राजभोज का आनंद, kids story in hindi

kids story in hindi

kids story.jpg

kids story in hindi

 राजभोज का आनंद हिंदी कहानी 

kids story in hindi, child story in hindi, hindi story, एक बार की बात है राजा कृष्णदेव के दरबार में राज भोज का आयोजन किया गया कई प्रकार के भोज और कई प्रकार की मिठाई और पकवानों की बनवाना चाहिए हर कोई खुश हो जाता है वह सब वहां नजर आ रहे थे वह समय भी आ गया जब भोज शुरू हो गया और भोजन के बाद दरबार सज गया.




राजा दरबारियों से बोले भोजपुरी अभी समाप्त नहीं हुआ है लीजिए बहुत दूर से मंगवाए गए आम का आनंद लीजिए नौकरों के द्वारा सभी व्यक्तियों को एक एक आम दिया गया तेनालीराम बोला वाह महाराज मजा आ गया आम की बात ही कुछ और है.




 राजा मुस्कुराते हुए बोले तेनालीराम चाहो तो और आम ले लो यह सुनकर तेनालीराम छठ से दूसरे आमो पर टूट पड़ा तेनाली राम की बातें सुनकर मंत्री और सेनापति अपना मुंह पिचकाने लगे और सेवक मिठाई का स्थान ले आए मिठाई की ओर देखते हुए राजा बोला यह बहुत ही अच्छी मिठाई है इसे बनाने वाला हलवाई भी दूर देश से आया है.

Read More-महाजन की कंजूसी

तेनालीराम ने दोनों हाथों से मिठाई उठा ली राजा हंसते हुए तेनालीराम और मिठाई ले लो तेनालीराम में थाल से दोबारा मिठाई ले ली एक अन्य  सेवक मिठाई का बड़ा सा स्थान लेकर आया तेनालीराम हंसते हुए अब यह क्या है

Read More-खरगोश ने रंग लगाया

महाराज राजा मुस्कुराते हुए बोला यह पाना एकदम शहद की तरह मीठे हैं तो घर के लिए भी एक बनवा लेना और घर ले जाना तेनालीराम बोला ठीक है महाराज जैसी आपकी इच्छा यह सब देखकर दरबार में बैठा एक और मंत्री बोला तेनालीरामा पेट है या कुआं तुम अपनी इच्छा पर नियंत्रण क्यों नहीं रखते हो.

Read More-बकरी की चतुराई

कुछ तो दिमाग से काम लिया करो दरबार का एक और मंत्री बोला कि तेनालीराम को पता ही नहीं चला कि महाराज हम दरबारियों की जीत को परख रहे हैं तेनालीराम तो जन्मो से ही भूखा लगता है यह सुनकर सब हंस पड़े और मंत्री की बात से सब सहमत हो गए.

Read More-राजा की सोच कहानी

राजा बोला तेनालीराम यह सब क्या मैं सुन रहा हूं क्या तुम कुछ नहीं कहोगे तेनालीराम उठकर हंसते हुए महाराज स्वादिष्ट पकवान और मिठाई तो पेट के हवाले करने के लिए ही बने होते हैं भला मैं इसमें अपना दिमाग क्यों लगाओ कि आप हमें पररख रहे हो या हमारी जीत को मैं तो अपना दिमाग केवल अपने राज्य की तरक्की के लिए ही लगाऊंगा जिससे हम सबका भला होगा और हमारी प्रजा भी सुखी से रहेगी.

Read More-बुद्धिमान तोता

kids story in hindi, child story in hindi, hindi story, यह सुनकर दरबार में बैठे सभी दरबारियों के मुंह लटक गए हमें हाजिरजवाब व्यक्ति की हमेशा प्रशंसा करनी चाहिए और हमें किसी की बातों पर कुछ ध्यान नहीं देना चाहिए हमें जो करना है वही करते रहना चाहिए.

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-बिना सोचे विचारे

Read More-गमले वाली बूढ़ी औरत

Read More-छोटी सी बात हिंदी कहानी

Read More-समय जरूर बदलेगा

Read More-सोच का फल कहानी

Read More-निराली पोशाक

Read More-पेड़ और झाड़ी

Read More-राजा और चोर की कहानी

Read More-पत्नी का कहना

Read More-एक किसान

Read More-रेल का डिब्बा

Read More-छोटी सी मदद

Read More-दिल को छूने वाली कहानी

Read More-गुस्सा क्यों

Read More-राजा की सोच कहानी

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी

Read More-हिंदी कहानी एक सच

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-हिंदी कहानी विवाह

Read more-गांव में बदलाव

Read More-चश्में की हिंदी कहानी

Read More-परीक्षा का परिणाम

Read More-जादूगर की हिंदी कहानी

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी

Read More-हौसला बनाये रखना

Leave a Reply

error: Content is protected !!