Chiti ki kahani and chiti aur kabootar ki kahani | चींटी और कबूतर की कहानी

Chiti ki kahani and chiti aur kabootar ki kahani

Chiti ki kahani and chiti aur kabootar ki kahani, यह कहानी चींटी और कबूतर की है कबूतर हमेशा उस चींटी को देखा करता था उसे यही लगता था की जब भी वह उसे देखता है तो उसे पता चलता है की मेहनत से सब कुछ हो सकता है वह chiti दिन भर बहुत मेहनत करती है में kabootar होकर भी मेहनत नहीं कर पाता हु जबकि में चींटी से बहुत बड़ा हुआ, वह कबूतर उसी पेड़ पर बैठा रहता था और वह chiti भी उसी पेड़ पर रहती थी

Chiti ki kahani and kabootar

Chiti ki kahani

Chiti ki kahani

एक दिन kabootar ने chiti से पूछा की तुम बहुत मेहनत करती हो जबकि में इतनी मेहनत क्यों नहीं कर पाता हु चींटी ने कहा की ऐसा नहीं है में इतनी hard work नहीं कर पाती हु में बहुत छोटी हु और मुझे यही लगता है की मुझे जो भी काम करना है वह मुझे जल्दी ही पूरा करना होगा chiti को यही लगता है की वह जो काम कर रही है उस काम में उसे बहुत समय लगता है इसलिए वह उस work को समय से पूरा करना चाहती है but वह छोटी होने के कारण ऐसा नहीं कर पाती है

कौवा की दो नयी कहानी

बीरबल ने बचाया अकबर को नयी कहानी

इसलिए chiti को समय लग जाता है तुम बहुत बड़े हो तुम कही भी उड़ सकते है अपने लिए खाना भी ला सकते हो जबकि मुझे खाना लाने में काफी समय का प्रयोग करना पड़ता है यही कारन है की मुझे time लग जाता है और तुम सोचते हो की में बहुत hard work कर रही हु, kabootar अब पता चल जाता है की chiti क्या कहना चाहती है आज मौसम बहुत खराब लग रहा था चींटी को भी नज़र आ रहा था की आज बहुत तेज बारिश होने वाली है वह कबूतर से कहती है की आज का मौसम बहुत खराब होने वाला है.

 

chiti aur kabootar ki kahani

chiti aur kabootar ki kahani

kabootar कहता है की तुम सही कह रही हो आज मुझे पेड़ पर रहकर भी बर्रिश की बूंदो से कोई नहीं बचा सकता है तुम chiti हो और बहुत छोटी भी हो तुम आराम से पेड़ पर रह सकती है और पेड़ की छाल में जाकर बारिश से बच सकती हो जबकि में ऐसा नहीं कर सकता हु, chiti कबूतर की बात सुन रही थी उसे पता था की वह kabootar सही कह रहा है कुछ देर बाद बारिश भी आ जाती है और दोनों ही अपनी place पर चले जाते है कबूतर बारिश में भीग रहा था उसे बारिश लग रही थी जबकि चींटी को कोई भी बारिश नहीं लग रही थी

राजकुमारी और जादूगर बुढ़िया की कहानी

पक्षी ने दी परेशानी हिंदी कहानी

kabootar को लग रहा था की आज बारिश रात भर रुकने वाली नहीं है आज परेशानी का समाना करना पड़ेगा वह कबूतर परेशान हो गया था, अब उसे पता था की अगर रात भर भीगना पड़े तो बहुत मुश्किल हो सकती है kabootar अगले दिन बीमार हो गया था क्योकि वह बारिश में बहुत अधिक भीग गया था सुबह को वह chiti मिलने आती है but कबूतर बीमार हो गया था वह चींटी उसकी help करती है और कुछ दिन बाद वह कबूतर ठीक हो जाता है

Chiti ki kahani and chiti aur kabootar ki kahani

आज kabootar को पता चलता है की chiti मेहनत भी करती है और दुसरो की सहायता भी करती है उस दिन के बाद दोनों की बहुत अच्छी दोस्ती हो जाती है उस दिन के बाद कबूतर चींटी को मन गया था वह जो सोच लेती है उसे पूरा करती है. 

