Budhi dayan horror story in hindi | बूढी डायन रियल हॉरर कहानी

Budhi dayan horror story in hindi

Budhi dayan horror story in hindi, बूढी डायन रियल हॉरर कहानी, वह बूढी डायन कभी भी नज़र आ सकती थी, अभी तक जिसने भी उसे देखा था वह एक ही बात कहता था की इस गांव के बाहर एक बूढी डायन घूमती है जब मेने उसे देखा था तो बहुत डर लग रहा था, मुझे कुछ भी समझ नहीं आया था उसे देखकर बहुत डर लगता है वह हमेशा ही गांव से बाहर के रस्ते पर मिलती है but जो गांव से बाहर मिलती है वह गांव के अंदर भी आ सकती है वह Budhi dayan कुछ भी कर सकती है, सभी को इस बात की चिंता थी वह गांव वाले जानते थे but कुछ नहीं कर सकते थे

Budhi dayan horror story in hindi : बूढी डायन रियल हॉरर कहानी

Budhi dayan horror story in hindi

Budhi dayan horror story in hindi

सभी गांव वालो ने एक सभा बुलाई थी इसमें उन्होंने कहा की कोई भी गांव से रात के समय में बाहर नहीं जायेगा Because हम भी इस बात को नहीं जानते है की Budhi dayan क्या कर सकती है सभी ने मिलकर यही सोचा की ठीक है हम इस बात को समझ गए है कोई भी इस बात के बारे में बात नहीं करेगा वह समझ गए थे, एक दिन रत के समय में एक गांव वाला घर आ रहा था जबकि सभी को मना किया गया था but काम की वजह से उसे देर हो गयी थी

दहशत की एक रात कहानी

वह डर भी रहा था उसे Budhi dayan का डर लग रहा था आज उसे बहुत देर हो गयी है वह कुछ भी समझ नहीं पा रहा था, वह गांव के बाहर था but अभी उसे गांव में जाना था वह अपने चारो और देख रहा था but उसे अभी तक कुछ भी नज़र नहीं आया था वह बूढी डायन कही से भी आ सकती है उसका डर उसे आगे नहीं जाने दे रहा था तभी उसे बूढी डायन की आवाज आती है वह डर जाता है Because उसे लग रहा था की Budhi dayan उससे बात कर रही है

तालाब की चुड़ैल नयी कहानी

वह रुक जाता है वह बूढी डायन उसके पीछे आती है वह कहती है की में गांव के अंदर नहीं आ सकती हु इसलिए यहां पर रहती हु मुझे तुमसे कुछ कहना है शायद यही वजह है की में सभी से बात करना चाहती हु but कोई भी बात करने के लिए तैयार नहीं होता है शायद वह सभी मुझसे डर जाते है में Budhi dayan हु यह बात तुम भी जानते हो but मुझे लगता है की तुम मेरी मदद कर सकते हो वह आदमी कहता है की मुझसे कुछ भी नहीं होगा तुम मुझे छोड़ दो,

डर की रियल कहानी

वह बूढी डायन कहती है की तुम्हे मुझसे डरने की जरूरत नहीं है में तुम्हे कुछ नहीं कह सकती हु में गांव के अंदर नहीं जा सकती इसलिए में तुमसे मदद मांग रही हु, मेरा बेटा अकेला ही इस गांव में रहता है वह बहुत दुखी होगा मुझे पता है की वह मुझे याद करता है उसे नहीं पता है की में Budhi dayan बन चुकी हु मेरा एक अधूरा काम है जिसकी वजह से आज भी में यहां पर हु अगर तुम यह काम उसे बता दो तो में यह अपर नहीं रह सकती हु वह आदमी अब सोचने लगता है

भूत की एक सच्ची घटना

वह कहता है की तुम्हारी बाटे सुनकर अब मुझे डर नहीं लग रहा है जबकि तुम बूढी डायन हो but में इस बात को जानता था की तुम नुकसान पहुंचा सकती हो but अब मुझे पता चल गया है की मुझे कोई डर नहीं है तभी वह बूढी डायन कहती है की मेरा बेटा इसी गांव में रहता है शायद तुम भी जानते हो वह आदमी समझ गया था की वह किसकी बात कर रही है तुम्हे मेरे बेटे से यह कहना है की उसे चिंता करनी की जरूरत नहीं है वह गरीब नहीं है उसे बहुत सारा धन मिल सकता है

डायन की डरावनी कहानी

यह धन मेने रखा था मगर में उसे धन का पता नहीं बता पायी थी अगर वह धन उसे मिल जाता है तो में यहां पर नहीं रह सकती हु में यह से चली जाउंगी यह बात में तुम्हे बता रही हु की वह धन उसे किस जगह पर मिलेगा वह Budhi dayan धन का पता देती है उसके बाद वह आदमी उस घर के पास जाता है और उसके बेटे को सब कुछ बता देता है पहले तो बेटे को विश्वाश नहीं होता है but धन वही पर मिलता है अब उसे यकीन आ जाता है

Budhi dayan horror story in hindi

वह Budhi dayan अब कही भी नज़र नहीं आती है सभी गांव वालो को पता चल गया था की क्या बात अब वह बूढी डायन क्यों नज़र नहीं आती है अब कोई भी गांव वाला डर नहीं रहा था उस लड़के को धन मिल गया था और वह बूढी डायन अब जा चुकी थी उसने किसी को भी नुक्सान नहीं पहुंचाया था अगर आपको यह बूढी डायन रियल हॉरर कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे 

Read More Horror Story :-

जादुई भूत की कहानी

एक डायन का साया भूत की कहानी 

कोई मिल गया हॉरर कहानी

वह कौन थी हिंदी कहानी

राजकुमार की खोज हिंदी कहानी

 राजा और भूत की कहानी

जंगल की भयानक रात कहानी 

भूत की तस्वीर नहीं आयी

दहशत की एक रात कहानी

किले का मुख्य द्वार डरावनी कहानी

राजमहल की हिंदी कहानी

होटल गायब हो गया डरावनी कहानी

एक परछाई नज़र आती है भूत कहानी

भूत का किला हिंदी घोस्ट स्टोरीज

पीपल का भूत

चुड़ैल उस रास्ते पर आज भी है

दूसरा जन्म भूत की कहानी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!