बुद्धि बड़ी या धन, story in hindi

Story in hindi | Hindi kahani

Story in hindi, hindi story, hindi kahani, बुद्धि बड़ी या धन हिंदी कहानी, किसी देश में एक राजा राज करता था वह बहुत ही धन वाला और घमंडी था और सोचता था कि धन के बल पर दुनिया के सब काम-काज चलते हैं वह सब से यही कहता करता था कि संसार में बेटा-बेटी दोस्त सब कुछ धन ही है

बुद्धि बड़ी या धन हिंदी कहानी :- story in hindi

story.jpg
story in hindi

story in hindi, राजा शिव से पैर तक धन के नशे में डूबा हुआ था परंतु उसके रानी बड़ी ही होशियार थी वह पैसे को कुछ भी नहीं समझती थी और अपने बुद्धि को ही सबको समझती थी उसका कहना था कि दुनिया पैसे के बूते उतनी नहीं चलती जितनी बुद्धि के बल पर चल सकती है, वह राजा को भी कई बार समझाती थी but राजा उसकी एक भी नहीं सुनता था 1 दिन राजा ने पूछा रानी सच कहो दुनिया में बुद्धि बड़ी है या धन रानी बोली महाराज यदि आप मुझसे सच ही पूछना चाहते हैं तो मैं बुद्धी को ही बड़ा समझती हूं बुद्धि से ही धन आता है और बुद्धि ना हो तो सब खजाने लूट जाते हैं राजपाल चौपट हो जाता है Because मूर्ख व्यक्ति ना तो राज्य कर सकता है और ना ही पैसे कमा सकता है पैसे की इतनी बुराई सुनकर राजा को बड़ा गुस्सा आया वह बोला रानी तुम्हें अपनी बुद्धि पर इतना घमंड है (story in hindi)

राजा की सोच कहानी

मैं देखना चाहता हूं कि तुम बिना पैसे के बुद्धि के सहारे कैसे काम करती हो ऐसा क्या कहा उसने रानी को न घर के बाहर एक मकान में रहने के लिए छोड़ दिया सेवा के लिए 249 कर भेज दिए खर्च के लिए ना तो पैसा दिया और ना ही किसी भी तरह का समाज रानी के शरीर पर जो जेवर थे वह भी उस में उतरवा लिए रानी मन ही मन कहने लगी मैं 1 दिन राजा को दिखा दूंगी कि संसार में बुद्धि भी कोई चीज है और पैसा कुछ भी नहीं है, नए मकान में जाकर रानी ने नौकरों गुरुद्वारा दो इट मंगवाए और उन्हें सफेद कपड़े में लपेटकर अपने नाम की मोहर लगा दी फिर नौकर को बुलाया और कहा तुम मेरे इस खजाने को धनु सेठ के घर ले जाओ कहना कि रानी ने यह खजाना भेजा है और 10000 मंगाए हैं, (story in hindi)

ईश्वर से बड़ा कोई नहीं

विश्वास की कहानी

कुछ दिनों में तुम्हारे रुपए लौटा दूंगी और इसे वापस छुड़वा ले जाऊंगी जब तक यह उनके पास गिरवी रहेगी नौकर सेठ के यहां चला गया इट पर रानी के नाम की मुहर देखकर सेठ समझ गया कि इसके अंदर कोई कीमती जेवर है उसने 10000 चुपचाप दे दिए और कुछ भी नहीं पूछा, पैसा लेकर रानी के पास आया रानी ने इन रुपयो से एक काम शुरू कर दिया रानी स्वयं व्यापार की देखरेख करने लगी थोड़े ही दिन में उसने इतना धन कमा लिया की सेट के रुपए वापस कर दिए और काफी रुपए बचा भी लिए जो रूपए उसने बचा है उससे उसने गरीबों के लिए दवा खाना और बच्चों को पढ़ने के लिए पाठशाला और अनाथालय खुलवा दिए

छोटी सी मुलाकात कहानी

चारों और रानी की जय जयकार होने लगी शहर के बाहर आने के मकान के आसपास हो उसे मकान बन गए और वहां अच्छी रौनक हो गई Because वहां रानी रहती थी पहले तो वहां सिर्फ जंगल ही था इधर रानी के चले जाने पर राजा अकेला राजगृह गया रानी राहत कार्य में राजा को सलाह भी देती थी और उसे सही निर्णय ले लेने में मदद भी करती थी, जो लोग राजा को मूर्ख बनाते थे उनकी दाल रानी के सामने नहीं कर पाती थी but अब जब से रानी चली गई है लोग राजा को लूटने लगे और उसका पागलपन आकर बहुत साफ खजाना उससे ले लिया राजा का मन किसी काम में नहीं लगता था वह अपना राजकाज मंत्रियों को देकर  देश घूमने के लिए निकल पड़ा जाते समय नगर के बाहर ही उसे कुछ ठग मिल गए

