दवाइयों का व्यापार, business ideas hindi

business ideas hindi

दवाइयों का व्यापार  

medicine.jpg

 

business ideas hindi, दोस्तों आज दवाई के व्यवसाय बहुत ही तेजी से बढ़ता रहा है और आगे भी बढ़ता ही रहेगा, अगर आप भी दवाई की मार्केटिंग करना चाहते है तो आप को यह पर हम कुछ जानकारी देने जा रहे जिससे आपको पता चलेगा की दवाई के व्यवसाय कैसे होता है और इसमे कितना मुनाफा होगा.

 

आप कैसे भी शुरू कर सकते है जिसमे आपका इंटरेस्ट है जैसे की आप अपनी दुकान खोल सकते है, होलसेलर बन सकते है, हॉस्पिटल शुरू कर सकते हो, दवाई की मार्केटिंग कर सकते हो, और अपनी फार्मस्टिककल कंपनी शुरू कर सकते है.

 

अगर आप मार्केटिंग में बारे में ज्यादा इंटरस्टिंग है तो आप शुरू कर सकते है ये थोड़ा मुश्किल काम है पर अगर आपको पसंद है तो आप कर सकते है मार्किटिंग में आपको बहुत सी कंपनी की दवाई के प्रचार करना होता है. इसमे आपको हॉस्पिटल में जाकर डॉक्टर से मिलकर अपनी दवाई के बारे में बताना होता है और उसके लाभ भी,

 

जिससे की आपकी बताई जानकारी से संतुस्ट होकर डॉक्टर आपकी दवाई के सैंपल ले कर आपकी दवाई को सेलेक्ट करता है. और आपकी दवाई को चुन लिया जाता है. आप अपनी दवाई को मेडिकल स्टोर पर भी प्रचार कर सकते है ये बात तो हुई की किस प्रकार हम दवाई की मार्किटिंग करते है,

 

अगर इस काम को करने के लिए एक टीम भी बना सकते है और आप अकेले भी कर सकते ये आप पर निर्भर करता है, आपको कंपनी से सीधे ही दवाई नहीं मिलती है इसके लिए आपको होलसेलर बनना पड़ता तभी आपको दवाई मिल पाती है,

 

अगर आप किसी पर्टिक्युलर जगह पर है और आपको दवाई किसी और शहर से दवाई मागणी है तो आपको पहले उस कंपनी में बात करनी होगी और अपने आर्डर के बारे में बताना होगा, फिर उसके बाद कंपनी आपके माल को भेज देगी.

 

अब यहाँ तक जान गए की आपको दवाई का काम समझ आ गया अब इस काम से कितना कमाया जा सकता है ये जानना भी जरुरी है,

 

मान लीजिये आपने कंपनी से एक लाख माल खरीद और वो माल पूरा बिक जाता है तो आपको 70 से 8० हज़ार तक का आपको फ्रॉफिट होगा. ये अनुमान है बाकि रियल अमाउंट आपको अपने माल पर कितना मार्जन मिलता है ये बात और है, इसके लिए आपको सर्वे करना बहुत ही जरुरी है की कितना माल खपत होना है.

 

जब आप काम शुर्रू करते है तो आपको बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ेगा, और आप काम शुरू करने से पहले बड़े डॉक्टर से न मिलकर छोटे डॉक्टर से बात करनी चाहिए. आपको अपना एकाउंट्स बिलकुल सही रखना होगा कितना माल खरीद और कितना बाकी है इसका हिसाब भी बहुत जरुरी है, शरू में आपको काम फायदा होता है पर थोड़ा वेट करे आपका व्यपार धीरे धीरे बाद जायेगा, कोसिस करते रहे.

 

अगर आप सीधे ही अपने आप मार्कटिंग को चुनते है तो ये जरा मुश्किल काम होता है इसके लिए आपको सबसे पहले बाजार में एक सर्वे करना होगा और आपको जानना होगा की बाजार में किस तरह से आप अपने व्यपार को चला सकते है, इसके लिए आपको फार्मसी के ज्ञान होना बहुत ही जरुरी है, और साथ ही इंग्लिश आना भी जरुरी है जिससे आपको पढ़ने में कोई दिक्कत न आये क्योकि दवाइयों के नाम सभी अंग्रेजी में होते है,

 

इसके बाद आपको कुछ ही दवाई की मार्कटिंग को सेलेक्ट करना चाहिए क्योकि अगर आप बहुत साड़ी दवाई सेलेक्ट करते है तो आप उन्हें मांगे नहीं कर सकते, इसलिए आप चार से पांच दवाई को ही सेलेक्ट करे तभी आप उन्हें बेहतर कर पाएंगे,

 

ये काम आप अपने घर से आराम से कर सकते है, पेसो को लगाने से पहले आप सर्वे जरूर करे फिर पेसो को लगाए, आपको कुछ जरुरी इंतज़ाम करने होंगे, जैसे की दवाई को थोक मात्रा में लेना, डॉक्टर आपकी दवाई लिखे इसके लिए आपको बड़ी महंत करनी होगी,

 

business ideas hindi, कुछ फ्री सैंपल के इंतज़ाम करना, कुछ डायरी, या केलिन्डर आदि बाटने के लिए, अगर आपके पास ऑफिस है तो आप उसका भी प्रयोग कर सकते या फिर ऑफिस किराये पर लेकर भी कर सकते है इसके लिए आपको एक हेल्पर चाहिए होगा. और इन्वेस्ट करने के लिए तक़रीबन चार लांख के पास तक रूपये खर्च आएगा.

इन्हे भी जरूर जानें 

योगा की जानकारी  

वास्तु शास्त्र टिप्स 

माइंड को तेज करने के उपाय 

परफ्यूम के बारे में जरुरी बातें

स्किन के लिए नींबू के फायदे 

 गुलाब जल के दस फायदे

जीवन में बदलाव के लिए जरुरी है ये बातें

 त्वचा की देखभाल कैसे कर

पेट का फूलना

दूध और अंडे के फायदे 

Leave a Reply

error: Content is protected !!