लालच बुरी बला है हिंदी कहानी, moral stories in hindi

Moral stories in hindi | Lalach buri bala hai short story in hindi

Moral stories in hindi, लालच बुरी बला है कहानी, lalach buri bala hai short story in hindi, ये कहानी एक प्रसिद्ध गड़रिये के बेटे सोनू की है जो की लगभग रोजाना ही अपनी गायों को जंगल मैं चरने के लिए ले जाया करता था. Because वो बहुत ही गरीब होने के कारण उनके चारे का बंदोबस्त नहीं कर पता था. इसलिए वो उन्हें जंगल मैं चराने ले जाता था.

Moral stories in hindi : लालच बुरी बला है हिंदी कहानी

hindi story.jpg
moral stories for kids in hindi

moral stories in hindi, lalach buri bala hai short story in hindi सोनू की प्रत्येक गाये के गले मैं एक रस्सी होती थी, जिसमे की एक घंटी बंधी होती थी. जो गाय सबसे अधिक सुंदर थी. उसके गले में घंटी भी अधिक कीमती ही बंधी जाती थी. एक समय की बात है जब एक दिन एक अजनबी जंगल से गुजर रहा था.  जहा पर सोनू रोजाना अपनी गायों को चराने के लिए जाया करता था.

बीरबल और नगर की कहानी

वह उस गाय को देखकर सोनू के पास आया, यह घंटी बड़ी प्यारी है . क्या कीमत है इसकी . 50 रुपये. सोनू ने उत्तर दिया. बस, सिर्फ 50 रुपये . मैं तुम्हें इस घंटी के 100 रुपये दे सकता हूँ. सुनकर सोनू प्रसन्न हो उठा. झट से उसने घंटी उतारकर उस अजनबी के हाथ में थमा दी और पैसे अपनी जेब में रख लिये. अब गाय के गले में कोई घंटी नहीं थी. घंटी की टुनक से उसे अन्दाजा हो जाया करता था. अतः अब इसका अन्दाजा लगाना सोनू के लिए मुश्किल हो गया, कि गाय इस वक्त कहाँ चर रही है. जब चरते चरते गाय दूर निकल आई तो अजनबी को मौका मिल गया. वह गाय को अपने साथ लेकर चल पड़ा.

 

Moral stories in hindi, lalach buri bala hai short story in hindi, तभी सोनू ने उसे देखा. वह रोता हुआ घर पहुँचा और सारी घटना अपने पिता को सुनाई. उसने कहा, मुझे तनिक भी अनुमान नहीं था कि वह अजनबी मुझे घंटी के इतने अच्छे पैसे देकर ठग ले जाएगा. पिता ने, ठगी का सुख बड़ा खतरनाक होता है. पहले वह हमें प्रसन्नता देता है, फिर दुःख. अतः हमें पहले ही से उसका सुख नहीं उठाना चाहिए. लालच से कभी सुख नहीं मिलता. उस दिन के बाद से सोनू ने कभी भी लालच लेना छोड़ ही दिया और बाकि सभी लोगो को भी लालच ना करने की सलाह भी दी.

 

लड़के का लालच हिंदी कहानी : lalach buri bala hai short story in hindi

lalach buri bala hai short story in hindi
lalach buri bala hai short story in hindi

वह लड़का हर रोज जब स्कूल जाता था तो उसे आम का पेड़ नज़र आता था उसे लगता था की इस पेड़ के आम बहुत मीठे है, इसलिए वह उन्हें लेने की कोशिश करता है but यह सोचकर की कोई मुझे देख सकता है, इसलिए वह कभी भी उस पेड़ के पास नहीं जाता था एक दिन उस लड़के ने सोचा की मुझे वह आम लेने चाहिए क्योकि वह उन्हें हर रोज देखा करता था वह आम को लेने के लिए पेड़ के पास जाता है वह पेड़ को बहुत अच्छे देखता है आज तो उस पेड़ पर बहुत अच्छे आम लगे है,

