते है की में यह सब नहीं जानता था मगर मुझे लगता था की वह चोर चोरी जरूर करेगा

 

यह बात उस समय की जब मेने वह सोने के जूते खरीदे थे तो बाजार में सभी को यह बताया था की आज मेने सोने के जूते खरीदे है यह सुनकर वह चोर इस बात पर गौर जरूर करेगा मुझे ऐसा लगता था की वह मेरे जूते जरूर चोरी करेगा में यह भी जानता था की वह मेरे पीछे आएगा वैसा ही हो गया था जोकि मेने सोचा था इस तरह वह चोर पकड़ा गया था Akbar भी समझ गए थे की birbal बहुत तेज है उन्होंने उस चोर को पकड़ लिया था अगर आपको यह akbar birbal ki kahani in hindi, Akbar Birbal stories in hindi, stories akbar birbal in hindi पसंद आयी है तो शेयर करे

Read More Akbar birbal ki kahani :-

अकबर और बीरबल की सात नयी कहानी 

बीरबल की समझ नयी कहानी

बीरबल की कहानी

अकबर के कौन नजदीक है कहानी

अकबर बीरबल की मजेदार नयी कहानियां

बीरबल ने बचाया अकबर को नयी कहानी

अकबर-बीरबल और मुखिया की कहानी

बीरबल और नगर की कहानी

बीरबल और सैनिक की कहानी

पोटली किसकी है बीरबल की कहानी

1 thought on “अकबर बीरबल की 5 नयी हिंदी कहानी | akbar birbal ki kahani in hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!