रुद्राक्ष के प्रकार, type of rudraksha

type of rudraksha

रुद्राक्ष कितने प्रकार के होते है

type of rudraksha, रुद्राक्ष के बारे मैं बहुत से लोग पूरी तरह से नहीं जानते है और ये कैसे काम करता है , इस बारे मैं आज हम बतलाएंगे के ये किस तरह से काम करता है. हमारे हिन्दू धर्म मैं इसकी बहुत मान्यता है. 

 

एक मुखी रुद्राक्ष “ek mukhi rudraksha benefits in hindi”

 

  •  यह रुद्राक्ष केवल नेपाल मैं ही पाया जाता है और इसे धारण करने वाले व्यक्ति को पापो से मुक्ति मिल जाती है,   

दो मुखी रुद्राक्ष :-

  •  यह रुद्राक्ष भी नेपाल मैं पाया जाता है और इसे गो हत्या करने वाले पापो से मुक्ति दिलाते है इसे शिव शक्ति का स्वरूप माना जाता है.

तीन मुखी रुद्राक्ष:-

  • यह रुद्राक्ष को जो भी व्यक्ति धारण करता है उसे तीन काल का ज्ञान जैसे भूत भविष्य वर्तमान का ज्ञान प्राप्त होता है. 

चार मुखी रुद्राक्ष :-

  • इस रुद्राक्ष से हत्या करने वाले पापो से मुक्ति मिलती है. 

पञ्च मुखी रुद्राक्ष :-

  • इस रुद्राक्ष से सभी पापो से मुक्ति मिलती है इस रुद्राक्ष को जरूर धारण करे .

छ: मुखी रुद्राक्ष:-

  • यह रुद्राक्ष बीमारी को दूर करता है जैसे त्वचा से संभंधित और आँखों से संभंधित रोग दूर करता है. 

साथ मुखी रुद्राक्ष:-

  • यह रुद्राक्ष स्त्री के सुख की प्राप्ति दिलाने मैं मदद करता है. 

आठ मुखी रुद्राक्ष:-

  • यह रुद्राक्ष सभी कष्टो को दूर करने मैं सहायता करता है इसे सूर्य और चंद्र के बराबर माना जाता है. 

नो मुखी रुद्राक्ष:-

  • यह रुद्राक्ष इन्सान मैं एक नयी ऊर्जा को जाग्रत करता है.

दस मुखी रुद्राक्ष:-

  • यह रुद्राक्ष धन प्राप्ति करने मैं सहायता करता है. और साथ ही सभी पापो से मुक्ति भी मिलती है.

गयारह मुखी रुद्राक्ष:-

  • यह रुद्राक्ष बांझ स्त्री के लिए ब्हुत लाभ प्रध होता है साथ सभी पापो से मुक्ति मिलती है.

बारह मुखी रुद्राक्ष:-

  • यह रुद्राक्ष भगवन विष्णु को प्रसन करने मैं और मानसिक परेशानी दूर करने मैं सहायक होता है.

type of rudraksha, यह सभी रुद्राक्ष ब्हुत ही महत्व पूर्ण होते है अपनी जरुरत के अनुसार धारण कर सकते है. यह सभी फलदायी है 

इन्हे भी जरूर जानें:-

⇒नमक के लाभ 

⇒तनाव को कैसे दूर करे

⇒एलोवेरा का प्रयोग,

⇒प्याज़ का उपयोग हमारे जीवन में

⇒स्किन के लिए नींबू के फायदे 

गुलाब जल के दस फायदे

⇒जीवन में बदलाव के लिए जरुरी है ये बातें

⇒त्वचा की देखभाल कैसे करें

⇒पेट का फूलना

⇒दूध और अंडे के फायदे 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!