अकबर-बीरबल और मुखिया की कहानी

वह एक आम को तोड़ लेता है उसे वह बहुत अच्छा लगता है क्योकि वह बहुत मीठा है अब उसे लग रहा था की यह पेड़ तो बहुत अच्छे आम देता है इसलिए वह इसी पेड़ के पास से आम लेगा अगले दिन भी वह उस पेड़ के पास जाता है एक आम तोड़ लेता है उसके बाद वह चला जाता है अब उस लड़के का यह काम हर रोज का हो गया था, उसने सोचा की हर रोज आम को तोड़ने में बहुत मेहनत लगती है इसलिए वह आज बहुत अधिक आम घर ले जायेगा,

 

वह लड़का पेड़ पर चढ़ जाता है, भजत सारे आम को तोड़ने लगता है वह सभी मीठे आम को नीचे गिरा देता है, अब उसे लग रहा था की यहां पर रोज रोज आने से कोई फायदा नहीं है, इसलिए वह बहुत सारे आम तोड़ चूका था अब वह पेड़ से नीचे आता है क्योकि आज उसे बहुत अधिक आम मिल गए थे but वह लड़का नहीं जानता था की माली आ गया है वह भी उसका इंतज़ार कर रहा था आज उसे पता चल गया था की वह कौन है जो पेड़ से आम तोड़ता है माली कहता है की तुम यह आम यहां से तोड़कर ले जाते हो, आज तुम पकड़े गए हो,

अकबर बीरबल की मजेदार नयी कहानियां

lalach buri bala hai short story in hindi, वह लड़का डर जाता है क्योकि उसे नहीं लग रहा था की यहां पर कोई नहीं है, माली कहता है की आज तुमने मेरा बहुत नुक्सान कर दिया है इसलिए तुम मुझे अपने घर ले चलो, तुम्हे इसके पैसे देने होंगे आज वह लड़का बुरी तरह से फंस गया था क्योकि उसने आज लालच बहुत कर लिया था अगर वह लालच नहीं करता तो शायद ऐसा कभी भी नहीं होता जीवन में हमे लालच नहीं कारन चाहिए, अगर आपको यह लालच की छोटी कहानी पसंद आयी है, तो आप शेयर करे

 

लालच नहीं करना चाहिए दूसरी कहानी : Lalach buri bala hai short story in hindi

lalach buri bala hai short story in hindi, वह बहुत लालची हो गया था, Because उसे तो हर जगह पर लालच ही नज़र आता था, आज उसे पता था की बाग़ में बहुत सारे फल लगे हुए है, वह उन सभी फलो को लेकर चला जायेगा किसी को भी कुछ पता नहीं चल पायेगा, Because वह बहुत लालची था, वह बाग़ में फल लेने जाता है, तो उसने कुछ फल ले लिए थे, जबकि बाग़ के मालिक ने कहा था की तुम मुझे बहुत भूखे लगते हो, इसलिए अपनी जरूरत से तुम फल खा सकते हो, but वह नहीं जनता था, की वह लड़का जरूरत से अधिक ले सकता है,

बीरबल की समस्या भी दूर हुई कहानी

वह लड़का फल खा लिया था, but उसने सोचा की वह अपने लिए कुछ दिन का भी इंतज़ाम कर सकता है, वह और अधिक फल ले चूका था, Because बाग़ के मालिक ने उससे कहा था, की वह फल ले सकता है, वह लड़का बहुत अधिक फल ले चूका था, but उन्हें ले जाने में उसे परेशानी हो रही थी, Because वह उन्हें उठा नहीं पा रहा था, वह लड़का बहुत मुश्किल से उस जगह से चल पा रहा था वह बैग के मालिक से बचना चाहता था, Because अगर उन्हें पता चल गया था, तो अच्छा नहीं होगा,

