अकल की दवाई, lomdi ki kahani

lomdi ki kahani

lomdi.jpg

lomdi ki kahani

अकल की दवाई

lomdi ki kahani, bandar ki kahani, जंगल में एक लोमड़ी रहती थी लोमड़ी बहुत ही तेज और चालाक थी वह जंगल के सभी जानवरों को परेशान करती रहती थी जंगल के सभी जानवर जानते थे कि लोग लोमड़ी किसी का भी बेवकूफ बना सकती है




अपना मतलब निकालने के लिए एक दिन लोमड़ी पेड़ के नीचे बैठी थी उसने सोचा बहुत दिन हो गए जंगल के जानवरों का पागल नहीं बनाया चलो आज एक नई तरकीब निकालते हैं उसने जंगल के सभी जानवरों तक यह खबर पहुंचा दी की




लोमड़ी के पास अक्ल की ऐसी दवाई है जिसको खाने से में सबसे ज्यादा बुद्धिमान दिमाग हो जाता है औरत लोमड़ी अकल की दवाई को रोज खाती है तभी तो वह इतनी तेज और चालाक है

 

लोमड़ी की  इस चालाकी को समझ गए और कुछ जानवर उसकी बातों में आ गए उनमें से एक बंदर भी था बंदर ने जब यह सुना कर लोमड़ी के पास अकल की दवाई है तो वह दौड़ा दौड़ा लोमड़ी के पास गया बोला लोमड़ी मुझे भी अकल की दवाई दे दो

 

लोमड़ी ने कहा तुम दवाई तो ले लो पर उसके बदले तुम्हें मुझे कुछ देना होगा  लोमड़ी ने कहा मुझे कोई जानवर चाहिए जिससे मैं खाकर भूख मिटा सकता है कोई जानवर लोमड़ी के लिए खाने के लिए ले आया बदले नहीं लोमड़ी ने उस को अंगूर दे दिए

 

बंदर ने कहा दीदी यह तो अंगूर है लोमड़ी ने कहा देखो आ गई ना अकल ऐसी दवाई है जिसको खाने से पहले ही  दिमाग तेज हो जाता है और हम अपनी जीत को पहचान लेते हैं बंदर अपनी बेवकूफी पर  पता नहीं लगा और जंगल के

 

lomdi ki kahani, bandar ki kahani, सभी जानवरों को जब बंदर ने यह बात बताई तो सब जानवर उससे हंसने लगे और कहने लगे तुम लोगों की बातों में कैसे आ गए वह तो है ही इतनी चालाक इंसान हमारे सामने  कितना भी अच्छा बन जाए हमें कभी भी उस पर भरोसा नहीं करना चाहिए.

Related Posts:-

Read More-बाबा की सीख

Read More-ढोंगी पंडित की कहानी 

Read More-बेवकूफ दोस्त की कहानी

Read More-सेब का फल हिंदी कहानी

Read More-साधू की पद यात्रा

Read More- धनवान आदमी हिंदी कहानी 

Leave a Reply

error: Content is protected !!