कौवा की दो नयी हिंदी कहानी, crow story in hindi

Crow story in hindi

Crow story in hindi, very short story in hindi, एक बार की बात है एक नगर में एक सेठ रहता था वह बहुत ही दयालु और पूजा पाठ में लगा रहता था उसके पांच बेटे थे जो बहुत छोटे थे जब उसके बेटे खाना खाते तो उन की थाली में जो कुछ बचा था वह उसे एक कौवे को दे देते थे.

कौवा की दो नयी हिंदी कहानी :- crow story in hindi

crow story in hindi
crow story in hindi

crow story in hindi, कोवा उनका बचा खाना खा खाकर बहुत अच्छा हो गया और मोटा ताजा हो गया था और अपने आप पर बहुत घमंड करने लग गया था कि मैं सबसे ज्यादा ताकतवर पक्षी हूं और बाकी पक्षियों को वह बहुत छोटा समझता था और उनका मजाक उड़ाता था कि मुझे तुम सब से बहुत अच्छा रोज खाना खाने को मिलता है एक दिन की बात है एक तालाब के किनारे कुछ हंस आ गए वह बहुत तेज उड़ते थे वह उनकी हंसी उड़ाने लगा और बोला तुम में से जो सबसे तेज उड़ता है वह मुझसे रेस लगाए और मैं उसे हरा दूंगा, (crow story in hindi)

बीरबल और नगर की कहानी

हंस के सरदार ने कहा कि तुम्हारा और हमारा क्या मुक़ाबला हम तुमसे रेस नहीं लगाएंगे पर कौवा नहीं माना Because उसे सेठ के चारों बेटों ने और चढ़ा दिया था कि तुमसे अच्छा और अच्छा उड़ने वाला पक्षी और कोई नहीं है इसीलिए कौवे ने हंस के सरदार का मजाक उड़ाना शुरू कर दिया बोला अरे तुम हार गए तभी तो मेरे साथ नहीं उड़ना चाहते कौवे की बातें सुनकर बाकी के कौवे भी उन हंस का मजाक उड़ाने लगे कहा तुम मुझे ऐसा वैसा नहीं मत समझो मैं उड़ने की सभी कलाएं जानता हूं

बीरबल की समस्या भी दूर हुई कहानी

हंस के सरदार ने कहा कि तुम जैसे भी उड़ा पर मुझे तो उड़ने की एक ही कला आती है मैं तो उसी से उडूंगा दोनों में रेस हो गई दोनों तालाब के किनारे से उड़ना शुरू कर दिए हंस धीरे-धीरे उड़ रहा था पर कौवे अपनी सारी ताकत लगाकर नए-नए तरीके से उड़ता कभी इधर कभी उधर वह हंस को दिखा रहा था कि उसे कितनी तरह से उड़ना आता है धीरे-धीरे कौवे थक गया और हंस अपनी उसी गति से उड़ने लगा

राजकुमारी और तितली की कहानी

कौवे बहुत धीरे-धीरे उड़ने लगा हंस ने कहा क्या हुआ थक गए अब कहां गई तुम्हारी सारी उड़ने की कलाएं आगे समुंदर था जल्दी से समुंद्र के ऊपर से उड़ने लगा पर कौवे की सारी ताकत कमजोर होने लगी उसके पंखों उड़ने नहीं वाले थे, वह समुंद्र की तरफ नीचे नीचे जाने लगा अब उसे एहसास हो गया कि उसने हंस के साथ रेस लगा कर गलत किया वह कहने लगा मुझे बचा लो मैं नहीं जानता था कि किस से मुकाबला कर रहा हूं धीरे-धीरे कौवे के पंख समुंद्र के पानी से मिलने लगे उसे हंस को उस पर दया आ गई और उसने उसे अपनी पीठ पर बिठा लिया और समुद्र के दूसरे किनारे पर छोड़ दिया

तीन मोरल हिंदी कहानियां 

crow story in hindi, very short story in hindi, कहां आप अपनी कलाओं का यहीं पर प्रदर्शन करो और अकेले रहो अगर अच्छा खाना अच्छा पहनने से हर कोई गुणवान हो जाता तो आज सभी गुणी होते यह ना तो किसी के अच्छे खाना खाने से आते हैं और ना ही किसी पर ज्यादा इतराने से.

