मनुष्य या मानव पर निबंध, hindi nibandh

hindi nibandh

मनुष्य या मानव पर निबंध

hindi nibandh.jpg
hindi nibandh

मानव पर निबंध, मनुष्य जो कि पृथ्वी पर बहुत ही समझदार प्राणी है वह अपनी बुद्धि से बहुत से अविष्कार कर चुका है जिससे मानव जाति का बहुत ही फायदा हुआ है मनुष्य प्राणी अपने जीवन से बहुत ही अलग है क्योंकि यह अपनी बुद्धि का सही प्रयोग करके अनेक आविष्कार कर चुका है मानव जातियों कि अगर हम बात करें तो यह बंदरों से पूरी तरह से विकसित हो पाई है

 

अगर हम प्राचीन युग की बात करें तो उस समय में मानव बहुत ही बड़े और छोटे हुआ करते थे मानव गुफाओं में रहते थे और कच्चा भोजन खाते थे प्राचीन युग के मानव जानवरों की त्वचा और पत्तियों से अपने कपड़े बनाते थे उसके बाद उन्होंने सब्जियों और मांस को पकाकर खाना शुरू कर दिया था, इसके लिए उन्होंने आग का आविष्कार किया

 

जिसके बाद उन्होंने खाने को पकाना शुरू कर दिया मनुष्य पहले गुफाओं में रहते थे उसके बाद उन्होंने घर बनाने शुरू किए यह भी कोई अविष्कार से कम नहीं है क्योंकि सबसे पहले वह गुफाओं में रहते थे गुफाओं से निकलने के बाद उन्होंने अपने लिए घर बनाने शुरू किए उसके बाद उन्होंने घोड़ागाड़ी आदि बनाए जिससे कि वह सामान को इधर से उधर ले जाया करते थे

 

इसके बाद उनका समय भी बच गया क्योंकि उन्हें बहुत ही समय लगता था पैदल चलकर जाने में, जिससे उन्होंने जानवरों के साथ घोड़ा गाड़ी का प्रयोग करके अपने समय को भी बचा लिया मनुष्य ने उसके बाद बहुत से अविष्कार किए हैं अपनी जिंदगी को आरामदायक बनाने के लिए उन्होंने कई चीजों का आविष्कार किया उस दौरान उन्होंने सब्जियां उगाना और फलों को उगाना भी सीख लिया था

 

सभी काम मनुष्य ने मिलकर किए हैं उसके बाद उन्होंने अपने परिवार और दोस्तों के साथ विचारों को भी बांटना शुरू कर दिया था आज मनुष्य का जीवन लगातार सुख सुविधाओं के साथ बीत रहा है आज हमारे पास बहुत से सुख सुविधाएं हैं जैसा कि पहले युग में नहीं हुआ करती थी आज मनुष्य ने बहुत से आविष्कार किए हैं

 

मानव पर निबंध, जिनमें आज जहाजों के द्वारा यात्रा की जाती है जो कि कुछ ही समय में इंसान दूसरी जगह पर पहुंच सकता है इसके बाद बिजली का विकास भी हो गया है आज हम रात के समय में भी सब कुछ देख सकते हैं मनुष्य ने बहुत से ऐसे आविष्कार किए जो कि मानवों के लिए बहुत ही अच्छे साबित हुए हैं क्योंकि मनुष्य ही एक ऐसा प्राणी है जो अपनी बुद्धि से सब कुछ सीख लेता है और उनसे अनेक अविष्कार पूरे करते हैं जिससे मानव जाति का वापस विकास हो सके,

दिवाली पर हिंदी निबंध

दिवाली का त्योहार बहुत खुशियों से मनाया जाता है  यह हिन्दू का मुख्य त्यौहार है इसमें सभी लोग आपस में मिलते है और खुसिया बाटते है सभी लोग उस दिन सारे झगडे भूलकर इस त्योहार को मनाते है इस त्योहार का सीधा सम्बन्ध बुराई पर जीत का है दिवाली का त्योहार अक्टूबर या नवंबर में होता है

 

यह त्योहार एक हफ्ते तक होता है इसमें सभी रस्मो के साथ इसे मनाया जाता है दिवाली से पहले दिन लोग धनतेरस मनाते है दिवाली आने के एक हफ्ते पहले लोग अपने घर की सफाई आदि करवाते है और कुछ लोग अपने घर में पुताई भी करवा देते है लोग हफ्ते भर पहले पूजा की सभी समान आदि को लेकर आते है और इसमें नयी भगवान् की प्रतिमा भी ली जाती है

 

दिवाली का त्योहार इसलिए मनाया जाता है क्योकि उस दिन भगवान् राम अपने 14 वर्ष के वनवास से वापस आये थे और उनकी ख़ुशी के लिए यह त्यौहार मनाया जाता है इसी दिन माँ लक्ष्मी की भी पूजा होती है और सभी लोग शाम के वक़्त मिठाई आदि को भी बाटते है और आपस में मिलकर सभी झगड़ो को खत्म करते है 

 

जब शाम हो जाती है तो सभी लोग अपने घर के सामने मोमबत्ती और दीपक को जलाकर रख देते है जिससे की चारो और उजाला हो जाता है इस दिन सभी लोग खुश होते है दीपावली साल भर में एक बार आती है और लोग इसे बहुत ही खुसी से मनाते है उस दिन वो नए कपडे पहनते है और पूजा करते है

 

पूजा करने के बाद सभी को मिठाई बाटी जाती है चारो और खुसी का माहौल रहता है बहुत से लोग इस दिवाली पर पटाखे का प्रयोग करते है जाकी ऐसा नहीं करना चाहिए पटाखों से चारो और प्रदूषण हो जाता है इस प्रदूषण से बहुत सी बीमारी होती है और इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए

 

दिवाली मनाने के लिए पटाखे की कोई जरूरत नहीं है बल्कि आप अपने घर के बहार उजाला करके भी इस त्योहार को मना सकते है जब भी आप पटाखे का प्रयोग करते है तो इससे चारो और धुवा हो जाता है और वातावरण प्रदूषित होता है जिससे हमे परेशानी हो सकती है 

 

 जब भी वातावरण प्रदूषित होता है तो इससे हमे ही परेशानी होती है अगर आप आपने शरीर को सवस्थ रखना चाहते है तो आपको प्रदूषण होने से रोकना होगा और ये तभी होगा जब आप सभी लोग सहयोग करेंगे क्योकि सहयोग करने से ही हम प्रदूषण से सभी को बचा पाएंगे इसलिए आपको भी परदूसण नहीं करना है और अगर आपके सामने कोई भी कर रहा है तो आप उसे समझा सकते है इससे आप बहुत हद तक प्रदूषण से बच सकते है 

 

आपको चाहिए की आप पटाखे का प्रयोग बिकुल भी न करे और अपना त्योहार खुसी के साथ मनाये आप को चाहिए की इस दिन सभी गलती भूलकर  आप सभी लोग आपस में मिलजुल कर इस त्योहार को मनाये और एक दूसरे का ख्याल रखे

 

हम लोग कुछ-छोटी-छोटी गलती के कारन आपस में झगड़ा कर लेते है जिससे दूरिया भी बन जाती है इसलिए सबकुछ भुला कर आपस में प्रेम के साथ रहे और दिवाली का त्योहार मनाये  सभी को दिवाली पर एक दूसरे को हैप्पी दिवाली जरूर कहे अगर आपको यह निबंध पसंद आया हो तो आगे भी शेयर करे और हमे भी बताये.

Read More-होली का त्योहार

Read More-मकर सक्रांति 

Read More-रक्षाबंधन का त्यौहार 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!