Animal kahani in hindi, मूर्ख भेड़िया की हिंदी कहानी

Animal kahani in hindi

Animal kahani in hindi, मूर्ख भेड़िया की हिंदी कहानी, एक बार की बात है एक घने जंगल के पास दो राजाओं के बीच बहुत ही घोर युद्ध हुआ. जसमे एक की हार हुई और दूसरा जीत गया. दोनों राजाओ की सेनाएं अपने अपने नगरों को वापिस चली गई. बस, सेना का एक ढोल पीछे ही रह गया था. उस ढोल को बजाकर सेना के साथ गए रात को वीरता की कहानियां सुनाते थे.

मूर्ख भेड़िया की हिंदी कहानी :- Animal kahani in hindi

Animal kahani in hindi
Animal kahani in hindi

Animal kahani in hindi, युद्ध के बाद एक दिन बहुत ही तेज आंधी का आगमन हुआ. आंधी के जोर से वह ढोल लुढकता हुआ , एक सूखे बरगद पेड के पास जाकर टिक गया. उस बरगद पेड की सूखी टहनियां ढोल से इस तरह से सट गई थी कि तेज हवा चलते ही ढोल पर टकरा जाती थी और ढमाढम की गुंज्ज की बहुत ही तेज आवाज होती. एक भेड़िया उस क्षेत्र में घूमता था. जैसे ही उसने ढोल की आवाज सुनी. वह बडा भयभीत हुआ.

अकबर और बीरबल की कहानी

ऐसी अजीब आवाज बोलते पहले उसने किसी जानवर को नहीं सुना था. भेड़िया ढोल को एक जानवर समझ रहा था और ये सोचने लगा कि यह कैसा जानवर हैं, जो ऐसी जोरदार बोली बोलता हैं. भेड़िया छिपकर ढोल को देखता रहता और यह जानने के लिए कि यह जीव उडने वाला हैं या चार टांगो पर दौडने वाला. एक दिन भेड़िया झाडी के पीछे छुप कर ढोल पर नजर रखे था. तभी पेड से नीचे उतरती हुई एक गिलहरी कूदकर ढोल पर उतरी.

जल परी की कहानी

ऊंट और सियार की कहानी

हलकी सी ढम की आवाज भी हुई. गिलहरी ढोल पर बैठी दाना कुतरती रही. भेडिया बड बडाया और कहने लग गया की यह कोई हिंसक जीव नहीं हैं. मुझे भी इससे डरना नहीं चाहिए. भेड़िया फूंक फूंककर कदम रखता ढोल के निकट गया. ढोल का उसे न कहीं सिर नजर आया और न ही पैर. तभी हवा के झुंके से टहनियां ढोल से टकराईं और ढम की आवाज हुई और भेड़िया उछलकर पीछे जा गिरा. भेड़िया बोला ये तो बाहर का खोल हैं.

शेखचिल्ली की दुकान

छोटा भीम और जादूगरनी

जीव इस खोल के अंदर हैं. आवाज बता रही हैं कि जो कोई जीव इस खोल के भीतर रहता हैं, वह मोटा ताजा होना चाहिए. चर्बी से भरा शरीर यही इसका. तभी ये ढम ढम की जोरदार बोली बोलता हैं. भेड़िया अपने घर गया और अपनी भेड़िनी को बोले, चल आज तो हम दोनों एक बढ़िया दावत. एक मोटे ताजे शिकार का पता लगाकर आया हूं. भेड़िनी पूछने लगी तुम उसे मारकर क्यों नहीं लाए. भेड़िया ने उसे झिडकी दी ,

नकल के लिए अक्ल जरूरी

छोटा भीम और जादूगरनी

क्योंकि मैं तेरी तरह मूर्ख नहीं हूं. वह एक खोल के भीतर छिपा बैठा हैं. खोल ऐसा हैं कि उसमें दो तरफ सूखी चमडी के दरवाजे हैं. मैं एक तरफ से हाथ डाल उसे पकडने की कोशिश करता तो वह दूसरे दरवाजे से न भाग जाता. चांद निकलने पर दोनों ढोल की ओर गए. जब वह् निकट पहुंच ही रहे थे कि फिर हवा से टहनियां ढोल पर टकराईं और ढम ढम की आवाज निकली. भेड़िया भेड़िनी के कान में बोला सुनी उसकी आवाज्.

राजा और सेवक की कहानी 

दरबारियों की परीक्षा

जरा सोच जिसकी आवाज ऐसी गहरी हैं, वह खुद कितना मोटा ताजा होगा. दोनों ढोल को सीधा कर उसके दोनों ओर बैठे और लगे दांतो से ढोल के दोनों चमडी वाले भाग के किनारे फाडने. जैसे ही चमडियां कटने लगी, भेड़िया बोला होशियार रहना, एक साथ हाथ अंदर डाल शिकार को दबोचना हैं. दोनों ने ‘हूं’ की आवाज के साथ हाथ ढोल के भीतर डाले और अंदर टटोलने लग. अदंर कुछ नहीं था.

मोटू पतलू और चिराग

मोटू पतलू और नगर की सफाई

एक दूसरे के हाथ ही पकड में आए। दोंनो चिल्लाए .यहां तो कुछ नहीं हैं. और वे माथा पीटकर रह गए. इसलिए लोगो का कहना बिलकुल सही है की कभी कभी हमे ज्यादा शिखे भी नहीं मारनी चाहिए, क्योकि कभी कभी हमे भी हानि हो जाती है. अगर आपको यह मूर्ख भेड़िया की हिंदी कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे 

Read More kahani in hindi :-

Read More-लालच बुरी बला है

Read More-बाघ और पंडित की कहानी

Read More-राजा का गुस्सा एक कहानी

Read More-बच्चों की कहानी

Read More-बोलने वाले पक्षी

Read More-अलादीन का जादुई चिराग

Read More-कौवे और मैना की बाल कहानियां

Read More-चालाक लोमड़ी और भालू की कहानी

Read More-खरगोश की कहानी 

Read More-बच्चों का पार्क

Read More-अकबर बीरबल और युद्ध

Read More-बड़े हाथी की कहानी

Read More-एक शिक्षाप्रद कहानी

Read More-शेर और खरगोश

Read More-मोटू पतलू और साधू बाबा

Read More-मोटू पतलू और फिल्म शूटिंग

Read More-मोटू पतलू और जादुई फूल

Read More-मोटू पतलू और जादुई टापू

Read More-मोटू पतलू और मिलावटी दूध

Read More-छोटा भीम और जादूगरनी

Read More-छोटा भीम और क्रिकेट मैच

Read More-मोटू-पतलू का सपना

Read More-चाचा चौधरी और साबू

Read More-पेटू पंडित हास्य कहानी

Read More-शेखचिल्ली की कुश्ती

Read More-शेखचिल्ली का मजाक

Read More-मोटू और पतलू का जहाज

Read More-अकल की दवाई

Read More-कौवे का पेड़

Read More-छोटू का पार्क कहानी 

Read more-ऊंट और सियार की कहानी

Read More-राजा और लेखक

Read More- धनवान आदमी हिंदी कहानी

Read More-सेब का फल हिंदी कहानी

Read More-ढोंगी पंडित की कहानी 

Read More-बेवकूफ दोस्त की कहानी

Read More-मोटू और पतलू के समोसे

Read More-अमरूद किस का हिंदी कहानी

Read More-छोटा भीम और नगर में चोर

Read More-छोटा लड़का और डॉग

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!