एक भटकती आत्मा, haunted stories in hindi

haunted stories in hindi

एक भटकती आत्मा

real bhoot.jpg

haunted stories in hindi

haunted stories in hindi, ये बात उन दिनों की है जब मैं दिल्ली से राजस्थान जा रहा था अपने ऑफिस के काम से. मुझे मॉर्निंग मैं जल्दी पहुंचना था तो इसलिए मैं रात को दस बजे ही राजस्थान के लिए निकल पड़ा और वो भी अपनी ही गाड़ी से एकेला.





गुडगाँव पार करने के बाद मैंने जल्द से जल्द पहुंचने के लिए राजस्थान जाने वाला एक शार्ट कट रास्ता लेने की सोची और उस रस्ते पर चल दिया. लगभग 90 किलोमीटर चलने के बाद उस रस्ते पर लाइट नहीं जल रही थी और मुझे गाड़ी चलने मैं खासा परेशानी भी हो रही थी. मुझे कुछ साफ़ नज़र नहीं आ रहा था और रस्ता भी काफी खराब था.





कुछ पांच किलोमीटर चलने के बाद मुझे सामने रस्ते पर कोई नज़र आ रहा था. उसने मेरी गाड़ी की और रुकने का इशारा दिया और मैंने अपनी गाड़ी रोक दी. मैंने देखा की वो एक औरत थी और जिसने मुझसे खा की “क्या आप मुझे मेरे गांव मैं छोड़ सकते हो, जो की आगे नज़दीक ही है”.

Read More-कालों चुड़ैल का सच 

मैंने पूछा की आपका गांव कितनी दूर है , तो उसने खा की कुछ ही दूर है. तो मैंने उसे लिफ्ट दे दी. हम कुछ ही दूर चले होंगे की उसने मुझसे कहा की आप खा जा रहे है. तो मैंने खा की मैं राजस्थान जा रहा हु अपने किसी काम से और मैं दिल्ली मैं रहता हु.

Read More-चलती गुड़िया

मैंने उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम मोनिका बताया. मैंने खा की आप इतनी रात को यह कर कर रही है. तो उसने बताया की मैं घर आने के लिए निकली थी और रस्ते मैं बस ख़राब हो जाने के कारण मैंने ये छोटा रास्ता पकड़ लिया लेकिन मुझे बिलकुल भी नहीं पता था की यह पर कोई भी वहां नहीं मिलता है. इसलिए मैंने जब आपको देखा तो लिफ्ट मांग ली आपसे.

Read More-वो आदमी एक भूत था

हमे चलते हुए लगभग आधा घंटा हो चूका था लेकिन उसका गांव अभी भी नहीं आया था. मैंने पूछा की आपका गांव और कितनी दूर है तो उसने कहा की बस थोड़ी ही दूर है. मैं समझा की शायद नज़दीक ही होगा.

Read More-एक हवैली

लेकिन जब और एक घंटा हो गया तो मैं अब सोचने लग गया की ना तो रास्ता ख़तम हो रहा है और न ही इसका गांव ही आ रहा है. आखिर बात क्या है. की तभी मेरी गाड़ी अचानक से रुक गयी. मैंने खा आप अंदर ही बैठे मैं गाड़ी को देखता हु की क्या हुआ है.

Read More-एक साया जब दिखा

मैंने गाड़ी से उतर कर देखा और कुछ देर बाद जब मैं बोनट को निचे करता हु तो वो महिला गाड़ी मैं नहीं थी. तो मैंने उन्हें उनके नाम से आवाज़ लगानी शुरू कर दी लेकिन कोई भी नहीं बोल रहा था. मुझे लगा की शायद कुछ गड़बड़ है और मैं गाड़ी को स्टार्ट करने लग गया. गाड़ी स्टार्ट हो चुकी थी और जैसे ही मैं कुछ दूर चला तो अचानक से एक गांव नज़र आया.

Read More-उस रात की आकृति 

haunted stories in hindi, वह पर खड़े एक आदमी से मैंने पूछा की क्या अपने कोई महिला देखि है क्या. उसने पूछा कोण महिला. मैंने तो नहीं देखि. उसने खा की क्या वो नील रंग की शाहडी मैं थी , तो मैंने खा की हां. तब उसने मुझे बताया की वो ज़िंदा नहीं बल्कि एक भटकती आत्मा थी. जो बहुत साल पहले मर गयी थी, अब वो वीराने मैं भटकती रहती है.

Read More-भूतिया जंगल

Read More-भूतो का गांव

Read More-जब उस चुड़ैल ने देखा

Read More-किले का रहस्य

Read More-पेड़ का भूत एक कहानी

Read More-हवेली का प्रेत

Read More-कमरा नंबर 201 की कहानी

Read More-कमरा नंबर 303

Leave a Reply

error: Content is protected !!