राजा और सेवक, short stories for kids in hindi

short stories for kids in hindi

राजा और सेवक की कहानी 

stories for kids.jpg

short stories for kids in hindi

ये कहानी राजा और सेवक की है, जिसमे एक सेवक ने अपने राजा को एक बात का सबक दिलाया. वो बात क्या थी , वो हम आपको कहानी मैं बतायेगे. एक बार राजा विक्रम ने घोषणा की कि यदि कोई व्यक्ति सर्दी के मौसम में यमुना नदी के ठंडे पानी में घुटनों तक डूबा रह कर सारी रात गुजार देगा , उसे भारी भरकम पुरुस्कार दिया जाएगा.





एक गरीब कुम्हार ने अपनी गरीबी दूर करने की लिए हिम्मत की और सारी रात नदी में पानी में ठण्ड मैं बिताई और राजा से अपना ईनाम लेने पहुँचा. राजा विक्रम ने उससे पूछा, तुम कैसे सारी रात बिना सोए, खड़े-खड़े ही नदी में रात बिताए. तुम्हारे पास क्या सबूत है. कुम्हार ने उत्तर दिया, राजा, मैं सारी रात नदी छोर के महल के कमरे में जल रहे दीपक को देखता रहा और इस तरह जागते हुए सारी रात नदी के शीतल जल में गुजारी.




राजा ने क्रोधित होकर कहा, तो इसका मतलब यह हुआ कि तुम महल के दिए की गरमी लेकर सारी रात पानी में खड़े रहे और ईनाम चाहते हो. सिपाहियों इसे जेल में बन्द कर दो. सेवक भी दरबार में था. उसे यह देख बुरा लगा कि राजा उस गरीब पर जुल्म कर रहे हैं. सेवक दूसरे दिन दरबार में हाज़िर नहीं हुआ, जबकि उस दिन दरबार की एक आवश्यक बैठक थी. राजा ने एक खादिम को सेवक को बुलाने भेजा. खादिम ने लौटकर जवाब दिया, सेवक हलवा पका रहे हैं और वह हलवा पकते ही उसे खाकर आएँगे.

Read More-जल परी की कहानी

Read more-ऊंट और सियार की कहानी

जब सेवक बहुत देर बाद भी नहीं आए तो को सेवक की चाल में कुछ सन्देह नजर आया. वे खुद तफ़तीश करने पहुँचे. राजा ने देखा कि एक बहुत लंबे से डंडे पर एक घड़ा बाँध कर उसे बहुत ऊँचा लटका दिया गया है और नीचे जरा सी आग जला रखी है . पास में सेवक आराम से खटिए पर लेटे हुए हैं. राजा ने तमककर पूछा, यह क्या तमाशा है. क्या ऐसी भी हलवा पकता है.

Read More-शेखचिल्ली की दुकान

Read More-छोटा भीम और जादूगरनी

सेवक ने कहा, माफ करें, राजा, जरूर पकेगा. वैसी ही पकेगा जैसी कि कुम्हार को महल के दिये की गरमी मिली थी. राजा को बात समझ में आ गई. उन्होंने सेवक को गले लगाया और कुम्हार को रिहा करने और उसे ईनाम देने का हुक्म दिया. तो दोस्तों इस प्रकार से सेवक ने उस गरीब कुम्हार को उसका इनाम दिलाया और राजा को एक सबक भी दिया, की कभी भी किसी का हक़ नहीं खाना चाहिए.

Read More-दरबारियों की परीक्षा

Read More-मोटू पतलू और चिराग

Read More-मोटू पतलू और नगर की सफाई

Read More-अकबर और बीरबल की कहानी

Read More-लालच बुरी बला है

Read More-बच्चों की कहानी

Read More-बोलने वाले पक्षी

Read More-अलादीन का जादुई चिराग

Read More-कौवे और मैना की बाल कहानियां

Read More-चालाक लोमड़ी और भालू की कहानी

Read More-खरगोश की कहानी 

Read More-बच्चों का पार्क

Read More-अकबर बीरबल और युद्ध

Read More-बड़े हाथी की कहानी

Read More-एक शिक्षाप्रद कहानी

Read More-शेर और खरगोश

Read More-मोटू पतलू और साधू बाबा

Read More-मोटू पतलू और फिल्म शूटिंग

Read More-मोटू पतलू और जादुई फूल

Read More-मोटू पतलू और जादुई टापू

Read More-मोटू पतलू और मिलावटी दूध

Read More-छोटा भीम और जादूगरनी

Read More-छोटा भीम और क्रिकेट मैच

Read More-मोटू-पतलू का सपना

Read More-चाचा चौधरी और साबू

Read More-पेटू पंडित हास्य कहानी

Read More-शेखचिल्ली की कुश्ती

Read More-शेखचिल्ली का मजाक

Read More-मोटू और पतलू का जहाज

Read More-अकल की दवाई

Read More-कौवे का पेड़

Read More-छोटू का पार्क कहानी 

Read more-ऊंट और सियार की कहानी

Read More-राजा और लेखक

Read More- धनवान आदमी हिंदी कहानी

Read More-सेब का फल हिंदी कहानी

Read More-ढोंगी पंडित की कहानी 

Read More-बेवकूफ दोस्त की कहानी

Read More-मोटू और पतलू के समोसे

Read More-अमरूद किस का हिंदी कहानी

Read More-छोटा भीम और नगर में चोर

Read More-छोटा लड़का और डॉग

Leave a Reply

error: Content is protected !!