राजा के घोड़े की तीन हिंदी कहानी, hindi kahani com

Hindi kahani com | Hindi story of king

Hindi kahani com, hindi story of king, राजा के घोड़े की तीन हिंदी कहानी, एक राज्य में एक राजा राज्य करता था एक बार राजा का घोड़ा भाग गया राजा के सैनिक उसे ढूंढने के लिए जंगल में गए जंगल में एक झोपड़ी थी जिसके बाहर एक साधु महात्मा अपनी तपस्या कर रहे थे सैनिकों ने साधु को देखकर पूछा अरे साधु क्या तूने राजा का घोड़ा देखा है

राजा के घोड़े की तीन हिंदी कहानी : hindi kahani com

Hindi kahani com
Hindi kahani com

hindi kahani com, साधु ने कहा नहीं मैं तो अंधा हूं सैनिक जंगल में घोड़े को ढूंढ कर चले गए और “राजा” के पास जाकर बोला कि आप का घोड़ा कहीं नहीं मिला “राजा” को वह घोड़ा बहुत पसंद था उसने अपने सेनापति को घोड़ा ढूंढने के लिए भेजा सेनापति जंगल में गए और उसे भी वही साधु मिला सेनापति ने साधु से कहा साधु क्या तुमने “राजा” का घोड़ा देखा है साधु ने कहा अंधे को कैसे दिखाई दे सकता है मैं तो अंधा हूं क्या तुम्हें यह नहीं देख सकता सेनापति  महल में चले गए और “राजा” बोले कि आप का घोड़ा नहीं मिला वहां तो एक साधू बैठा था

बीरबल और नगर की कहानी

“राजा”  ने अपने मंत्री को घोड़ा ढूंढने के लिए भेजा मंत्री जंगल में गया उसे भी वही साधु मिला मंत्री ने कहा साधु जी क्या आपने “राजा” का घोड़ा कहीं देखा है इस बार साधु ने कहा घोड़े के भागने की आवाज तो सुनी थी पर मैं देख नहीं सकता इसीलिए मुझे नहीं पता मंत्री ने सारी बात जाकर “राजा” को बताइए अब राजा जी समझ में सब आ गया राजा ने कहा इस बार मैं जाऊंगा घोड़े को ढूंढने राजा जंगल में गया उसने साधु को देखा सबसे पहले साधु के पैर छुए और हाथ जोड़कर बोला साधु जी क्या आपने मेरे घोड़े को कहीं आते जाते देखा है साधु ने कहा मेरी झोपड़ी में में है “राजा” के सैनिकों ने घोड़े को महल में ले गए “राजा” ने कहा क्या आप जानते थे तो आपने पहले क्यों नहीं बताया

बुढ़िया और बच्चो की कहानी

Hindi kahani com, Hindi story of king,, साधु ने कहा मैं अंधा हूं बहरा नहीं जो सही से बोल नहीं सकते मैं उनको कैसे सुन सकता हूं अरे साधु साधु साधु अगर ऐसे कह कर ही तुम दूसरों से बोलोगे तो कोई तुम्हारी बात कैसे सुन सकता है “राजा”  की समझ में सारी बात आ गई उसने अपने सैनिक सेनापति और मंत्री को दंड दिया और कहा कि अगर तुम चाहते हो कि तुमसे कोई अच्छा बोले प्यार से बोले तो तुम्हें भी उसके साथ अच्छा और इज्जत से बोलना होगा.

 

राजा का घोड़ा और गुफा की हिंदी कहानी :- hindi kahani com

hindi kahani com, राजा अपने घोड़े पर जा रहे थे तभी कुछ लोग जो जंगल में रहते थे, वह राजा को पकड़ लेते है वह राजा को अपनी गुफा में ले जाते है, “राजा” उनसे कहते है आप यह क्या कर रहे है, जबकि यह ठीक नहीं है अगर तुम सजा से बचना चाहते हो तो मुझे छोड़ दो, वह लोग कहते है हम आपको छोड़ सकते है, but आपके पास जो भी सामान है, वह हमे देना होगा अगले दिन अगर आप यहां पर आते है, तो हम यहां पर नहीं मिलेंगे

