सात मजेदार कहानियां, bal kahaniyan

Bal kahaniyan | Bal katha in hindi

Bal kahaniyan, bal katha in hindi, सात मजेदार कहानियां, एक बार बात है रामू किसी की बात नहीं सुनता था रामू को जो भी काम दिया जाता था वो उसे कभी भी पूरा नहीं करता था रामू का मन हमेशा खेलने में ही करता था वो चाहता की हमेशा खेलता रहे और जब भी शाम होती तो रामू खेलने के लिए चला जाता

सात मजेदार कहानियां : Bal kahaniyan

hindi story.jpg
bal kahaniyan

रामू की आदत, Bal kahaniyan

Bal kahaniyan, रामू को हर रोज स्कूल जाना पड़ता था और वह यही सोचा करता था की sunday का दिन हर रोज आये रामू की आदत बहुत ज्यादा खराब हो गयी थी वह अपने स्कूल का होमवर्क भी नहीं करता था जिससे उसे हमेशा डाट पड़ती थी एक दिन रामू स्कूल से घर आ रहा था, रामू ने सोचा की आज वह पहले खेलेगा फिर घर जाएगा इसलिए वह घर न जाकर पार्क में खलेने चला गया जब वह पार्क में खेल रहा था तो उसके पास एक डॉग आ गया और वह रामू पर भोकने लगा था रामू को बहुत ज्यादा डर लग रहा था Because वह उस पर भोक रहा था और उसकी और बढ़  रहा था, (Bal kahaniyan)

राजकुमारी और जादूगर बुढ़िया की कहानी

Bal kahaniyan, रामू वहा से भगा और घर जाकर ही रुका जब उसने देखा की अब वह डॉग उसके पीछे नहीं आ रहा था तब रामू ने सोचा की अब से कोई भी गलत काम नहीं करेगा रोज स्कूल से सीधे घर आएगा और अपनी पढ़ाई पर ध्यान देगा तब से रामू एक अच्छा लड़का बन चूका था और वह सका कहना भी मानता था बच्चो तुम्हे हर रोज पढ़ाई करनी चाहिए और सबका कहना भी मानना चाहिए, (Bal kahaniyan)

 

साहस की विजय, Bal kahaniyan

Bal kahaniyan, एक जंगल में एक बकरी और उसका छोटा बच्चा जिसका नाम मेमना  था दोनों घूमने जा रहे थे चलते चलते वह दोनों आपस में बातें कर रहे थे बकरी अपने बेटे को समझा रही थी कि अगर कोई मुसीबत आ जाए तो उसका साहस के साथ धैर्यपूर्वक सामना करना चाहिए तभी उस मुसीबत से निकाल निकला जा सकता है, मां की यह सब बातें छोटा सा मेघना सुन रहा था और समझ भी रहा था चलते-चलते बकरी ने कहा मुझे बड़ी प्यास लगी है मैं अपना भी बोला हां मुझे भी प्यास लगे या दोनों नदी की ओर चल पड़े नदी के तट पर पहुंचकर बकरी ने सबसे पहले नदी को प्रणाम किया नदी में दोनों का स्वागत किया और उंहें बताया कि जल्दी जल्दी पानी पी लो नहीं तो भेड़िया आ जाएगा, (Bal kahaniyan)

बीरबल ने बचाया अकबर को नयी कहानी

मैंने बोला हम तो इतने छोटे से हैं फिर भी हम भेड़िया हमें क्यों खाता है और तुम यह जानती हो कि भेड़िया इतना बुरा है सभी जंगली जानवरों को खा जाता है फिर भी तुम उसे अपना पानी पीने देती हो नदी बोली मैं क्या करुं मेरा काम ही दूसरों की प्यास बुझाना है जब मेरे पास कोई प्यासा आता है तो मैं उसे पानी पीने से मना नहीं कर सकती बकरी को बहुत जोर से प्यास लग रही थी, पानी बहुत मीठा और ठंडा का बकरी ने जल्दी-जल्दी खूब सारा पानी पिया मिलना भी खूब सारा पानी पीने लगा पानी पीने के बाद बकरी में एक लंबी सी सांस ली और फिर पानी पीना शुरू कर दिया मेमना ने भी अपनी मां को देखा और फिर पानी पीना शुरु कर दिया Because दोनों को बड़ी प्यास लगी थी जैसे ही बकरी पानी पी कर उठी

