जब अधिक ज्ञान आता है, Gyan ki kahaniya

Gyan ki kahaniya

gyan ki kahaniya, hindi ki kahaniya, hindi story, एक दिन एक आदमी जंगल से गुजर रहा था वह आदमी बहुत ही परेशान था और किसी जगह को ढूंढ रहा था जहां पर वह अपना जीवन बिता सके Because वह जीवन में अकेला पड़ गया था और उसे बहुत सी परेशानियां भी हो रही थी

जब अधिक ज्ञान आता है हिंदी कहानी : Gyan ki kahaniya

gyan ki kahaniya
gyan ki kahaniya

थोड़ी दूर चलने के बाद उसे एक आश्रम दिखाई दिया जहां पर एक साधु महाराज कुछ जानवरों से और पशु पक्षियों से बात कर रहे थे इन जानवरों से बातों को करता देख उस आदमी ने सोचा कि अगर मैं भी यह जान सकूं कि यह बातें कैसे होती है तो मुझे बड़ा फायदा होगा, फिर वह उस साधु महाराज जी के पास गया और अपनी समस्या उन्हें बताई और कहा कि मुझे अगर यह विद्या सीखने को मिल जाए तो इससे दूसरों का भला कर पाऊं और साधु महाराज ने  विद्या उसे सिखा दी और कहा कि इसका गलत उपयोग बिल्कुल भी मत करना

छोटी सी मुलाकात कहानी 

ऐसा कहकर वह अपने नगर को चल दिया जहां से वह आया था और सोचने लगा था कि अब तो मुझे यह ज्ञान मिल गया है अब मैं अपना फायदा करूंगा फिर वह अपने घर आ गया और घर आकर अपने जानवरों की सेवा करने लगा उनका दूध निकालने लगा, फिर उसने देखा कि कबूतर बातें कर रहे थे कि यह जो बकरी है इसके पास यह जल्दी ही बीमार पड़ जाएगी और मर जाएगी फिर उस आदमी ने सोचा कि इस बकरी को जल्दी ही बेच देता हूं नहीं तो या मर जाएगा

राजा की सोच कहानी

राजभोज का आनंद

मेरे भी किसी काम के नहीं होगी और उसने अच्छे दामों पर वह बकरी बेच दी फिर 2 दिन बाद एक कुत्ता बात कर रहा था कि इसके पास जो यह है बैल है यह जल्दी ही बीमार पड़ जाएगा और यह ज्यादा चल फिर भी नहीं पाएगा इन बातों को सुनकर उस आदमी ने सोचा कि इस बैल को भी बेच देता हूं नहीं तो यह मेरे लिए समस्या बन जाएगा फिर उस आदमी ने अगले दिन बाजार में जाकर बैल को भेज दिया और कुछ दिन बाद पता लगा कि बकरी भी नहीं रही और बैल भी बीमार पड़ गया अब वह आदमी खुश हो गया कि मुझे कोई ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है मैंने तो समय से पहले ही यह भेज दिया था फिर कुछ दिनों बाद बिल्ली बातें कर रही थी कि यह जो हमारा मालिक है जो यहां पर रहता है यह भी जल्दी बीमार पड़ने वाला है पहले तो उस आदमी को विश्वास नहीं हुआ

रामनाथ की साइकिल हिंदी कहानी

पंडित और रामू की कहानी

gyan ki kahaniya, hindi ki kahaniya, hindi story, but फिर वह साधु महाराज जी के पास गया और कहने लगा कि मैंने जानवरों से सुना है कि मैं बीमार पड़ने वाला हूं अगर आप कोई ऐसा उपाय बता दें कि जिससे मैं बीमार ना पड़े तो इस पर साधु महाराज ने कहा मैंने पहले ही कहा था कि इस ज्ञान का गलत उपयोग मत करना और समझाया था कि तुम इसका उपयोग गलत कामों के लिए नहीं करोगे लेकिन तुम नहीं माने अब जो है वह तो खुद ही भुगतना होगा.

Hindi Ki kahaniya :- 

अजीब आदमी की कहानी

बूढ़े आदमी का जीवन हिंदी कहानी

नदिया के पार की कहानी

थोड़ा सोचिये एक हिंदी कहानी

तोते की अनोखी कहानी

बांसुरी की धुन एक लघु कहानी

ज़िन्दगी में महक की कहानी

क्रोध से दूर रहे कहानी 

दो मूर्खों की कहानी

बुद्धि की परीक्षा की कहानी

माँ के दिल की कहानी 

आज और कल की कहानी

बदले की भावना की कहानी

अंधे को मिली सजा की कहानी

परीक्षा का परिणाम

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!