story in hindi

दयालु लड़की की कहानी, story in hindi

Story in hindi | Hindi story

story in hindi, hindi story, दयालु लड़की की कहानी, एक गांव में एक गरीब लड़की रहती थी उसके मां-बाप नहीं थे जब वह बहुत छोटी सी थी तो उसके मम्मी पापा ने इस दुनिया को छोड़ कर चले गए थे वह पढ़ना चाहती थी but उसके पास इतने पैसे नहीं थे कि वह स्कूल जा सके.

Advertisement

दयालु लड़की की कहानी : story in hindi, hindi story

story in hindi
story in hindi

“story in hindi” वह यही दुकानों पर काम करते और दूसरों के घर में बच्चों की देखभाल करती थी जिससे उसे वहां से जितना भी पैसा और खाने को मिलता उसी को अपने घर में रखे अपना घर चलाती थी वह बहुत ही दयालु और अच्छी थी उसके पास कम पैसे और कम खाने को होता था, but अगर वह किसी भूखे को देखती तो उसमें से आधा उसे दे देती थी सभी लोगों से बहुत प्यार करते थे और गांव में जिस किसी के घर कोई विवाह या कोई शादी होती थी तो उसे बुला लेते थे और उनके घर में वह बर्तन झाड़ू पहुंचे का काम करती थी बदले मैं उसे खाना और पैसे और कपड़े मिल जाते थे, “story in hindi”

 

एक दिन वह लड़की एक सब्जी वाले की दुकान पर कुछ सब्जी खरीदने के लिए गई थी और कहा कि भैया आलू कैसे दिए हैं सब्जी वाले ने कहा कि 20 रुपये  किलो है फिर उसने कहा यह छोटे वाले कैसे दिए हैं तो सब्जी वाले ने कहा कि 15 रुपये हैं फिर उसने कहा भैया और सस्ते नहीं है, सब्जी वाले को गुस्सा आ गया उसने कहा लेने हां तो लो यहां से जाओ मुझे गुस्सा मत दिलाओ तुम्हारे पास पैसे तो है नहीं और मेरे पास आ जाती हो सर मैं दर्द करने के लिए लड़की ने कहा ठीक है 15 के 1 किलो दे दो सब्जी वाले ने 15 के 1 किलो आलू दे दिए

Advertisement

 

लड़की वहां 20 रखकर अपने घर की तरफ चल दी जब सब्जी वाले ने पैसे देखें तो वहां पर एक कागज पर लिखा था 15 आलू के और 5 तुम्हारे लिए जिससे तुम्हारे सर में मैंने दर्द किया तो दवाई ले लेना और चाय पी लेना पर किसी भी बच्चे या किसी और से इस तरह गुस्से से मत बोलना Because जरूरी नहीं हर किसी के पास इतने पैसे हो

 

story in hindi, hindi story, जब हमारे पास जितने पैसे होते हैं हम उतनी ही चीज खरीदेंगे मोल भाव करना तो सभी का अधिकार है इसमें गुस्सा करने की कौन सी बात है सब्जी वाले को अपनी गलती का एहसास हुआ और उसके बाद से वह किसी पर भी नहीं गुस्सा  नहीं करता था जरुरी नहीं  पास पैसा ही सब कुछ हो अगर हमारे पास कुछ भी नहीं है but हमारे पास हमारी सद्बुद्धि और अच्छी बातें हैं उससे भी हम दूसरों को सुधार सकते हैं और सही रास्ते पर ला सकते हैं

 

दयालु लड़की की दूसरी कहानी : story in hindi, hindi story

वह दयालु लड़की एक बाबा को हमेशा देखा करती थी वह बूढ़े बाबा हमेशा ही सामान का बोझ लेकर जाया करते थे उनके पास और कोई रास्ता नहीं था इसलिए वह काम कर रहे थे वह दयालु लड़की हमेशा यही सोचती थी कि यह बूढ़े बाबा कितनी परेशानी उठा रहे हैं और इन्हें बहुत परेशानी होती है इस काम को करने के लिए मदद कर सकती हूं but मैं इतनी मदद नहीं कर सकती कि इनका सामान इनके साथ उठवा सकूं