 

तो पीछे एक काला भेड़िया खड़ा था बोला इतना ठंडा पानी कितना मीठा पानी और इतने मजेदार शिकार आज तो पेट भर जाएगा बकरी डर के मारे सहन गई उसकी आवाज भी नहीं निकली उसको मेमना भी उसके पीछे जाकर छुप गया बकरी ने थोड़ी देर सांस ली और फिर बोली कि कितने गंदे हो रहे हो लगता है कई दिनों से नहाए नहीं हो तुम हमें खा सकते हो पर पहले जरा अपना मुंह तो धो लो मेमना भी पीछे से बोला हां हां ऐसा लग रहा है कि पूरे हफ्ते से भाई नहीं हूं मुंह तो पूरा मिट्टी में लिस्ट गंदा हो रखा है भेड़िया बोला नहीं अभी मैं रेत से अपना मुंह साफ कर के आया हूं

छोटा जादूगर किड्स कहानी

रगड़ के मैंने बोला नहीं तो तुम किसी से भी पूछ लो इतने गंदे लग रहे हो भेड़िए ने सोचा बकरी तो झूठ बोल सकती है पर एक छोटा बच्चा झूठ नहीं बोल सकता शायद मैंने अपना मुंह से साफ किया था इसलिए मुंह पर मिटटी लग गई है सोचने लगा चलो पहले अपना मुंह धो लेता हूं, फिर उसे याद आया मैं मुंह धोने नदी पर गया तो यह दोनों भाग जाएंगे पर भाग कर जाएंगे भी कहां में पकड़ लूंगा और इन दोनों का शिकार करूंगा बकरी में इशारा करते हुए नदी की और कहा कि वहां जाकर अपना मुंह धोलो चलो अब मैं भी तुम्हारे साथ चलती हूं

बीरबल की समस्या भी दूर हुई कहानी

ताकि तुम्हें हम पर भरोसा हो जाए कि हम भागेंगे नहीं हम तो छोटे जंगली जानवर हैं और तुम जंगल के मंत्री हो हमारा तो यह ही कर्तव्य है कि हम तुम जैसे बड़े जानवरों की भूख मिटाई और तुम्हारा शिकार बन जाएंगे सब बातें सुनकर भेड़िए को बकरी की बात पर भरोसा किया और वह उसी तरफ चल गया जहां, बकरी ने इशारा किया था वहां पानी गहरा था और फिसलन भी थी जैसे ही भेड़िए ने नीचे को मुंह धोने के लिए मुंह किया बकरी ने अपनी पूरी जान लगा कर उसे जोर का धक्का मारा भेड़िया गिर पड़ा और बकरी अपने मेमना के साथ जंगल की ओर भाग पड़ी और नदी से बहुत दूर जा कर उन्होंने सांस लिया ताकि भेड़िया वहां तक ना आ सके

 

Bal kahaniyan, Bal katha in hindi, बकरी बोली अपने मेमने से समझ आया अगर हम साहस से काम लेंगे तो बड़ी से बड़ी मुसीबत का सामना भी कर सकेंगे और अपने जीवन में आगे भी बढ़ सकेंगे Because जल्दबाजी में कोई भी काम सही नहीं होता वह बिगड़ ही जाता है और हम जब तक मुसीबत का सामना नहीं करते मुसीबत हमारा पीछा नहीं छोड़ती.

