Kauwa aur saap ki new kahani, कौवा और सांप की नयी कहानी

Kauwa aur saap ki new kahani

Kauwa aur saap ki new kahani, कौवा और सांप की नयी कहानी, वह कौवा सांप का बिल देख चूका था, मगर वह उसे कुछ नहीं कह सकता था, जिस पेड़ पर वह कौवा रहता है उसी पेड़ के अंदर saap भी रहता था, एक दिन वह कौवा उड़ता हुआ जा रहा था, उसे लग रहा था, की आज वह खाना खा सकता है, but तभी उसकी नज़र एक महल पर जाती है, उस महल में रानी देखती है की वह kauwa उस महल की और आ रहा था, वह उसे खाने को देती है, वह कौवा बहुत खुश हो जाता है, because उसे आज खाना मिल गया था.

Kauwa aur saap ki new kahani : कौवा और सांप की नयी कहानी 

Kauwa aur saap ki new kahani

Kauwa aur saap ki new kahani

वह kauwa हर रोज की तरह महल में जाता था उसे खाना मिल जाता था रानी उसे हर रोज भोजन देती थी, वह कौवा बहुत खुश लग रहा था उसे अब खाने की समस्या नहीं थी, वह रानी को बहुत अच्छी मनाता था because वह उसे खाना देती थी एक दिन राजा महल में घूम रहे थे, उन्हें नहीं पता था, की वह कौवा हर रोज खाने आते है वह उस kauwa को भगाने की कशिश करते है, but तभी वह रानी आती है, वह कहती है की यह kauwa हर रोज यहां पर आता है और खाना खाता है अब राजा को पता चल जाता है

जादुई घड़े की नयी हिंदी कहानी

राजा भी अब kauwa को खाना देता है, एक दिन वह saap बिल से बाहर आता है और वह kauwa उसे देख लेता है क्योकि वह जानना चाहता है की वह किस जगह पर जा रहा है वह कौवा उड़ता हुआ जा रहा था तभी वह देखता है की वह साप तो महल की और जा रहा है यह देखकर कौवा आवाज करता है वह कौवा महल की छत पर आता है रानी देखती है की वह कौवा आवाज कर रहा है शायद उसे बहुत भूख लगी है, रानी उसके लिए खाना लाती है, राजा भी वही पर आते है और कहते है की कुछ देर तक रुक जाओ रानी तुम्हारे लिए कुछ ला रही है

जादुई घोड़ा हिंदी कहानी

but रानी यह नहीं जानती थी की वह सांप आ गया है, राजा भी देख नहीं पा रहे थे की वह saap राजा के पास आ गया है वह kauwa देखता है की राजा के पास सांप आ गया है वह kauwa राजा के पास आता है उन्हें डरने की कोशिश करता है राजा उस जगह से दूर जाते है उधर रानी भी आती है उन्हें भी पता चल जाता है की वह सांप आ गया है और राजा अब दूर हो गए है राजा भी देख लेते है की वह saap की वजह से कौवा उस जगह पर आया था राजा कहते है की इस कौवा की वजह से आज में बच गया था अगर यह न होता तो यह saap मुझे मार सकता है, रानी भी इस बता को जानती थी की वह कौवा बहुत अच्छा है 

जादुई कहानियां गांव में सोना

वह kauwa उन्हें बताना चाहता है की इस saap को मार देना चाहिए राजा भी इस बात को जानता था की यह हमारे लिए समस्या बन सकता है इसलिए उन्होंने सैनिक को बुलाया और कहा की इस सांप को यहां से दूर ले जाकर मार सकते हो यह यहां पर नहीं आना चाहिए, सैनिक उसे ले जाता है, उसके बाद वह kauwa उस महल में ही रहता था राजा को अब बहुत चाह लगता है, यह महल में रुक गया है अब हमारे सामने जो भी समस्या आएगी यह kauwa उसे दूर कर सकता है

 

वह kauwa  भी महल में ही था, उसने वह पेड़ छोड़ दिया था और राजा के पास ही रहता था, रानी को भी वह कौवा बहुत पसंद था, अब उन्हें यही लगता था, की यह कौवा हमारे लिए बहुत शुभ है, यह हमारे लिए ही आया है अगर आपको यह कौवा और सांप की नयी कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे. 