जामुन की तलाश बच्चों की कहानी

इसलिए हमे सजा देना आपकी भूल है, अब तुम राजा हो सकते हो but इससे हमे कोई मतलब नहीं है “राजा” सोचते है की मुझे कुछ ऐसा करना होगा जिससे सेनापति यहां पर आ जाये, but यह कैसे होगा क्योकि यह तो कुछ समय बाद यहां से चले जायँगे राजा कहते है की जो मेरे पास धन है वह तुम ले सकते हो, but अगर तुम कुछ समय का इंतज़ार करते हो तो तुम्हे इससे भी अधिक धन मिल सकता है वह गुफा मे रहने वाले कहते है, यह कैसे होगा, हमे बताये, “राजा” कहते है मेरे पास यह माला है,

अकबर-बीरबल और मुखिया की कहानी

अगर तुम यह माला कुछ समय बाद लेते हो तो यहां पर बहुत अधिक माला बन सकती है क्योकि यह रात के समय होता है अगर तुम कुछ समय इंतज़ार करते हो तो तुम्हे बहुत अधिक मिल सकता है जब तक में तुम्हारे पास रहता हु यह सुनकर गुफा में रहने वाले कहते है, यह तो ठीक है, हमे कोई परेशानी नहीं है “राजा” अपने घोड़े को खोल देते है अभी रात होने में बहुत अधिक समय बचा हुआ है, “राजा” का घोड़ा महल चला जाता है, सेनापति राजा के घोड़े को देखते है इसका मतलब “राजा” खतरे में है, वह अपनी सेना लेकर घोड़े के पीछे जाते है,

अकबर बीरबल की मजेदार नयी कहानियां

उधर “राजा” गुफा में रहने वालो से पूछता है यह तुम क्यों करते हो, यह सब तुम्हे नहीं करना चाहिए अच्छी बात नहीं है सभी लोगो को परेशानी होती है, वह कहते है की जिनके पास धन बहुत अधिक है उन्हें परेशानी क्यों होगी, हम किसी गरीब के साथ ऐसा नहीं करते है “राजा” कहता है, मुझे पता है की अगर तुम्हे पकड़ लिया जाये तो तुम्हे सजा मिल सकती है, वह सभी कहते है हम यहां से दूर चले जाते है इसलिए कोई हमे पकड़ नहीं सकता है कुछ समय बाद ही सेनापति अपने सैनिक के साथ में आता है वह सभी पकड़े जाते है

खाने की समस्या बच्चों की कहानी

Hindi kahani com, Hindi story of king, यह कैसे हो गया था, उन्हें कुछ समझ नहीं आया था क्योकि राजा भी हमारे साथ में था फिर सेना यहां पर कैसे आ गयी है “राजा” कहते है यह सब मेरे घोड़े की वजह से हुआ है, वह सेनापति को ले आया है वह नहीं जानते थे की कोई जानवर समझदार भी हो सकता है वह सभी पकड़े जाते है, “राजा” कहते है की जो लोग बुरा काम करते है उनके साथ बुरा ही होता है, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है, तो शेयर करे,

राजा का घोडा नयी कहानी : hindi kahani com, hindi story of king

“राजा” ने देखा की उनका घोड़ा कही चला गया है उन्हें नहीं मिल रहा था जब यह बात महल गयी की “राजा” का घोड़ा उस जगह पर नहीं है तो सभी लोगो को बहुत अजीब लग रहा था Because राजा का घोड़ा किस जगह जा सकता था यह रात का समय होगा जब घोड़ा गया होगा, Because सुबह जब देखा तो घोड़ा नहीं था “राजा” को अब बहुत गुस्सा आ रहा था Because किस जगह पर जा सकता था, “राजा” ने सैनिक को बुलाया था

आठ सबसे अच्छी कहानी

जो महल के बाहर पहरा दे रहे थे, उन्होंने कहा की घोड़ा बाहर नहीं गया है Because वह सभी पहरा दे रहे थे “राजा” को लग रहा था की सैनिक झूट बोल रहे है तभी साधु जी आते है वह देखते है की “राजा” आज बहुत गुस्से में लग रहे है वह पूछते है की क्या हुआ है तभी साधु जी को पता चल जाता है की घोडा कही भी नहीं मिल रहा है, साधू बाबा कहते है की आप “राजा” है आपको शान्ति से काम लेना होगा, आपको गुस्सा नहीं करना चाहिए, यह अच्छी बता नहीं है अगर आप गुस्से को करते है तो इससे राज्य पर असर पड़ सकता है

