खुद पर विश्वास की कहानी, hindi ki kahaniya

Hindi ki kahaniya | Hindi kahani

खुद पर विश्वास की कहानी, hindi ki kahaniya, ये कहानी एक मंदिर के पुजारी की है , जो की बहुत ही दानी और सदा ही लोगो का सत्कार करने वाला था. एक दिन क्या होता है उसके साथ , हम आगे कहानी मैं पढ़ेंगे. एक मंदिर के पुजारी का विश्वाश की शक्ति में अटल भरोसा था. जो कोई भी उनके घर में एक बार आ जाता वो उनके सत्कार के प्रभाव से प्रभावित हुए बिना नहीं रह सकता था.

खुद पर विश्वास : Hindi ki kahaniya

hindi story.jpg
hindi ki kahaniya

उनके मन में लोगो के लिए अथाह प्रेम भाव था. इसलिए लोग उनका बहुत सम्मान भी करते थे. एक दिन जेल से भागा हुआ चोर रात में शरण लेने के लिए इधर उधर घूम रहा था. उसने देखा कि पुजारी के घर का दरवाजा खुला हुआ है. इसलिए वो उस और चला गया और पुजारी के घर में प्रवेश कर गया. पुजारी ने उसे देखते ही उसका अभिवादन किया और उस से कहा, तुम्हारा मेरे इस घर में स्वागत है.

जादुई बक्सा हिंदी कथा

मेरे भाई but तुम ये बताओ तुम कौन हो और यंहा क्या करने आये हो. इस पर चोर न झूट बोलते हुए कहा, पुजारी मैं एक मुसाफिर हूँ और रास्ता भटक गया हूँ. आपके घर का दरवाजा खुला हुआ देखा तो इस और चला आया. क्या मुझे सिर छुपाने के लिए जगह मिल सकती है. मैं सुबह होते ही यंहा से चला जाऊंगा. पुजारी ने उस से कहा,

समय का महत्व

हाँ क्यों नहीं तुम यंहा आराम से रह सकते हो और मुझे लगता है तुम बहुत थक गये हो इसलिए तुम जाकर आराम से हाथ मुहं धो लो मैं तुम्हारे सोने और खाने का प्रबंध करता हूँ. इस पर चोर पुजारी का आभार व्यक्त करते हुए स्नानघर की और बढ़ गया और इतने में पुजारी ने उसके खाने और सोने की व्यवस्था कर दी.

उस पल की कहानी

पुजारी ने उसका बहुत अच्छे से सत्कार किया और उसे अच्छा भोजन करवाकर उसके सोने की व्यवस्था कर दी. रात को सभी के सो जाने के बाद चोर के मन में चोरी की ईच्छा जागृत हुई और उसने पुजारी के घर से सोने के दो दीप चुराकर वंहा से निकल भागा. रात में पुलिस उसकी तलाश में ही थी सो वो पुलिस के हत्थे चढ़ गया तो पूछताछ में उसने बता दिया कि मैंने ये पुजारी के घर से चुराए है इस पर उसे पुजारी के सामने लाया गया तो पुजारी ने पुलिस वालों से कहा, आप कृपया इन्हें छोड़ दीजिये ये मेरे घर में मेहमान के तौर पर आये थे और मैंने ये दीप इन्हें उपहार के तौर पर दिए है.

एक नाटक से सीख

इतने में चोर के ज्ञान चक्षु खुल गये और उसे अपनी भूल का अहसास होने लगा. पुजारी की उदारता देखते हुए चोर के मन में पश्चाताप होने लगा और उसने माफ़ी मांग कर कभी फिर से चोरी नहीं करने का वचन दिया.खुद पर विश्वास की कहानी, hindi ki kahaniya, hindi kahani, कहानी से हमे ये सीख मिलती है की हमे अपने बुरे कर्मो को छोड़ अच्छे कर्मो को करना चाहिए. ताकि हमे मरने के बाद भी मुक्ति प्राप्त हो.

