छोटा भीम और आलू की खेती, baccho ki kahaniya

baccho ki kahaniya

छोटा भीम और आलू की खेती

hindi story.jpg

baccho ki kahaniya

baccho ki kahaniya, एक बार ढोलकपुर में अचानक खेती की फसल खराब होने लगी सभी किसान बड़े परेशान थे छोटा भीम सभी किसान की समस्या लेकर राजा के पास गया और कहा की महाराज सभी किसान बड़ी ही मुसीबत में पड़ गए है जो उन्होंने आलू की खेती की थी वो सभी फैसले खराब हो रही है





सभी किसान उस खेती को बचा नहीं पा रहे है इस तरह तो उनका बहुत जयादा नुक्सान होगा क्योकि हर किसान अपनी खेती से सब कुछ करता है राजा ने कहा की हम जल्दी ही इस समस्या का कुछ उपाय करेंगे तभी राजा ने अपने मंत्री को बुलाया और कहा की पता करो की फसल क्यों बर्बाद हो रही है 




जब मंत्री ने खेती की जांच कराई तो उस खेती में कुछ अजीब सा पदार्थ मिला जिससे पूरी खेती की फसल बर्बाद हो रही थी जब राजा को पता चला की इस कारण खेती की फसल बर्बाद हो रही है तो उन्होंने ने इसका पता लगाने के लिए अपने कुछ विशेष सिपाही भेजे पर कुछ भी पता नहीं चला

Read More-छोटा भीम और नगर में चोर

Read More-पेटू पंडित हास्य कहानी

छोटा भीम भी अपनी और से पूरी कोशिश कर रहा था तभी छोटा भीम की नज़र उस चीज पर गयी जिससे ये पता चलता है की ये काम जादूगरनी का है जो किसी को भी नुक्सान पहुंचा सकती है और वो ही हमारी खेती का नुक्सान कर रही है और आलू की फसल बर्बाद हो रही है

 

इस समस्या का निवारण करने के लिए छोटा भीम पहाड़ी बाबा के पास गया और उनसे सारी बात बताई तो उन्होंने ने कहा की इस पहाड़ी के पास एक ऐसा फूल है जिसको तुम तोड़कर अपने खेतो में दाल दोगे तो उस पानी से तुम्हारी फसल अच्छी हो जायेगी

Read More-मोटू पतलू और फिल्म शूटिंग

Read More-मोटू पतलू और जादुई फूल

इस फूल को तुम्हे सबसे पहले तोड़कर लाना होगा और फिर बहुत सारे पानी में मिलकर उसका छिड़काव करना होगा तभी तुम्हारी फसल अच्छी हो जायेगी फिर छोटा भीम उस फूल को तोड़कर ले आया और फसल फिर से अच्छी होने लगी और अब किसान काफी खुश थे

 

राजा ने भी भीम को धन्यवाद दिया और कहा की तुम बहुत ही होनहार हो तुम्हारी वजह से किसान काफी खुश है अगर तुम न होते तो फसल कभी अच्छी नहीं होती अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आगे भी शेयर करे और हमे भी बताये

 

छोटा भीम और क्रिकेट का मैच

ढोलकपुर में राजा ने दूसरे नगर के राजा को क्रिकेट का मैच रखने के लिए कहा और साथ में एक पत्र भी दिया की अगर यह मैच हो जाए तो हमारे बीच जो गलतफमी है वो धीरे धीरे दूर हो जायेगी राजा ने कहा ठीक है हम आपकी बात मान जाते है और इस मैच को मंजूरी देते है

Read More-छोटा भीम और जादूगरनी

Read More-मोटू पतलू और जादुई टापू

जब ढोलकपुर के राजा को पता चला की राजा उनकी बात मान गए है तो उन्होंने अपने नगर में साफ़ सफाई  कराई और मैच खेलने के लिए स्थान भी चुना जिसको बहुत ही अच्छी तरह से सजाया गया था मैच शरू होने में दो दिन बाकी थे दो दिन बाद मैच शुरू होना था  