 

एकता में शक्ति की कहानी, Bal kahaniyan 

Bal kahaniyan, एक गांव में एक किसान रहता था उसके चार लड़के थे चारों लड़के आलसी और नालायक थे दिन भर इधर-उधर मस्ती करते करते थे but कोई काम नहीं करते थे और शाम को घर आकर एक दूसरे से खूब लड़ाई किया करते थे बूढा किसान अपने चारों बेटों से बड़ा परेशान था Because ना तो वह कुछ काम करते थे ना ही कमाते थे. (Bal kahaniyan)

 

बल्कि इधर-उधर लड़ाई करते फिरते थे एक दिन उसको एक योजना योजना आई उसने अपने चारों लड़कों को अपने पास बुलाया और कहा तुम चारों आज जंगल में लकड़ियां लेने के लिए जाओ चारों लड़के पहले तो राजी नहीं हुए लेकिन किसान ने जैसे-तैसे उन्हें मना लिया चारों लड़के जंगल से थोड़ी थोड़ी लकड़ियां लेकर वापस शाम को घर आ गए, शाम को किसान ने उन चारों को अपने पास बुलाया और कहा तुम चारों एक-एक लकड़ी को तोड़ो चारों लड़कों ने एक एक लकड़ी फटाफट तोड़ फिर किसान बोला अब तुम चार पांच लकड़ियां एक साथ एक रस्सी में बांध हो चारो लकड़ी लड़कों ने सारी लकड़ियां एक रस्सी में बांधी

जादुई नाव की कहानी

किसान ने कहा कि तुम एक एक करके इस लकड़ी के गट्ठर को तोड़कर दिखाओ चारों ने बारी-बारी से खूब प्रयास किया परंतु चारों में से कोई भी उस लकड़ी के गट्ठर को तोड़ नहीं पाया किसान बोला क्या तुम चारों की समझ में एक बात आई अगर तुम चारों एक साथ रहोगे एक साथ मिलकर काम करोगे और घर में पैसा लाओगे तो तुम चारों को दुनिया में कोई नहीं हरा सकता और अगर तुम अलग-अलग काम करते हो और और आपस में लड़ते हो, तो सब तुम्हारी इस लड़ाई का फायदा उठाएंगे और तुम्हारे पास जो कुछ भी है धीरे-धीरे सब चला जाएगा किसान के चारों लड़कों की समझ में यह बात अच्छी तरह आ गई अब चारों अपने खेत में खूब मेहनत करते काम करते खेती करते और रात को जो भी उन्हें मिलता उसे मिल बांटकर खाते थे

 

Bal kahaniyan, Bal katha in hindi, बूढा किसान अपने लड़कों की एकता को देख कर बड़ा खुश हुआ इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि अगर हम आपस में मिल जुल कर रहे तो हम दुनिया की किसी भी मुसीबत का सामना कर सकते हैं but अकेले तो हम पे मुट्ठी भर भी मुसीबत पहाड़ के समान लगेगी और हम उसको हल नहीं कर पाएंगे इसीलिए एकता में बहुत शक्ति होती है

 

दो दोस्त की कहानी, Bal kahaniyan

Bal kahaniyan, दो दोस्त थे एक का नाम था राम दूसरे का नाम था श्याम दोनों एक साथ रहते थे बचपन से लेकर जवानी तक दोनों साथ-साथ रहते पढ़ते-लिखते खेलते थे राम पढ़ाई में अच्छा  था but उसका दिमाग बहुत तेज था और श्याम पढ़ाई में अच्छा नहीं था, इसका मतलब यह है राम पड़ने में बहुत मेहनत करता था और श्याम रट रट के पढता था, यह एक दिन दोनों दोस्त जंगल की तरफ घूमने के लिए चले, (Bal kahaniyan)

 

चलते चलते एक जगह उन्हें एक भालू दिखाई दिया वह दोनों डर गए कि भालू उन्हें खा जाएगा भालू को देख कर राम भालू को देखकर डर गया लेकिन श्याम भागकर जल्दी से पेड़ पर चढ़ गया Because उसको पेड़ पर चढ़ना आता था और भालू पेड़ पर जाकर उसको नहीं खा सकता था परंतु राम वहीं पर खड़ा रहा उसने पेड़ पर चढ़ना नहीं आता था अब वह सोचने लगा कि वह क्या करें उसने क्लास में पढ़ा था कि मुसीबत के समय हमें धैर्य नहीं खोना चाहिए और साहस से काम लेना चाहिए