कौवा और नेवले की नयी कहानी : kauwa aur saap ki new kahani

वह कौवा इस बात को जानता था, की उसे खाने की तलाश में बहुत दूर तक जाना होता है, इसलिए वह हमेशा ही अपने लिए खाने का इंतज़ाम कर रहा था, तभी सामने के बिल से saap निकलता है, उसे देखकर वह कौवा सोचता है, की यह मेरे लिए खतरा बन सकता है, मुझे कुछ करना चाहिए, उस kauwa का दोस्त नेवला था, वह अपने दोस्त के पास जाता है और कहता है की मेरे सामने एक बिल है, उस जगह पर सांप रहता है तुम्हे उस सांप को वह से भगाना चाहिए,

मोटू कार्टून की नयी कहानी

वह नेवला कहता है की अगर वह तुम तंग कर रहा है तो में जरूर इस बारे में कुछ करूँगा but वह कुछ नहीं कहता है तो हमे कुछ नहीं करना चाहिए, but kauwa सोचता है है की अगर वह मुझे तंग नहीं करेगा तो वह नेवला कुछ भी नहीं करेगा but मुझे उससे डर बहुत लग रहा है तभी नेवला कहता है की ठीक है आज में तुम्हारे साथ में रुकता हु अगर कुछ भी वह saap करता है तो हम उसे छोड़ने वाले नहीं है वह kauwa कहता है की यह ठीक रहेगा. ऐसा यही करना चाहिए,

बिल्लू और कौआ की कहानी

आज वह नेवला भी kauwa के पास रुक गया था, रात हो चुकी थी वह नेवला देख रहा था but वह kauwa सो चूका था इस बात को वह नेवला जानता था अब नेवला देखता है की वह saap बाहर आता है और कौवा के पास जाने की कोशिश करता है but वह नेवला वही पर बैठा था नेवला कहता है की तुम क्या करना चाहते हो वह सांप कहता है की कुछ भी नहीं, में तो रात के समय में टहल रहा था, नेवला कहता है की अगर यहां पर नज़र आये तो सब कुछ भूल जाओगे, वह सांप वह से चला जाता है फिर कभी भी उस इलाके में नहीं रहता है

kauwa aur saap ki new kahani

सुबह हो गयी थी वह kauwa कहता है की आज तो मुझे बहुत अच्छी नींद आयी थी because मुझे कोई डर नहीं था, जब डर लगता था तो सो भी नहीं पाता था, कल राटा तुम यह अपर रुके थे मुझे कोई भी चिंता नहीं थी saap वह सांप कही नज़र नहीं आ रहा है नेवला कहता है की वह चला गया है अब यहां पर नहीं है यह बता सुनकर वह कौवा बहुत खुश हो जाता है अगर आपको यह kauwa aur saap ki new kahani पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

Read More Hindi Story :-

लालच की जादुई घंटी हिंदी कहानी

जादुई पेंसिल का सच हुआ सपना हिंदी कहानी

जादुई लकड़ी की कहानी 

जादुई जूते की कहानी

जादुई चक्की की कहानी

जादुई चेहरा राजकुमारी की कहानी

कार्टून की नयी दुनिया हिंदी कहानी

बारह राजकुमारी की हिंदी कहानी

पक्षियों की अनोखी कहानी 

टुनि और कौआ की नयी कहानी

डायनासोर की नयी कहानी

नन्ही चुहिया और राजकुमारी की कहानी

टाइगर और एक गांव की कहानी

राजकुमार और राजकुमारी की काहनी

राजकुमारी और जादूगर बुढ़िया की कहानी

शेर और बकरी की कहानी

राजा और प्रजा की नयी किड्स कहानी

कौवा की दो नयी कहानी

बुढ़िया और बच्चो की कहानी

पक्षी ने दी परेशानी हिंदी कहानी

सबसे अच्छी जातक कथा

सोने की हिंदी कहानी

चूहे और बिल्ली की नयी कहानी 

बंदर और मगरमच्छ की नयी कहानी

बच्चो की दो कहानी

परियों की कहानी में राजकुमार

छोटे बच्चों के साथ मछली की कहानी

छोटा जादूगर किड्स कहानी

लड़के की मेहनत नयी कहानी

राजा और रानी की अच्छी कहानी

आठ सबसे अच्छी कहानी

दो शेर की नयी कहानी

मेरी शक्ल का आदमी किड्स कहानी

चींटी और कबूतर की कहानी

पेड़ के भूत की जातक कथा

Little red riding hood story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.