 

कौवा और बुढ़िया की नयी कहानी, crow story in hindi

crow story in hindi, वह कौवा खाने की तलाश में गया था Because उसे अभी तक कोई भी जगह नहीं मिली थी उसे बहुत भूख लगी थी वह कौवा सभी घर में देख रहा था उसकी नज़र एक बुढ़िया पर जाती है जिसने अभी खाना बनाया है वह उस खाने को पाना चाहता है but यह आसान नहीं था Because वह बुढ़िया वह पर बैठी थी वह कौवा बुढ़िया की दीवार पर जाकर बैठ जाता है जब भी वह बुढ़िया उस जगह से जायेगी वह खाने को पा सकता है, (crow story in hindi)

खाने की समस्या बच्चों की कहानी

बुढ़िया घर के अंदर जाती है वह कौवा बुढ़िया की एक रोटी लेकर उड़ जाता है बुढ़िया को अधिक भूख नहीं थी इसलिए वह एक हो रोटी बनाती थी बुढ़िया जब घर के बाहर आयी तो उसने देखा की उसकी रोटी गायब हो गयी है जब वह तो यही पर रोटी रख गयी थी बुढ़िया दिवार पर बैठे कौवा को देखती है वह उसकी रोटी खा गया था, अब बुढ़िया को फिर से वह रोटी बनानी होगी बुढ़िया को बहुत गुस्सा आता है Because वह काम करके थक गयी थी,

जामुन की तलाश बच्चों की कहानी

crow story in hindi, very short story in hindi, वह बुढ़िया फिर से रोटी बनाती है मगर उस कौवा को सबक सिखाना भी बहुत जरुरी हो गया था यह कैसे होगा बुढ़िया सोच रही थी शाम हो गयी थी वह कौवा फिर से आ गया था Because वह बुढ़िया खाना देख चूका था बुढ़िया एक रोटी बनाई थी फिर से वह बुढ़िया उसे बाहर ही रख गयी थी जब वह कौवा रोटी लेने आता है तो उसके पैर में धागा फंस जाता है वह कौवा उड़ने लगता है but कोई फ़ायद नहीं था उस बुढ़िया ने कौवा को सबक सीखने के लिए यह सब कुछ किया था उस दिन के बाद वह कौवा बुढ़िया के घर नहीं आया था Because कौवा को सबक मिल गया था,

Read More Hindi Story :-

Read More-आम के पेड़ की हिंदी कहानी

Read More-एक विजेता की कहानी

Read More-राजकुमारी और कछुवे की कहानी

Read More-उपकार की सच्ची कहानी

Read More-नकल के लिए अक्ल जरूरी

Read More-सदा ही बड़ो की बातें माने

Read More-चार सच्चे दोस्तों की कहानी

Read More-सेवा का भाव एक कहानी

Read More-गिलहरी की अदभुत कहानी

Read More-स्वार्थ की हिंदी कहानी

Read More-छोटा भीम और जादूगरनी

Read More-नकल के लिए अक्ल जरूरी

Read More-छोटा भीम और जादूगरनी

Read More-राजा के खजाने की कहानी

Read More-जलपरियों की कहानी

Read More-सबसे गरीब कौन एक कहानी

Read More-जल परी की कहानी

Read more-ऊंट और सियार की कहानी

Read More-भगत बत्तख की कहानी

Read More-मंद बुद्धि की कहानी

Read More-मोटू पतलू और चिराग

Read More-सोनू के हाथी की कहानी

Read More-गुरु और चेले की कहानी

Read More-राजा और सेवक की कहानी 

Read More-दरबारियों की परीक्षा

Read More-मोटू पतलू और नगर की सफाई

Read More-अकबर और बीरबल की कहानी

Read More-लालच बुरी बला है

Read More-बाघ और पंडित की कहानी

Read More-राजा का गुस्सा एक कहानी

Read More-बच्चों की कहानी

Read More-बोलने वाले पक्षी

Read More-अलादीन का जादुई चिराग

Read More-कौवे और मैना की बाल कहानियां

Read More-चालाक लोमड़ी और भालू की कहानी

Read More-खरगोश की कहानी 

Read More-बच्चों का पार्क

Read More-अकबर बीरबल और युद्ध

Read More-बड़े हाथी की कहानी

Read More-एक शिक्षाप्रद कहानी

Read More-शेर और खरगोश

Read More-मोटू पतलू और साधू बाबा

Read More-मोटू पतलू और फिल्म शूटिंग

Read More-मोटू पतलू और जादुई फूल

Read More-मोटू पतलू और जादुई टापू

Read More-मोटू पतलू और मिलावटी दूध

Read More-छोटा भीम और जादूगरनी

Read More-छोटा भीम और क्रिकेट मैच

Read More-मोटू-पतलू का सपना

Read More-चाचा चौधरी और साबू

Read More-पेटू पंडित हास्य कहानी

Read More-शेखचिल्ली की कुश्ती

Read More-शेखचिल्ली का मजाक

Read More-मोटू और पतलू का जहाज

Read More-अकल की दवाई

Read More-कौवे का पेड़

Read More-छोटू का पार्क कहानी 

Read more-ऊंट और सियार की कहानी

1 thought on “कौवा की दो नयी हिंदी कहानी, crow story in hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!