मेरी किस्मत कब बदलेगी कहानी

उसे याद आया कि अगर हम जमीन पर सांस रोककर लेट जाएं तो भालू हमें नहीं खाएगा Because भालू मरे हुए जीवो को नहीं खाता वह सिर्फ जीवित कोई खाता है भालू को सामने से आता देख राम चुपचाप जमीन पर एकदम सीधे लेट गया और उसमें थोड़ी देर के लिए अपनी सास बंद कर ली, भालू जब उसके पास आया तो उसने सोचा यह तो मरा हुआ है वह उसे सूंघ आगे चल दिया और राम बच गया भालू को जाता देख श्याम ऊपर से पेड़ से नीचे उतर आया और राम के पास आया राम ने कहा मित्र तुम तो मुझे मुसीबत के समय अकेला छोड़ कर चले गए

 

Bal kahaniyan | Bal katha in hindi, श्याम ने कहा मैं तो अपनी जान बचाने गया था राम ने कहा तो फिर मेरा क्या होता अगर मुझे एक योजना ना आई होती तो आज मैं मर गया होता हमें दोस्ती उन्ही लोगों से करनी चाहिए जो मुसीबत में भी हमारे काम आ सके Because सुख में तो सब ही पूछ लेते हैं but मुसीबत के समय जो पूछे वही सच्चा मित्र और दोस्त होता है

 

शेर और चूहे की कहानी, bal katha in hindi

Bal kahaniyan, एक जंगल में एक शेर रहता था शेर जंगल का राजा था वह जंगल के सभी जानवर से से डरते थे Because अगर जंगल के जानवर कुछ भी गलत करते थे तो शेर उन्हें मारकर खा जाता था एक दिन दोपहर को शेर अपनी गुफा में सो रहा था गुफा के ऊपर एक छोटा सा चूहा कूद कूद कर खेल रहा था, अचानक वह  गुफा के अंदर जा गिरा और शेर के ऊपर गिर गया है शेर की नींद खुल गई और शेर गुस्से के मारे चिल्लाने लगा कौन है जिसने मेरी नींद हराम की है आज मैं उसको खा जाऊंगा छोटा चूहा डर गया हाथ जोड़कर बोला मुझे माफ कर दो जंगल के राजा आज के बाद मैं तुम्हें परेशान नहीं करूंगा मुझे माफ कर दो, (Bal kahaniyan)

राजकुमारी का विवाह किड्स कहानी

शेर बोला तुमने मेरी नींद से उठा दिया है अब मैं तुम्हें जरूर खा जाऊंगा चूहा बोला नहीं मैं तुम्हारे किसी भी काम आ सकता हूं या किसी भी मुसीबत मैं तुम्हारी मदद कर सकता हूं मुझे माफ कर दो फिर बोला तुम इतने छोटे से हो तुम मेरी क्या मदद करोगे चूहा बोला जब भी आपको जरुरत पड़ेगी मैं आपकी सहायता करुंगा, मुझे माफ कर दो उसे ने कहा चलो ठीक है तुम जाओ कुछ दिन बाद जंगल में कुछ शिकारी शेर को पकड़ने के लिए आए उन्होंने शेर को पकड़ने के लिए जाल बिछा दिया और शेर उस जाल में फंस गया अब से जोर जोर से दहाड़ने चिल्लाने लगा but किसी जंगली जानवर ने उसकी सहायता नहीं की और सब कहने लगे अच्छा है यह सब को परेशान करता है

 

Bal kahaniyan, Bal katha in hindi, इसको शिकारी पकड़ कर ले जाए तो अच्छा है मगर वहीं पास वह छोटा सा चूहा सब देख रहा था वह धीरे-धीरे आया और उसने अपने नुकीले दांतों से सारा जाल काट कर शेर को आजाद कर दिया फिर बोला तुमने मेरी बहुत मदद की है उस दिन आपने मुझे छोड़ दिया था, इसी के बदले मैंने आज आपकी सहायता की है शेर बोला आज से हम दोनों पक्के मित्र हैं इस तरह शेर और चूहे की दोस्ती हो गई दोनों साथ-साथ रहते खेलते और मजे करते थे. अगर ये कहानी आपको पसंद आयी हो तो आगे शेयर करे और कमेंट करके हमे भी बताये, 