चींटी की दूसरी नयी कहानी : Chiti ki kahani 

chiti ki dusri kahani

chiti ki dusri kahani

सभी chiti काम कर रही थी यह दिन का मौसम था और गर्मी भी बहुत अधिक थी मगर वह रूकती नहीं है वह हमेशा  काम करती है चींटी को एक जगह पर एक कीड़े का छोटा बच्चा नज़र आता है वह उसे देखती है but उसके पास कोई नज़र नहीं आ रहा था chiti को लग रहा था की यह बहुत small है और कुछ नहीं कर सकता है चींटी सभी चींटी को बुलाती है और उस छोटे कीड़े को ले जाती है

राजा और प्रजा की नयी किड्स कहानी

पेड़ के भूत की जातक कथा

because वह कीड़ा अभी तो यहां पर अकेला है और कुछ नहीं कर सकता है वह सभी chiti उसे अपने बिल में ले जाती है वही पर उस कीड़े की देखभाल करती है क्योकि वह अभी बहुत small है जबकि यह कोई चींटी का बच्चा नहीं था but फिर भी उन्हें यही लगता है की उसकी मदद करनी चाहिए वह ऐसा ही कर रही थी वह कीड़ा धीरे धीरे बड़ा हो गया था अब वह ठीक था जब वह बड़ा हुआ तो सभी chiti को देखकर सोचने लगा की तुम मुझसे अलग क्यों हो

chiti ki new kahani

chiti ki new kahani

तभी chiti कहती है की बहुत समय पहले तुम हमे मिले थे तुम बहुत छोटे थे हमे यही लग रहा था की अगर तुम्हे बाहर छोड़ा जायगा तो तुम परेशानी में पड़ सकते हो इसलिए हम सभी चींटी तुम्हे यहां पर लेकर आ गयी थी, अब तुम बड़े हो गए हो अब तुम बाहर रह सकते हो यह सुनकर वह chiti की सहायता को भूल नहीं पा रहा था because वह चींटी उनके जैसी नहीं थी but फिर भी कीड़े को लग रहा था की यह चींटी बहुत अच्छी है जोकि सभी help करती है वह कीड़ा बाहर रहने के लिए चला जाता है 

Chiti ki kahani and chiti aur kabootar ki kahani

उनमे से एक chiti बाहर खाना लेने जाती है मगर मकड़ी के जाल में फंस जाती है वह निकल नहीं पा रही थी but इस बीच वही कीड़ा आ जाता है और चींटी को बचा लेता है वह चींटी कहती है की तुमने मेरी help की है तुम बहुत अच्छे हो वह कीड़ा कहता है की ऐसी कोई भी बात नहीं है तुमने तो मेरी सेवा की थी मुझे बड़ा किया है इसके बदले यह कुछ भी नहीं है सेवा का कोई मोल नहीं है अगर आपको यह कहानी (Chiti ki kahani and chiti aur kabootar ki kahani) पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे 

Read More Hindi Kids Story :-

सोने की हिंदी कहानी

चूहे और बिल्ली की नयी कहानी 

बंदर और मगरमच्छ की नयी कहानी

जादुई चक्की की कहानी

बच्चो की दो कहानी

परियों की कहानी में राजकुमार

छोटे बच्चों के साथ मछली की कहानी

छोटा जादूगर किड्स कहानी

लड़के की मेहनत नयी कहानी

राजा और रानी की अच्छी कहानी

आठ सबसे अच्छी कहानी

दो शेर की नयी कहानी

मेरी शक्ल का आदमी किड्स कहानी

सबसे अच्छी जातक कथा

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!