अपनी अपनी सोच, small moral stories in hindi

small moral stories in hindi

अपनी अपनी सोच  

moral stories.jpg

मोरल हिंदी कहानी

small moral stories in hindi, ये गाव की कहानी है जिसमे दो पुजारी रहते थे दोनों पुजारी भगवन की रोज पूजा करते थे, दोनों पुजारी ने अपनी एक झोपडी बनाई हुई थी और दोनों उसी झोपडी में रहते थे, झोपडी गाव में ही थी और गाव में कुछ घर पक्के और कुछ घर कच्चे थे और साथ ही कुछ घर ऐसे बने हुए थे जैसे पुजारी की झोपडी बानी थी, एक दिन शाम के वक़्त बहुत तेज आंधी आयी और अंधी के साथ बारिश भी बहुत तेज हो रही थी दोनों पुजारी मंदिर में पूजा कर रहे थे और

 

फिर गाव वालो ने पुजारी के भोजन का प्रभंध किया और दोनों पुजारी ने भोजन किया और बारिश का रुकने पर इंतज़ार कर रहे थे, बारिश हो बहुत तेज हो रही थी तभी हलकी हुई बारिश और दोनों पुजारी अपनी झोपडी की और चल दिए जब वे अपनी झोपडी के पास गए तो देखा की उनकी झोपडी में आग लग रही थी और झोपडी पूरी तरह से टूट गयी थी,

 

तभी उसमे से एक पुजारी ने खा की देखो भगवन ने क्या किया हमारी ही झोपडी को जल दिया और हमे मुसीबत में डाल दिया, हम दिन भर भगवन की पूजा करते है और उन्होंने ही हमारी पूजा का ये फल दिया, गाव में और भी तो लोग है जो भगवन की पूजा तक भी नहीं करते है और कुछ तो दिन भर चोरी करते है उनके मकानों को तो कुछ भी नहीं हुआ सभी लोग सलामत है और एक हम है जो भगवन को पूजते है और भगवान ही हमारे लिए मुसीबत लाते है, ये केसा इन्साफ है भगवन तेरा,   

Read More-राजा की सोच कहानी

पहला पुजारी अपनी बात कह कर चुप हो गया और तभी दूसरा पूज्री वह पर आ गया और बोला की भगवान् आप हर जगह आप सभी का भला करते है पहले मुझे विस्वास नहीं था की आप है या नहीं पर अब मुझे पूरा विस्वास हो गया है की आप हर जगह मौजूद है आप पर मुझे पूरा विस्वास है, आप ही हमारे जीवन को चलते है आप ही जब हम कुछ खा पाते है आप ही हमारे साथ है, आप ही है तो सब कुछ है, इसिलए आपको सब पूजते है क्योकि आप एक विस्वास है, आप ही सचाई है और झूट पर आपने ही विजय पायी है,

Read more-एक धनी व्यक्ति

भगवान अब में आपकी पूजा निरन्तर करता रहुगा अब मुझे आप पर पूरा विस्वास हो गया आप चाहते तो इस झोपडी को पूरा जल सकते थे पर आपने इस बिलकुल भी नहीं किया आप ने हमारे लिए अड़धी झोपडी को बचा लिया जिससे हम इस झोपडी में आराम कर सके आप हमे कभी नहीं भूलते है आप हमारे साथ हमेशा रहते है इसलिए आज हम यह पर है अगर आप न हो तो शायद हम भूखे ही रहते,

 

इस बात को सुनकर पहले पुजारी ने सोचा की मेने भगवान् को कितना गलत समझ वो हमेशा हमारे साथ रहते है वो ही है जो हमारे खाने का इंतज़ाम करते है और हमे भूखा नहीं रहने देते,

Read More-अलादीन का जादुई चिराग

दोस्तों हमेशा याद रखना की बात को देखने का नज़रिया दोनों पुजारी का अलग था पर बात एक ही थी इसलिए हमेशा कठिन परिस्थियों में कभी नहीं खबरन भगवान कुछ देर के लिए सभी की परीक्षा लेते है उन परिस्थिया का सामना करना चाहिए कभी घबराना नहीं, भगवान् हमेशा आपके साथ होते है, 

 

 

एक सीख

एक गाव में एक लड़का रहता था लड़का बहुत ही शैतान था शैतानी से सारा गाव बहुत ही परेशान था, वः लड़का किसी भी घर की अलमारी में पत्थर मर देता या किसी के जानवर खोल देता, गाव वाले उस लड़के की हरकत से बहुत ज्यादा परेशान थे हर रोज उसकी शिकायत लेकर उसके घर चले जाते, उस लड़के पिटाई हो जाती पर भी उसमे सुधार ही नहीं हो पर रहा था, फिर उस लड़के छुट्टी पद गयी और उसकी माँ उसे अपने घर ले गयी और वह भी उस लड़के ने जाकर वही काम करने लगा और एक दिन उसके नाना जी उस लड़के को बुलाया और अपने साथ लेकर गए और खा की अगर तुम्हे में एक काम दू  और तुमने वो काम कर दिया तो तुम शैतानी कर सकते है और अगर नहीं कर पाए तो तुम्हे ये सब छोड़ना होगा,

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी

फिर लड़के ने अपने नाना की बात मान ली और उनके साथ खेत पर चला गया खेत पर पहोचने पर नाना जी ने एक चोट पेड़ दिखाया और कहा की ऐसे उखाड़ दो, लड़के ने पेड़ उखाड़ दिया क्योकि वह छोटा पौधा था , अब आगे चलने पर कहा की इस पेड़ को भी उखाड़ दो पर वो पेड़ तो उससे हिला भी नहीं,

Read More-हौसला बनाये रखना

small moral stories in hindi, अब नाना जी ने कहा की देखो तुमसे ये पेड़ टूटा ही नहीं पता है ये क्यों नहीं टूटा. क्योकि जैसी हमारी आदत है वासे ही ये पेड़ है अगर हमारी गन्दी आदत हमे पड़ जाए तो वो कभी नहीं जाती ,इसलिए समस्य रहते इन अददतो को छुड़ा देना चाहिए तभी हम अच्छी अदालत को अपने अंदर ले पाएंगे और तभी हम अच्छे इंसान बन पायंगे ये बात उस लड़के को जीवन भर याद रही,

Read More-साईकिल की कहानी

Read More-बाहुबली के क्रोध की कहानी

Read More-निस्चन ऋषि की कहानी

Read More-क्रोध से दूर रहे कहानी

Read More-दो मूर्खों की कहानी

Read More-बुद्धि की परीक्षा की कहानी

1 thought on “अपनी अपनी सोच, small moral stories in hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!