राजकुमारी और तितली की कहानी

but दूसरी और से बाग का मालिक आ रहा था वह देखता है की वह लड़का तो बहुत सरे फल ले जा रहा है जबकि मेने तो उसे कुछ ही फल के लिए कहा था मालिक कहता है की तुम तो बहुत लालची हो गए हो तुमने तो बहुत अधिक फल ले लिए है, तुमने तो यह अच्छा नहीं किया है Because तुम वह कर रहे हो जोकि तुम्हे नहीं करना चाहिए था, अगर कोई आपकी मदद करे तो आपको उसकी मदद पर ध्यान रखना चाहिए but तुम तो उस मदद से दुसरो को बर्बाद कर रहे हो तुमने यह फल बहुत अधिक लिए जिससे मुझे बहुत अधिक धन की कमी होगी,

 

Moral stories in hindi, lalach buri bala hai short story in hindi, यह सुनकर वह लड़का समझ जाता है की उसने बहुत बड़ी गलती की है, वह आगे से अब कुछ भी ऐसा नहीं करेगा, जिससे किसी को परेशानी का सामना करना पड़े, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

 

एक दिन का लालच मोरल कहानी : Lalach buri bala hai 

Moral stories in hindi, उसका लालच बढ़ रहा था but वह नहीं जानता था की यह लालच उसके सामने समस्या को पैदा कर सकता है, वह इससे अनजान था वह हर रोज जंगल की और जाता था Because उस जगह पर जब भी उसे भूख लगती थी तो वह फल खाता था वह उन फलो को लिया करता था जिसका पहरा कोई भी नहीं दे रहा था जिससे उसे कोई देख न पाए, वह आदमी फिर से जंगल की और गया था

तीन मोरल हिंदी कहानियां 

वह देखता है की मेने यह पेड़ पहले कभी क्यों नहीं देखा था, Because इस पेड़ पर तो बहुत अच्छे फल लगे हुए है, वह उन फलो को देखकर सोचता है की मुझे यह सभी फल आज ही लेने होंगे Because अगर कोई इन्हे देख लेगा तो वह सभी फल अपने साथ ले जायेगा सबसे पहले तो उसने वह सभी फल आराम से खाये थे जब वह अपनी भूख को दूर कर चूका था, तो उसने सोचा की अब यह फल मुझे घर ले जाने चाहिए वह सभी फलो को तोड़ता है उसके पास बहुत अधिक फल हो गए थे but वह फिर तोड़ रहा था

खाने की समस्या बच्चों की कहानी

कुछ समय बाद वह पेड़ के नीचे देखता है एक शेर पेड़ के पास खड़ा था वह ऊपर देख रहा था वह समय गया था की पेड़ पर कोई है, वह उसका शिकार करना चाहता था but वह आदमी आज समझ गया था की अगर वह लालच नहीं करता तो वह समय से यह से जा सकता था but वह शेर अब उसे नहीं छोड़ने वाला है, वह आदमी उस पेड़ पर रातभर बैठा रहा था शेर भी उसका इंतज़ार कर रहा था,

जामुन की तलाश बच्चों की कहानी

Moral stories in hindi, lalach buri bala hai short story in hindi,  सुबह हो गयी थी, कुछ लोग उसी और आ रहे थे तभी वह शेर उस जगह से चला जाता है वह आदमी पेड़ से नीचे उतरता है अब वह बच गया था but अगर वह लालच नहीं करता तो ऐसा नहीं होता इसलिए जीवन में लालच नहीं करना चाहिए Because लालच हमे परेशानी में डाल सकता है

Read More Hindi Story :-

नानी की पुरानी कहानी

साथ देना जरुरी एक कहानी

भाषाओं का ज्ञान कहानी

अनोखी भाषा की हिंदी कहानी

मेरा घर हिंदी कहानी

आज का दिन हिंदी कहानी

कुछ भी नहीं है एक कहानी

ये दूरियां हिंदी कहानी

कल क्या होगा कहानी

मन की जीत एक कहानी

बरसात के दिन आये कहानी

आप क्या करते हो हिंदी कहानी

कक्षा पांच की कहानी

एक परिंदे की कहानी

भेड़िये की नयी हिंदी कहानी

1 thought on “लालच बुरी बला है हिंदी कहानी, moral stories in hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!