नैतिकता की एक अच्छी कहानी, moral stories hindi

moral stories hindi

नैतिकता की एक अच्छी कहानी, moral stories hindi, यह कहानी आपको पसंद आएगी, क्योकि इस कहानी में हमे पता चलता है की जरूरत पड़ने पर हम किसी का साथ कैसे देते है, 

नैतिकता की एक अच्छी कहानी : moral stories hindi

moral stories.jpg

moral stories hindi

उसे घर आते हुए काफी देर हो चुकी थी, जब वह घर पहुंचा तो दरवाजा खुला हुआ था, यह कैसे हो सकता है, में तो दरवाजा बंद करके गया था, मगर यह दरवाजा कैसे खुला हुआ है, जब वह आदमी अंदर गया तो देखा की एक आदमी अंदर बैठा हुआ है, उससे पूछा गया की तुम कौन हो, और घर में कैसे आ गए हो, वह आदमी कुछ डरा हुआ नज़र आ रहा था, ऐसा लग रहा था की वह किसी से घबराया हुआ है, मगर वहा पर तो कोई नज़र नहीं आ रहा है,

 

वह आदमी पास आया है और कहने लगा की कोई मेरे पीछे पड़ गया था जिससे बचने के लिए में यहां पर आ गया था मुझे कोई रास्ता नज़र नहीं आया था आप के घर में छिप गया था, मुझे नहीं लगता है की की वह सच बोल रहा था मगर उसकी बातो से तो लग रहा था की वह किसी से बच कर भाग रहा है मगर वह कौन है, जिससे वह बचकर भाग रहा है, यह पता लगाने के लिए सोचा की इससे पूरी बात पूछनी चाहिए, तुम ऐसा करो की आराम से बैठ जाओ, और मुझे पूरी बता बताओ, की क्या हुआ था,

Read More-अपनी सोच से सीखें 

अब वह आदमी कुछ शानत लग रहा था तभी वह कहने लगा की में एक जगह पर काम करता हु, उस जगह पर काफी लोग भी काम करते है, हम मजदुर आदमी है, इसलिए हर रोज काम करके हम अपने लिए पैसे बचाते है और उन जो से खाना खाते है, हम सभी जिस जगह पर काम कर रहे थे, उस जगह पर मुझसे सामान टूट गया था उसके बाद मालिक आया और कहने लगा की तुमने यहां पर सामान को तोडा है, इसलिए तुम्हे यहां पर कुछ दिन तक बिना पैसे के काम करना होगा, मेने मालिक से कहा की अगर मुझे पैसे नहीं मिलते है तो में खाना कहा इ खायूँगा, मगर मालिक ने कहा की अगर तुम ऐसा नहीं करते हो,

Read More-अभी देर नहीं हुई है कहानी

तो तुम्हे सामान के पैसे देने होंगे अगर तुम सामान के पैसे देते हो, तो तुम्हे काम भी दिया जाएगा और उसके बदले में पैसे भी दिए जायँगे, मगर मेरे पास तो पैसे नहीं है, में आपको पैसे नहीं दे सकता हु, मुझे आप काम दीजिये मगर मालिक ने कहा की अब तो तुम्हे यहां पर फ्री में काम करना होगा, यह सुनकर मुझे अच्छा नहीं लग रहा था क्योकि में बिना पैसे के काम नहीं कर सकता हु, इसलिए में वहा से भाग आया था जब में आने लगा तो कुछ आदमी मेरे पीछे आ रहे थे,

Read More-सरदार का निर्णय हिंदी कहानी

क्योकि मेने उनका नुक्सान कर दिया था उसके बाद वह मुझसे काम लेना चाहते थे आपका घर मेरे हाथ से खुल गया था उसके बाद में यहां पर छिप गया हु, क्योकि वह सभी लोग बाहर मुझे ढूढ़ रहे होंगे, में बाहर नहीं जा सकता हु, अब में क्या करू आप ही मुझे बताये, उसकी बातो पर अब यकीन हो गया था क्योकि वह सच बोल रहा था मगर इसका समाधान तो एक ही हो सकता है, लेकिन क्या उसके लिए में तैयार हु, क्या में यह कर सकता हु, यही सोच रहा था तभी उस आदमी ने कहा की आप मेरी मदद कीजिये  