अलादीन का जादुई चिराग

उनमें से एक काना आदमी राजा के पास आकर बोला महाराज मैंने अपनी एक आंख आपके यहां 2000 में गिरवी रखी थी और आपने मुझसे वादा किया था कि जब आप जब मेरी आंख दोगे तो मुझे बहुत सारे पैसे दोगे राजा भोला भाई मेरे पास किसी की आंख नहीं है तो मंत्री के पास जाकर पूछो बोला महाराज में मंत्री को क्या जानू मैंने तो आपके पास ही अपनी आग गिरवी रखी थी आप ही मेरी आंख दो यदि आप मेरी आंख ना देंगे तो आपकी बड़ी बदनामी होगी

जीवन का सच

राजा बड़ा परेशान हूं आप बदनामी से बचने के लिए उसने जैसे तैसे 4000 उसे दे कर चलता किया कुछ दूर जाने पर एक बूढा आदमी उसके सामने आकर खड़ा हो गया पहले के समान वह भी कहने लगा महाराज मैंने अपना एक कान आपके यहां गिरवी रखा था रुपया लेकर मेरा काम मुझे वापस कीजिए राजा ने उसे भी रुपया देकर विदा किया इस प्रकार रास्ते में कई आए और राजा से एक एक करके उसके पास जितने भी रुपए थे सब लूट कर ले गए वह खाली हाथ राजकुमारी शोभाला के देश में पहुंचा राजकुमारी जो बाला सिंह देश की राजकन्या थी उसने यह कसम खा रखी थी कि जो भी आदमी उसे सतरंज में हराएगा

हौसला बनाये रखना

वह उसके साथ विवाह कर लेगी सैकड़ों राजकुमार आते और हार कर जेल की हवा खाते बहुत से राजकुमार जेल में पड़े थे मुसीबत का मारा राजा भी उसी देश में पहुंच गया जब राजकुमारी की सुंदरता की खबर उसके कानों में पड़ी तो उसकी भी इच्छा उसके साथ शादी करने की हुई राजकुमारी ने महल से कुछ दूरी पर एक बंगला बनवा दिया था विवाह की इच्छा से आनेवाले इसी बंगले में रुकते थे, (story in hindi)

एक दूरबीन का राज

राजा भी उसी बंगले में जा पहुंचा पहरेदार ने तुरंत राजकुमारी को खबर दी थोड़ी देर बाद एक तोता उड़ कर आया और राजा की बाहों पर बैठ गया उसके गले में एक चिट्ठी बंधी थी जिसमें विवाह की शर्त लिखी थी कि अगर तुम शतरंज के खेल में हार गए तो तुम्हें जेल की हवा खानी पड़ेगी थोड़ी देर में खेल शुरु हुआ राजा शतरंज के खेल में हार गया और जेल में डाल दिया गया, राज्य की हालत बिगड़ने और राजा के नगर छोड़कर चले जाने की बात वह मालूम हुई तो उसे बड़ा दुख हुआ वह राजा तब का पता लगाने निकली कुछ ही दूर चली थी कि मैं ही पुराने ठग फिर आ गए सबसे पहले वही काना आया और कहने लगा रानी आपके पास मेरी आंख 2000 में गिरवी रखी थी आप अपने रुपए ले लो और मेरी आंख वापस देदो

जादूगर की हिंदी कहानी

रानी बोली बहुत ठीक मेरे पास बहुत से लोगों की आंखें गिरवी रखी हैं उन्हें मैं तुम्हारी भी होगी एक काम करो तुम अपनी दूसरी आंख निकाल कर मुझे दो उसके मेल से मै वह आप तुम्हें बता दूंगी रानी का जवाब सुन कर थक गया वह हाथ पैर जोड़कर माफी मांगने लगा अंत में ठगने विनती करके 4000 देकर अपनी जान बचा ली यही हाल काम वाले ठक का भी हुआ जब उसने देखा की रानी का नौकर दूसरे कान काटना ही वाला है तो उसने भी 4000 रानी को देकर अपना पीछा छुड़वा लिया और कहने लगा यह रानी तो बहुत तेज है ठाकुर से अपना पीछा छुड़ाकर रानी आगे बढ़ी और पता लगाते लगाते राजकुमारी जो बाला के देश में जा पहुंची

गोपाल की हास्य हिंदी कहानी

राजा के जेल जाने का समाचार सुनकर उसे बड़ा दुख हुआ वह राजा को जेल से छुड़ाने का उपाय सोचने लगी उसने पता लगाया की राजकुमारी जो बोला किस प्रकार शतरंज खेलती है सारी बातों का पता लगाकर उसने उसने आदमी का भेष बना लिया अब रानी आदमी के वेश में राजकुमारी जो बोला के महल में चली गई और शतरंज के खेल में राजकुमारी जो बाला रानी से हार गई राजकुमारी के विवाह की तैयारी होने लगी रानी बोली विवाह तो शर्त पूरी होते ही हो गया

बिना सोचे विचारे

अब तो विदा होने की रस्म बाकी है राजकुमारी के विदा होते समय ही सारे कैदियों को छोड़ दिया गया और रानी राजकुमारी को विदा कराकर हाथी घोड़ों के साथ बहुत सारा धन लेकर अपने नगर को चली कुछ दिन में वह अपने नगर आ गई और अपने मकान में रहने लगी राजा जब लौटकर आया तो उसने देखा रानी के मकान के पास पाठशाला अनाथालय अस्पताल सब बन गए हैं और बड़ी-बड़ी इमारते बन गई हैं