 

काबिलियत पर घमंड, bal katha in hindi

Bal kahaniyan, एक बार सूरज और हवा में यह बहस छिड़ गई कि उन दोनों में से सबसे ज्यादा बलवान और शक्तिशाली कौन है सूरज बोला मैं सबसे ज्यादा शक्तिशाली और बलवान हूं हवा बोली नहीं मैं सबसे ज्यादा शक्तिशाली और बलवान हूं मैं जिसके चाहे कपड़े उतरवा सकती हूं सूरज बोला तुम्हें अपनी शक्ति पर इतना घमंड नहीं करना चाहिए. (Bal kahaniyan)

 

जो भी घमंड तो किसी का नहीं रहता हर किसी में कुछ गुण और कुछ अवगुण जरूर होते हैं पर इसका मतलब यह नहीं कि हमें अपने ऊपर घमंड होने लगे दोनों आपस में बहस करते जा रहे थे अचानक एक बूढ़ा आदमी वहां से गुजरा हवा ने कहा चलो इस बात का अभी फैसला हो जाता है जो सबसे पहले इस आदमी के कपड़े उतरवा आएगा वही सबसे ज्यादा शक्तिशाली और बलवान समझा जाएगा, सूरज बोला ठीक है सबसे पहले तुम कोशिश करो मौसम सही था लेकिन धीरे-धीरे हवा के तेज चलने लगी किसान एक धोती और कुर्ता ही पहने हुआ था उसके पास कुछ और नहीं था उसने अपनी चद्दर जो कंधे पर डाल रखी थी वह भी सर पर ओढ़ ली हवा और तेज चलने लगी किसान  ठंड के मारे काँप रहा था हवा और तेज चलने लगी

धन का पेड़ बहुत छोटा है किड्स कहानी

अब किसान को इतनी ठंड लगने लगी कि वह एक पेड़ के नीचे जाकर छुप गया और पेड़ की पेड़ की जड़ से लिपट गया उसे इतनी ठंड लग रही  थी उसे अपने शरीर को ढकने के लिए और कपड़ा चाहिए था यह देख कर सूरज हंसने लगा बोला था, शर्त लगी थी कि कौन उसके कपड़े उतरवाए का परंतु तुमने तो और इसे कपड़े पहनाने के काम कर दिए अब मेरी बारी है धीरे-धीरे हवा बंद होने लगी और सूरज निकलने लगा बादल हटने लगे हवा बंद होते ही किसान ने सोचा में आगे की तरफ जल्द वो धीरे धीरे चलने लगा सूरज और तेज चमकने लगा

एक शिक्षाप्रद कहानी

उसने जो चद्दर अपने शरीर पर लपेट रखी थी वह उसमें उतार कर अपने कंधे पर रख ली को सूरज इतना तेज होने लगा कि उसे पसीने आ गए अब उसने अपना कुर्ता भी उतार लिया चलते चलते उसे इतने पसीने आने लगे कि उसने अपनी धोती भी उतार ली और उसे पानी में भिगोकर, उसे अपने शरीर पर लगेगी लपेट ली हवा देख कर बहुत शर्म आई उसने सूरज से कहा तुम ठीक कहते थे कि हवा कितना भी तेज चले but मनुष्य के कपड़े तो केवल सूरज जी उतरवा सकता है गर्मी से तुमने उसके कपड़े उतरवा दिए और मैं सोचती थी कि मैं तेज इतनी तेज हवा चल आऊंगी उसके कपड़े उतर जाएंगे परंतु उससे तो उसको और ठंड लगने लगी थी

 

Bal kahaniyan, Bal katha in hindi, सूरज बोला इसीलिए कहता हूं हम में से किसी को भी अपने ऊपर घमंड नहीं करना चाहिए घमंड ना तो ज्यादा दिन तक रुकता है नहीं ठहरता है हर इंसान में कुछ न कुछ गुण जरूर होते हैं बस इतना है कि उसे उनकी पहचान आने चाहिए और उसे उन गुणों को बाहर निकाल कर अपने काम में उनका प्रयोग करना चाहिए. अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आगे भी जरूर शेयर करे और कमेंट करके हमे भी बातये.