 

तैयारी पूरी जोरो पर चल रही थी ढोलकपुर के निवासी बहुत ही खुश थे क्योकि उन्हें बहुत साल बाद दूसरे नगर के लोगो से मिलने का अवसर मिल रहा था लकिन दूसरे नगर में कुछ लोग ऐसे भी थे जो यह नहीं चाहते थे की दोनों राज्य आपस में मिले इसलिए उन्होंने एक योजना बनाई की जिसमे वो अपने नगर के राजा पर हमला करेंगे और सारा दोष ढोलकपुर पर चला जाएगा

Read More-मोटू पतलू और साधू बाबा

Read More-मोटू पतलू और चिराग

दो दिन बीत गए और राजा अपने साथ बहुत से उपहार लेकर आये ढोलकपुर के लिए आज बहुत ही खुशी का दिन था आज मैच होने जा रहा था विजेता टीम को बहुत अच्छा पुरस्कार मिलने वाला था पुरस्कार में सोने का घोडा मिलेगा जो भी टीम विजेता होगी

 

 

जब कुछ लोग जंगल के रस्ते से आ रहे थे और वो योजना बना रहे थे की हम उस पेड़ पर चढ़ जाते है और तीर चलकर राजा पर हमला कर देंगे और ढोलकपुर में लड़ाई हो जायेगी जब वह इस तरह की बाते कर रहे थे तो भीम ने यह सब सुन लिया और उसने भी एक योजना बनाई

Read More-मोटू पतलू और नगर की सफाई

Read More-मोटू-पतलू का सपना

 

भीम कुछ अपने दोस्तों को बुलाने चला गया और यह योजना अपने राजा को भी बता दी राजा ने कुछ सैनिक भीम के साथ भेज दिए और कहा की उन्हें पकड़ा कर लेकर आये अब मैच शुर हो चूका था जब भीम अपने दोस्तों और सैनिक को लेकर पहुंचा तो देखा की वो लोग तीर चलने की कोशिश कर रहे है

 

 

और उन लोगो को पकड़ लिया और राजा के सामने लेकर आ गए और राजा से कहा की यही लोग है जो आपस में सभी को लड़ाना चाहते है राजा ने कहा की इसका फैसला मैच के बाद होगा और ढोलकपुर की टीम जीत गयी और दूसरे नगर के राजा की तरफ से सोने का घोडा मिला और फिर उन लोगो को सो-सो कोड़े लगवाए गए

Read More-शेखचिल्ली की कुश्ती

Read More-शेखचिल्ली का मजाक

 

baccho ki kahaniya, दोनों नगर के राजा खुशी-खुशी साथ में भोजन किया और बहुत साड़ी बाते भी की और फिर राजा लूट गए दोस्तों कभी-कभी गलती छोटी होती है मगर हम उसे बड़ा मान लेते है और फिर आपस में गलतफमी हो जाती है इसलिए कोई भी फैसला लेने से पहले जरूर सोचे अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आगे भी शेयर  करे और हमे भी बताये

Read more-छोटा लड़का और डॉग

Read More-कौवे का पेड़

Read More-छोटू का पार्क कहानी 

Read more-ऊंट और सियार की कहानी

Read More-राजा और लेखक

Read More- धनवान आदमी हिंदी कहानी

Read More-सेब का फल हिंदी कहानी

Read More-ढोंगी पंडित की कहानी 

Read More-बेवकूफ दोस्त की कहानी

Read More-मोटू और पतलू के समोसे

Read More-अमरूद किस का हिंदी कहानी

Read More-छोटा लड़का और डॉग

Read More-अलादीन का जादुई चिराग

Read More-राजा बीरबल की खिचड़ी

Read More-बच्चों का पार्क

Read More-अकबर बीरबल और युद्ध

Leave a Reply

error: Content is protected !!