जादुई घड़े की नयी हिंदी कहानी

Hindi kahani com, Hindi story of king, but “राजा”  कहते है की आप ही बताये की जब घोड़ा नहीं मिलेगा तो क्या होगा, साधु बाबा कहते है की घोडा मिल जायेगा, कुछ समय बाद ही एक सैनिक आता है वह कहता है की घोडा मिल गया है वह महल के अंदर ही था राजा को अब अच्छा लगता है Because उन्हें घोडा मिल गया था जब हमारी कोई भी चीज नहीं मिलती है तो हमे गुस्सा आता है but आपको यह सोचना चाहिए, गुस्सा करने से वह चीज मिल नहीं जाएगी, बल्कि शांत मन से काम लेना चाहिए अगर आपको यह Hindi story of king पसंद आयी है तो शेयर करे,

 

राजा और भिखारी की नयी हिंदी कहानी :- Hindi kahani com

“राजा” के पास एक भिखारी आता है, वह कहता है आपके सैनिक हमे खाना नहीं दे रहे है, जबकि आपने आज खाना हमारे लिए भी बनवाया है “राजा” को जब यह बात पता चली तो वह बहुत गुस्सा करते है, क्योकि वह नहीं चाहते है की नगर में किसी को भी कोई परेशानी हो, वह सैनिक को बुलाते है, उनसे कहते है की आप यह सब कुछ क्या कर रहे है, इन्हे खाना क्यों नहीं दिया जा रहा है, सैनिक को बहुत बुरा लगता है क्योकि वह भिखारी की वजह से उसे सुनना पड़ा था,

 

उस वक़्त को उस भिखारी को खाना मिल जाता है लेकिन वह सैनिक अब उसे सजा अदना चाहता है क्योकि उसने “राजा” से शिकायत की थी, जिसकी वजह से “राजा” ने सैनिक को बुलाया था, सैनिक भिखारी के पास जाता है उसे पकड़ लिया जाता है, भिखारी इस बात को जानता था, उस सैनिक ने उसे क्यों पकड़ा है, लेकिन वह कुछ नहीं कर सकता था, उस भिखारी को जब सैनिक ले जा रहा था, तभी उसका साथी सब कुछ देख लेता है वह समझ जाता है की उसका साथी पकड़ा गया है

 

वह दुसरा भिखारी “राजा” के पास जाता है, उन्हें सब कुछ बता देता है, क्योकि उसके दोस्त ने सब कुछ बता दिया था, राजा उस सैनिक को बुलाता है उससे सब कुछ पूछा जाता है अब उस भिखारी को छोड़ दिया जाता है, यह सब कुछ उस दोस्त की वजह से होता है, क्योकि उसने “राजा” को सब कुछ बता दिया था, “राजा” ने सैनिक को सजा दी थी, क्योकि “राजा” बहुत अच्छे है वह सभी फैसले अच्छे से लेते है अगर “राजा” अपनी जिम्मेदारी को समझते है तो किसी को कोई भी समस्या नहीं आती है,

Read More Hindi Story :-

बीरबल ने बचाया अकबर को नयी कहानी

राजकुमारी और तितली की कहानी

परियों की नयी कहानी

जादुई जूते की कहानी

शेर और बकरी की कहानी

राजा और प्रजा की नयी किड्स कहानी

कौवा की दो नयी कहानी

नानी की पुरानी कहानी

साथ देना जरुरी एक कहानी

भाषाओं का ज्ञान कहानी

अनोखी भाषा की हिंदी कहानी

1 thought on “राजा के घोड़े की तीन हिंदी कहानी, hindi kahani com”

  1. Jitendra Patel

    Your content are very good.

    Recently, I have created a hindi blog.Please visite and have a look on my content and provide some useful suggestions so that I can improve them.Thanks.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!