दोस्ती की पहचान, bal katha in hindi

Bal kahaniyan, एक चिड़िया थी एक भैंस थी उन दोनों में गहरी दोस्ती थी वह जो भी काम करती थी एक साथ करती थी घूमने जाते थे एक साथ जाती थी जंगल में एक साथ जाते थे एक दूसरे के बिना और एक दूसरे की सलाह के बिना कोई भी काम नहीं करती थी, एक दिन वह जंगल में घूमने निकले घूमते-घूमते अचानक चिड़िया की पोट्टी आ गई चिड़िया ने कहा भैंस भैंस मेरी पोट्टी आ रही है भैंस ने का ठीक है तू मेरी पीठ पर कर ले चिड़िया ने उसकी पीठ पर कर ली भैंस नीचे जमीन पर अपनी पीठ रगड़ी और साफ करके जल्दी दोनों घर वापस आ गई, (Bal kahaniyan)

 

अगले दिन सुबह फिर उसी तरह दोनों जंगल में घूमने निकले जंगल में घूमते घूमते भैंस बोली चिड़िया आज मेरी पोट्टी आ रही है चिड़िया ने इधर उधर देखा बहुत सोचा विचार किया और फिर बोली मैं क्या करूं भैंस बोली कल जब तुम्हारी आई थी तो तुमने मेरी पीठ पर करी थी मेरी आ रही है तो मैं तुम्हारे पीठ पर करूंगी चिड़िया ने बहुत सोचा और बोली थी मैं तुमसे बहुत छोटी हूं but फिर भी तुम जैसा चाहो कर लो भैंस ने चिड़िया की पीठ पर अपने पॉटी कर ली भैंस का गोबर बहुत सारा होता है उसमें चिड़िया दब गई

 

भैंस ने चिड़िया को नहीं निकाला और वापस अपने जंगल में चली गई चिड़िया चिल्लाती रही but चूड़ियां कि उसमें एक भी ना सुनी उधर से एक कौवा उड़ता जा रहा था कौवा ने चिड़िया को देखा और फिर चिड़िया ने कहा की मुझे यह से बहार निकालो, और बोला ठीक है मैं तुम्हें यहां से निकालता हूं पर मैं तुम्हें निकालने के बाद तुम्हें खा जाऊंगा

दादी माँ की कहानी

चिड़िया बोले पहले यहां से तो निकलूंगा की बाद में सोचेंगे कौवा ने चिड़िया को निकाल लिया फिर बोला अब मैं तुम्हें खा जाऊंगा चिड़िया मेरे पास मैं तो सारी गंदी हो रही हूं पहले मुझे धो लो फिर खा लेना कौवा ने उसको धो लिया फिर बोला अब मैं तुम्हें खा जाऊंगा चिड़िया बोली मैं तो सारी गीली हुई हु पहले सूखा तो लो मुझे , सूखने के बाद जब चिड़िया धीरे-धीरे सूखने लगी तो चिड़िया उड़ गई को वह देखता रह.

बाघ और पंडित की कहानी

bal kahaniyan, bal katha in hindi, इस कहानी से हमें हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें दोस्तों पर कितना भरोसा करना चाहिए और हमारी मुसीबत में कौन सा दोस्त है जो हमारे काम आता है और कौन है जो हमें मुझे मुसीबत में अकेला छोड़ कर चला जाता है (Bal kahaniyan)

Read More Hindi Kids Story :-

लड़के की मेहनत नयी कहानी

राजा और रानी की अच्छी कहानी

आठ सबसे अच्छी कहानी

दो शेर की नयी कहानी

मेरी शक्ल का आदमी किड्स कहानी

जादू की किताब पुरानी कहानी

पेड़ के भूत की जातक कथा

सबसे अच्छी जातक कथा

राजा और प्रजा की नयी किड्स कहानी

बीरबल और नगर की कहानी

कबीले के पास की गुफा हिंदी कहानी

आदमी की मूंगफली किड्स कहानी

अकबर और बीरबल की साथ नयी कहानी 

जीवन में काम का महत्व की कहानी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!