महात्मा बुद्ध की सीख

देखकर राजा सोचने लगा कि मैंने तो एक पैसा भी नहीं दिया था उसने यह लाखों की इमारत कैसे बन वाली राजा को रानी की बुद्धिमता पर विश्वास हो गया राजा सर नीचा कर लिया फिर कुछ देर सोच कर रानी से कहने लगा रानी अभी तक मैं बड़ी भूल में था तुमने मेरी आंखें खोल दी अभी तक मैं पैसों को ही सब कुछ समझता था पर आज मेरी समझ में आ गया कि बुद्धि के आगे पैसा कुछ नहीं है, (story in hindi)

गमले वाली बूढ़ी औरत

story in hindi, hindi story, hindi kahani, कुछ दिनों बाद राजकुमारी की शादी राजा से हो गई और दोनों रानियां मिलजुल कर रहने लगे अक्सर लोग पैसे का घमंड करते हैं कुछ लोग सोचते हैं कि जिनके पास पैसा है वही सबसे बड़े हैं but सच्चाई इससे अलग है बुद्धि के बिना रुपया पैसा सब बेकार है अगर हमारे पास बुद्धि नहीं होगी तो हमारे पास कितना भी पैसा हो दुनिया हमसे लूट कर उसे खा जाएगी और हम कुछ भी नहीं कर सकते.

 

बुद्धि बड़ी या धन दूसरी हिंदी कहानी, story in hindi

story in hindi, hindi story, एक दिन राजा ने सोचा की किसी को भी बिना बताये मुझे दूसरे राज्य के नगर में जाना चाहिए, उस जगह क्या होता है यह सब कुछ पता करना चाहिए, राजा यह सोचकर वेशभूषा बदलकर चलते है कुछ समय बाद वह उस नगर में पहुंच जाते है राजा यह बात भी जानना चाहते है की वह हमारे राज्य के बारे में क्या सोचते है, वह एक दूकान के पास जाते है उनसे बात करते है, फिर आगे बढ़ जाते है, (story in hindi)

दो शेर की नयी कहानी

राजा इस बता को नहीं जानते है की एक सैनिक उनका पीछा कर रहा है शायद उसे शक हो गया है तभी वह उनका पीछा कर रहा था राजा को कुछ भी पता नहीं था, कुछ समय बाद राजा को भूख लगती है वह एक जंगल की और जाते है वही पर भोजन करते है तभी दो सैनिक उनके पास आते है वह कहते है की आपको पकड़ा जाता है उसके बाद आपको राजा के पास ले जाया जाएगा, Because हमे लगता है की आप यहां पर जासूसी करने आये है अब राजा फंस गए थे, Because लगता था की यहां से नीलना बहुत मुश्किल है

आठ सबसे अच्छी कहानी

इसलिए राजा भागने की अपनी कोशिश करते है, तभी उन्हें रस्ते में एक आदमी मिलता है राजा कहते है की मुझे इन सैनिक से बचा लो तो तुम्हे बहुत सारा धन मिलेगा वह आदमी कहता है की आपको लगता है की यहां पर धन काम आ सकता है, राजा कहते है की तुम्हे धन की जरूरत नहीं है वह आदमी कहता है की धन की जरूरत सभी को है, मुझे पता चल गया है की आप दूसरे राज्य के राजा हो, आपकी नज़र में सब कुछ धन है, but आप नहीं जानते हो की धन से बड़ी बुद्धि होती है, जो किसी भी मुसीबत को दूर कर सकती है

राजकुमारी और जादूगर बुढ़िया की कहानी

story in hindi, hindi story, hindi kahani, वह राजा को सैनिक से बचा लेता है यहां पर राजा का धन काम नहीं आया था, राजा इस बात को समझ गए थे, की जीवन में धन सब कुछ नहीं होता है बुद्धि से बड़ा कुछ नहीं है Because जिसके पास बुद्धि होती है वह सब कुछ हासिल कर सकता है, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो शेयर करे,

Read More Hindi Story :-

पेड़ के भूत की जातक कथा

सबसे अच्छी जातक कथा

राजा और प्रजा की नयी किड्स कहानी

बीरबल और नगर की कहानी

कबीले के पास की गुफा हिंदी कहानी

आदमी की मूंगफली किड्स कहानी

मेरी किस्मत कब बदलेगी कहानी

राजकुमारी का विवाह किड्स कहानी

धन का पेड़ बहुत छोटा है किड्स कहानी

जादुई नाव की कहानी

अकबर और बीरबल की साथ नयी कहानी 

दादी माँ की कहानी

जामुन की तलाश बच्चों की कहानी

खाने की समस्या बच्चों की कहानी

अकबर बीरबल की मजेदार नयी कहानियां

अकबर-बीरबल और मुखिया की कहानी

नानी की पुरानी कहानी

साथ देना जरुरी एक कहानी

भाषाओं का ज्ञान कहानी

अनोखी भाषा की हिंदी कहानी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!