Read More-जीवन की सच्ची कहानी   

Read More-इच्छा शक्ति से बढ़कर कुछ नहीं

उसकी बातो पर यकीन तो हो गया था मगर उसकी मदद करने के लिए में क्या काउ कुछ भी समझ नहीं आ रहा था तभी दरवाजे पर दस्तक हुई थी दरवाजा खोला तो वही लोग सामने खड़े थे जो उसे ढूढ़ रहे थे उन्होंने ने देखा की सामने उनका मजदूर खड़ा है, वह कहने लगे की हमारे सतह चलो मालिक इंतज़ार कर रहे है तुम्हे वहा से भागना चाहिए था तुमने भागकर यह साबित कर दिया है की तुम किसी का भी नुक्सान कर सकते हो, मजदूर कहने लगा की मेरे पास और कोई रास्ता नहीं था,

Read More-भाग्य का लिखा अद्भुत कहानी

Read More-भाग्य बदल सकता है हिंदी कहानी

वह सभी कहने लगे की हमे कुछ नहीं सुनना है, तुम्हे हमारे साथ चलना होगा, तभी मजदूर मना करने लग गया था मगर वह उसे ले जाना चाहते थे, उसके बाद उन सभी को रोका गया था कोई भी उसे नहीं ले जाएगा, अगर तुम ऐसा करते हो तुम्हे भी सोचना होगा, वह कहने लगे की आप क्यों इस मामले में पड़ते हो, आप इसे जानते हो, आप क्यों इसे बचा रहे हो, जबकि नुक्सान इसी ने किया है और मालिक यही चाहते है की यह उनका काम फ्री में करे , उसके बाद मालिक से मिलने चला गया था, क्योकि शायद कुछ बात बन जाये,    

Read More-नदिया के पार की कहानी

Read More-पैसा सब कुछ नहीं है कहानी

मजदूर भी साथ में चला था और अभी लोग उस मालिक के पास आगये थे, मालिक ने पूछा की आप कौन है, में आपको नहीं जनता हु, मगर यह मजदूर पता नहीं क्यों भाग गया था तभी मालिक से पूछा गया की आपको ऐसा नहीं करना चाहिए आप इस मजदूर से काम ले रहे हो, और पैसे नहीं दे रहे हो, मालिक ने पूछा की आप क्यों पूछ रहे है, जबकि यह बात हमारी और मजदूर की है, पूछने पर मालिक ने कहा की मेरा काफी नुक्सान हो गया है जोकि इसने किया है मेने तो इससे यही कहा था की अगर तुम काम करते हो, तो में पैसे नहीं दूंगा, क्योकि तुमने नुक्सान किया है,

Read More-थोड़ा सोचिये एक हिंदी कहानी

Read More-मेने काम सीख लिया है

अगर इन सभी से बचना चाहते हो, तो मेरा पैसा दे दो, और यहां से चले जाओ, यह बता सही थी की नुक्सान तो हुआ था, मगर और कोई रास्ता नज़र भी नहीं आ रहा था, मालिक को उसके पैसे दे दिए गए थे और मजदूर को साथ में ले आया था वह कहने लगा की आपने मेरी मदद की है आप बहुत अच्छे आदमी है, अच्छा और बुरा कोई नहीं होता है, हमे एक दूसरे की मदद करनी चाहिए यही अच्छाई है,जोकि सभी को करनी चाहिए, इस कहानी से हमे यही पता चलता है की अगर हम किसी की मदद कर पाए तो यह बहुत अच्छा होता है

Read More-गमले वाली बूढ़ी औरत

Read More-एक जिम्मेदारी की मोरल कहानी

Read More-सही बात क्या है कहानी

Read More-एक नयी शिक्षा की कहानी

नैतिकता की एक अच्छी कहानी, moral stories hindi, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आप इसे शेयर जरूर करे और कमेंट करके हमे भी बताये, 

Read More Hindi Story :-

Read More-मेरी नयी हिंदी कहानी

Read More-पहाड़ी बाबा की रोचक कथाएं

Read More-जादू का किला

Read More-गुफा का सच

Read More-जब उस पार्क में गए

Read More-आईने की हिंदी कहानी

Read More-जादुई कटोरा की कहानी

Read More-जीवन में बदलाव लाये कहानी

Read More-बांसुरी की धुन एक लघु कहानी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!