चमत्कारी बाबा की कहानी, ajab gajab hindi

Ajab gajab hindi

दुनिया में बहुत सी (ajab gajab hindi)ऐसी जगह है, जहा पर न जाने कितने चमत्कार होते है, यह कोई कहानी नहीं है बल्कि एक सच्चाई है, आपको भी यह पसंद आएगी.

चमत्कारी बाबा की कहानी : Ajab gajab hindi

hindi story.jpg
ajab gajab hindi

आप लोग तो इस कहावत को अच्छी तरह से जानते होंगे की यदि किसी को सांप काट ले तो वो कभी नहीं बच सकता. यदि कोई कोबरा ही आपको काट ले तो बचना नामुमकिन ही हो जाता है. आज हम आपको कुछ ऐसी ही एक कहानी सुनाने जा रहे है. कुछ साल पहले की बात है मध्य प्रदेश के भोपाल का रहने वाला किशोर सिंह रोजाना की तरह खेत में काम कर रहा था .

 

लेकिन उसे क्या पता था कि उसी खेत में मौत बनकर एक कोबरा वहा घूम रहा था . काम करने में उसका हाथ कोबरा को छु गया और कोबरा ने उसे डंस लिया . डंस कर जाते कोबरा को देखकर किशोर सिंह को अपनी जिन्दगी दूर जाती दिखाई दी . गाँव वाले किशोर सिंह को लेकर किसी अस्पताल की ओर ना जाकर उसे पास की कैथा गाँव में बने बाबा के मंदिर की और लेकर चल दिए . लेकिन आप लोग सोच रहे होंगे कि इस विज्ञान के युग में कैसे सर्पदंश वाले व्यक्ति को एक मंदिर में लाया गया.

 

मंदिर में कैसे कोई मरता हुआ इंसान ज़हर से बच सकता है. कौन है ये दास बाबा. आइये इनकी पुरी कहानी आपको बताये माना जाता कि आज से सौ साल पहले कैथा गाँव में एक किसान रहता था . जिसका नाम दास था . एक रात दास के सपने में एक सांप आया और उसने दास से मदद की गुहार की . सांप ने उसे पास के खेत में आकर उसके गले में फसे हड्डी के टुकड़े को निकालने को कहा. घबराकर दास सपने से उठ बैठा और उसके कुछ भी समझ नहीं आया . उसके कदम खेत की ओर चल दिए और वहा दास ने दर्द से तडपते सांप को देखा. दास ने सांप को दर्दमुक्त कर दिया. और खुश होकर सांप ने दास को नाग मंदिर बनवाने को कहा जहा दास के नाम की जय जयकार होगी .

 

कहते कि सब कुछ वैसा ही हुआ और कैथा का ये नाग मंदिर दास बाबा की जय जयकार से गूंजता है तो ये थी दास बाबा की कहानी . सर्पदंश से पीड़ित किशोर सिंह भी इसी आस्था के साथ दास बाबा के मंदिर में पंहुचा . किशोर सिंह को मंदिर में लेटाकर पर्दा बंद कर दिया गया . उसके बाद बाहर खड़े लोग दास बाबा की जय बोलते है . माना जाता कि जयकारा जितना तेज होता है मरीज उतना ही जल्दी ठीक भी हो जाता है .और कुछ ही देर बाद सर्पदंश से पीड़ित स्वस्थ होकर अपने पैरो से मंदिर के बाहर आया . ये सब देखते की गाँव के सभी लोग दास बाबा की जयकार करने लगे .

 

मित्रो ये ना तो कोई कहानी है और ना ही कोई अन्धविश्वास. अगर आप भी अगर उस गाँव में जायेंगे तो आपको पुजारी से यहाँ स्वस्थ होकर जाने वाले लोगो को चिट्टा एक कॉपी में मिल जाएगा . दूर दूर से सांप बिच्छु के कांटे लोग यहा पर आते है और मंदिर की भभूत खाने से वो स्वस्थ हो जाते है . यहा पर एक साल मे 1000 से भी ज्यादा ऐसे केस आते है लेकिन एक भी इन्सान की मौत यहा पर दर्ज नहीं है . ना केवल इन्सान बल्कि सांप बिच्छु के काटे जानवरों को भी यहा लाया जाता है यहा तक की इस गाँव के स्थानीय डॉक्टर भी इस चमत्कार को देखकर हैरान हो जाते है . ये कोई देवीय चमत्कार है या मनोविज्ञान का सच . जो भी है बिलकुल ही सत्य है.

अगर आपको यह चमत्कारी बाबा की कहानी (ajab gajab hindi)पसंद आयी है तो आप इसे Facebook पर शेयर करे, और अगर आप कुछ भी पूछना चाहते है, तो आप कमेंट कर सकते है,

Read More-पुर्नजन्म होता है

Read More-आसमान से गिरती है अजीब वस्तुए

Read More-बिना खाना खाये आज भी है स्वस्थ

Read More-दुनिया के अनसुलझे रहस्य

Read More-रहस्मयी मंदिर जहाँ आज भी

Read More-मेला जहां नाचते है भूत

Read More-गर्म तेल में भी नहीं जलते हाथ

Read More-बिजली पैदा करने वाला कपडा

Read More-सारत मोबाइल ऐप

Read More-टाइम मशीन से जुड़ा रहस्य

Read More-पृथ्वी के करीब बड़ा एस्ट्रॉयड

Read More-मेरी रूह काँप उठी

Read More-भूतिया रास्ते की कहानी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!