 

वह बूढ़े बाबा के पास जाती है और इस बारे में बात करते हैं कि आपको इतना सामान नहीं ले जाना चाहिए आपकी तबीयत खराब हो सकती है वह बूढ़े बाबा उसे देखते हैं और कहते हैं कि जीवन में मेरे सामने परेशानी के अलावा अब कुछ भी नहीं है इसलिए मुझे यह काम तो करना ही होगा वह दयालु लड़की चली जाती है Because वह बूढ़े बाबा उसकी बात नहीं मानते हैं एक दिन बाबा की तबीयत खराब हो जाती है उस दिन काम पर नहीं आते इसलिए दयालु लड़की दुकान के पास जाती है और बाबा के बारे में पूछती है

 

वह बताते हैं कि आज उनकी तबीयत खराब है इसलिए नहीं आ पाए वह उनके घर का पता लेती है और उसके घर के पास जाकर बूढ़े बाबा से मिलने के लिए कोशिश करती है देखती है कि बूढ़े बाबा बीमार पड़े हुए हैं और उनके पास कोई भी नहीं है वह दयालु लड़की उनके लिए भोजन तैयार करती है और उन्हें खिलाने की कोशिश करती है जबकि उनकी सेवा करने के लिए कोई भी उनके पास नहीं है बूढ़े बाबा देखते हैं और कहते हैं कि तुम बहुत अच्छी लड़की हो जो मेरी सेवा कर रही हो जबकि तुम मुझे जानती भी नहीं और मैं भी तुम्हें नहीं जानता हूं but मैं समझता हूं कि बहुत ही कम लोग ऐसे होते हैं जो दूसरों की सेवा करते हैं

 

वह लड़की कहती है कि मैंने आपसे पहले ही कहा था कि आप की तबीयत खराब हो जाएगी but आप इस बात को मान नहीं रहे थे इसलिए मुझे चिंता हो रही थी इसलिए मैं हर रोज दुकान के पास से जाया करती थी और देखा करती थी कि आप क्या कर रहे हैं आज आप नहीं आए थे इसलिए मैं उस दुकान से आपका पता लेकर यहां पर आ पहुंची हूं बूढ़ा आदमी कहता है कि मैं यहां पर अकेला रहता हूं मेरे साथ कोई भी नहीं है और यह परेशानी मेरे साथ हमेशा रहेगी Because मेरी सेवा करने के लिए कोई भी नहीं है तभी वह दयालु लड़की कहती कि आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है

story in hindi | hindi story

मैं आपकी सेवा हमेशा करती रहूंगी बूढ़ा आदमी उसे देखता है और सोचता है कि यह बहुत अच्छी लड़की है जो दूसरों के लिए हमेशा ही परेशानी उठाती है और भगवान इसका भला करते रहे अगर आपको यह story in hindi, hindi story पसंद आई है तो कमेंट करके हमें बताएं 

Read More Hindi Story :-

-कल क्या होगा कहानी

मन की जीत एक कहानी

बरसात के दिन आये कहानी

आप क्या करते हो हिंदी कहानी

बदलते विचार की हिंदी कहानी

एक कहानी सोचना जरुरी है

सुखमय जीवन की कहानी

जीवन की सफलता की कहानियां

सही दिशा में सपनों की कहानी

अकेले ही चलते रहे हिंदी कहानी

एक सच्चे दोस्त की कहानी

उड़ती हुई रेत की कहानी

कला का ज्ञान हिंदी कहानी

मेहनत बेकार नहीं जाती कहानी

जीवन में कामयाबी की कहानी

सीखने की कला हिंदी कहानी

यादगार पल की हिंदी कहानी

परेशानियों का सामना हिंदी कहानी

विचित्र हिंदी कहानियां

सब-कुछ संभव है कहानी

आप कैसे हो एक कहानी

पहाड़ी की दूरिया हिंदी कहानी

कबीले के पास की गुफा हिंदी कहानी

जीवन के सही मूल्यों की कहानी

राजकुमारी और तितली की कहानी

सेवा का सही मूल्य हिंदी कहानी

राजा और चोर की कहानी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!