कमरा नंबर 303, real ghost stories in hindi

real ghost stories in hindi

कमरा नंबर 303 की कहानी 

real bhoot.jpg

real ghost stories in hindi

real ghost stories in hindi, ये बात भोपाल के होटल के कमरा नंबर 303 की है , और जो भी इस कमरे मैं आकर रहता है उसकी ज़िन्दगी पूरी तरह से ही बदल जाती है. इस होटल से पहले यहाँ पर एक कालोनी हुआ करती थी जिसमे एक घर का नंबर था 303.





इस घर मैं एक छोटा सा परिवार रहता था, इस परिवार मैं टोटल 5 मेम्बर थे. सभी एक दूसरे से बहुत ज्यादा प्यार करते थे. लेकिन एक दिन इस परिवार की खुसियो मैं दाग लग गया , यानि की एक दिन जब ये सब बहुत ही गहरी नींद मैं सोये हुए थे तब कुछ चोर इनके घर मैं घुस गए.





लेकिन चोरो द्वारा आवाज़ होने पर जब ये लोग उठे तो चोरो ने इन सब को एक एक करके अपने हत्यार का निशाना बनाया और सभी को मार डाला. ये सब लोग तो मर गए लेकिन इस अकाल मृत्यु के कारण इनकी आत्मा इस घर मैं ही कैद हो गयी.

Read More-कालों चुड़ैल का सच 

काफी समय तक तो ये घर सुनसान ही पड़ा रहा , लेकिन लगभग 30 साल बाद किसी बिल्डर ने इस जंगह को खरीद लिया और यहाँ पर फ्लैट बना दिए. उस बिल्डिंग मैं एक फ्लैट का नंबर था 303. जो की उस घर का नंबंर था जिसके सभी लोगो का क़त्ल कर दिया गया था.

Read More-चलती गुड़िया

अब फ्लैट एक मोहन नाम के आदमी ने खरीद लिया. उसके साथ उसकी वाइफ आशा और एक छोटा सा बेटा राजा था. लगभग तीन महीने तो सब कुछ ठीक थक ही चला मोहन की लाइफ मैं , लेकिन एक रात ऐसी आयी जब उन्हें उस फ्लैट की सच्चाई के बारे मैं पता चला.

Read More-वो आदमी एक भूत था

रात के 1 बजे होंगे आशा को बहुत ही ज्यादा प्यास लगी थी तो वो पानी पिने के लिए किचिन मैं गयी. जब वो किचिन से पानी पीकर वापिस लौट रही थी तो उसने देखा की उसका बेटा राजा अपने बेड पर नहीं था बल्कि बाल्कनी मैं उसकी दीवार पर खड़ा था और वो भी किसी के सहारे बिना.

Read More-एक हवैली

आशा एक दम से चिल्लाई राजा, तभी अचानक से मोहन की आंख खुल गयी तो वो भी बाग़ कर वह आया और देखता क्या है की उसका बेटा बाल्कनी की दीवार पर खड़ा है और निचे कूदने को तैयार है. दोनों लोग बहुत ही ज्यादा घबरा गए. वो राजा को आवाज़ लगा रहे थे

Read More-एक साया जब दिखा

लेकिन राजा ने पीछे मुड़कर बिलकुल भी नहीं देखा. मोहन धीरे धीरे राजा की और बढ़ा और तुरंत ही उसे एक दम से पकड़ लिया. और अपनी और खिंच लिया. वो उसे दन्त रहे थे लेकिन राजा उनकी बात को बिलकुल भी नहीं सुन्न रहा था. क्युकी उसके अंदर राजा नहीं बल्कि वह के प्रेत की आत्मा थी , जो की उससे वो काम करवा रही थी.

Read More-उस रात की आकृति 

अगले दिन फिर वही हुआ , और उसे “राजा” को फिर से कूदने से बचा लिया गया. अब आशा को लगा की कुछ बात जरूर है , तो उसने तुरंत ही एक बाबा को अपने घर पर बुलाया. साधु बाबा ने घर को तुरंत जाँच तो पता चला की ये घर यानि की फ्लैट शापित है.

Read More-भूतिया जंगल

जो काम राजा कर रहा है वो खुद नहीं बल्कि उससे करवाया जा रहा है. अब तो मोहन और आशा बहुत ही बुरी तरह से डर गए थे , वो साधु बाबा से पूछने लग गए की ये आखिर है कोण जो मेरे बेटे को परेशान कर रहा है और आखिर चाहता क्या है. तब बाबा ने उन्हें सब बात बेट्यो की ये वो है और इसके साथ कुछ ऐसा हुआ था.

Read More-भूतो का गांव

real ghost stories in hindi, साधु बाबा ने कहा की अगर तुम अपने बेटे को ज़िंदा देखना चाहते हो तो तुरंत ये ये फ्लैट छोड़ के यहाँ से चले जाओ, नहीं तो तुम्हारा बच्चा ज़िंदा नहीं बेचेगा और तुम्हे भी बहुत बड़ी हानि हो सकती है. तो फिर अगले ही दिन मोहन और आशा अपने बेटे को लेकर इस फ्लैट को छोड़कर हमेशा हमेशा के लिए यहाँ से चले गए. अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आगे भी शेयर करे और हमे भी बताये

Read More-जब उस चुड़ैल ने देखा

Read More-किले का रहस्य

Read More-पेड़ का भूत एक कहानी

Read More-हवेली का प्रेत

Read More-कमरा नंबर 201 की कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!