 

खुद पर विश्वाश की दूसरी कहानी

तुम यह काम कैसे कर सकते हो, यह बात मुझे समझ नहीं आ रही है, जब सभी लोगो ने इस काम के लिए मना कर दिया है तो तुम अकेले क्या कर सकते हो, वह क्या कहता है की सभी को लगता है की यह काम नहीं हो सकता है but में इस बात को जानता हु की यह हो सकता है, में इसे कर सकता हु, तुम यह पहाड़ी देख रहे हो, इसके साथ में एक नदी बहती है, अगर उसका पानी हमारे खेतो में आ जाये तो इससे फसल अच्छी हो सकती है,

एक किसान की कहानी

but सभी को यही लगता है, की यह काम आसान नहीं है, यह पूरा नहीं हो सकता है, but यह काम में पूरा कर सकता हु, भले ही आज मेरे साथ में कोई नहीं है, but में इस काम से सभी के लिए पानी तो ला सकता हु, जिससे सभी की फसल अच्छी हो सकती है, यह सुनकर वह आदमी कहता है की मुझे यह सब कुछ पता है, but यह काम तुम अकेले तो नहीं कर सकते हो, कोई भी तुम्हारे साथ में नहीं है, अगर सभी मिलकर करते तो यह काम जल्दी हो सकता है, वह आदमी कहता है की मुझे अपने पर विश्वाश है, में यह सब कुछ कर सकता हु,

पशु की भाषा हिंदी कहानी

वह फिर से काम पर लग जाता है, Because उसे वह काम करना है, वह लगातार उस काम को कर रहा था सभी लोग उसे देखते और हँसते हुए आगे बढ़ जाते है वह उन्हें देखता है but कुछ नहीं कहता है क्योकि वह जानता था की वह यह काम कर सकता है, कुछ दिन के बाद वह काम को पूरा कर चूका था, सभी कहते है की यह काम कैसे हो गया था, जबकि यह नहीं हो सकता है, but यह सब कुछ तो आसानी से हो गया है,

Hindi ki kahaniya | Hindi kahani

उन्हें ऐसा लगता था की यह काम आसान है मगर यह आसान नहीं था, वही आदमी जानता था की उसने अकेले यह कैसे किया था कोई भी उसके साथ में नहीं था, but वह जानता था की जब हमे खुद पर विश्वाश होता है तो कोई भी काम आसान नहीं होता है, अगर आपको भी ऐसा लगता है तो हमे जरूर बताये,

Read More hindi kahani :-

Read More-राजा और मंत्री की कहानी 

Read More-एक छोटी सी मदद की कहानी

Read More-एक महाराजा की कहानी

Read More-वो सोता और खाता था हिंदी कहानी

Read More-मंगू और दूसरी पत्नी की कहानी

Read More-सोच की कहानी

Read More-एक शादी की कहानी

Read More-छोटा सा गांव हिंदी कहानी

Read More-एक बोतल दूध की कहानी

Read More-सुबह की हिंदी कहानी

Read More-जादुई लड़के की हिंदी कहानी

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-आईने की हिंदी कहानी

Read More-जादुई कटोरा की कहानी

Read More-एक चोर की हिंदी कहानी

Read More-जीवन की सच्ची कहानी

Read More-छज्जू की प्रतियोगिता

Read More-जब उस पार्क में गए

Read More-असली दोस्ती क्या है

Read More-एक अच्छी छोटी कहानी

Read More-गुफा का सच

Read More-बाबा का शाप हिंदी कहानी

Read More-यादगार सफर

Read More-सब की खातिर एक कहानी

Read More-जादू का किला    

Read More-मेरे जीवन की कहानी

Read More-आखिर क्यों एक कहानी

Read More-मेरा बेटा हिंदी कहानी

Read More-दूल्हा बिकता है एक कहानी

Read More-जादूगर की हिंदी कहानी

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी

Read More-हीरे का व्यापारी

Read More-पंडित के सपने की कहानी

Read More-बिना सोचे विचारे

Read More-जादू की अंगूठी

Read More-गमले वाली बूढ़ी औरत

Read More-छोटी सी बात हिंदी कहानी

Read More-समय जरूर बदलेगा

Read More-सोच का फल कहानी

Read More-निराली पोशाक

Read More-पेड़ और झाड़ी

Read More-राजा और चोर की कहानी

Read More-पत्नी का कहना

Read More-एक किसान

Read More-रेल का डिब्बा

Read More-छोटी सी मदद

Read More-दिल को छूने वाली कहानी

Read More-गुस्सा क्यों

Read More-राजा की सोच कहानी

Read More-हिंदी कहानी एक सच

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-हिंदी कहानी विवाह

Read more-गांव में बदलाव

Read More-चश्में की हिंदी कहानी

Read More-परीक्षा का परिणाम

Read More-सफल किसान एक कहानी

Read More-एक दूरबीन का राज

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!