बच्चों की कहानी, hindi story for class 2

hindi story for class 2

गुब्बारे की कहानी 

child story.jpg

child story in hindi

मैं आपको पिले गुब्बारे की कहानी के बारे मैं बताने जा रहा हु. जो की इस प्रकार है. एक दिन की बात है हमारी गली मैं एक गुब्बारे वाला आया. जिसका नाम रोहन था. लोग उसे गुब्बारे वाला ही कहते थे. सुजाता ने गुब्बारे वाले की आवाज़ सुनी और दौड़ कर बाहर आई. गुब्बारे वाले के हाथ में कुछ गुब्बारे थे. पीला, नीला, हरा और नारंगी. एक गाड़ी भी थी. गाड़ी पर हरी छतरी थी.





छतरी बड़ी थी. सबको छाया देती थी. गाड़ी में रंग-बिरंगे गुब्बारे भरे हुए थे. सुजाता ने सोचा वह अपनी फ्राक जैसा पीला गुब्बारा लेगी. मुझे एक गुब्बारा चाहिये. सुजाता ने कहा. क्या तुम्हारे पास पैसे हैं. गुब्बारेवाले ने पूछा. पीला गुब्बारा कितने का है. मैं माँ से पैसे ले कर आती हूँ. सुजाता ने कहा. दो रूपये ले कर आना. गुब्बारेवाले ने कहा. सुजाता माँ के पास से पैसे लेकर आई. गुब्बारे वाले को पैसे दिये और पीला गुब्बारा खरीदा.




गुब्बारा लेकर सुजाता गली में खेलने लगी. गली में भीड़ नहीं थी. पीला गुब्बारा पतंग की तरह लहरा रहा था. सुजाता धागे को उँगली पर लपेट लेती तो गुब्बारा उसके पास आ जाता. वह उसको गाल से लगाती तो नरम नरम लगता. रगड़ती तो मज़ेदार आवाज़ करता. वह धागे को छोड़ देती तो पीला गुब्बारा फिर से दूर आसमान में उड़ने लगता.

Read More-मोटू पतलू और चिराग

Read More-मोटू पतलू और नगर की सफाई

वह दौड़ती तो गुब्बारा भी साथ साथ ऊपर चलता. गली में खेलना सुजाता को अच्छा लगता था. खेल में बड़ा मज़ा था. सुजाता देर तक खेलती रही. पीला गुब्बारा उसका दोस्त बन गया. उसने पीला गुब्बारे का नाम ‘प्यारे’ रख दिया. बहुत देर हो गयी सुजाता, खेलना बंद करो और खाना खा लो. माँ ने भीतर से आवाज़ दी. सुजाता को भी भूख लग रही थी. आती हूँ माँ, सुजाता ने जवाब दिया.

Read More-शेखचिल्ली की दुकान

Read More-छोटा भीम और जादूगरनी

लेकिन वो पीला गुब्बारे के साथ खाना कैसे खाएगी, सुजाता ने सोचा. उसने गुब्बारे के धागे को दरवाज़े की कुंडी से बाँध दिया. प्यारे, मैं खाना खा लूँ तब तक तुम यहीं रहना. बाद में हम दोनों मिल कर फिर खेलेंगे. सुजाता ने कहा. शायद सुजाता ठीक से बाँध नहीं पायी. धागा खुल गया और पीला गुब्बारा आसमान में उड़ गया. सुजाता उसको पकड़ने के लिये दौड़ी पर वह ऊपर जा चुका था. सुजाता धागा नहीं पकड़ पाई. उसकी आँखों में आँसू आ गए. वह रोने लगी. माँ ने कहा, रो मत. कल नया गुब्बारा ले लेना. तो दोस्तों आपको ये गुब्बारे की नोक झोक वाली छोटी सी कहानी किसी लगी, हमे जरूर बताये.

 

तितलियों की कहानी

मैं एक छोटी सी कहानी सुनाने जा रहा हु, जिसे पढ़कर आपको बहुत ही अच्छा लगेगा. ज्यादा इधर उधर की बात न करते हुए मैं आपको सीधे कहानी पर आता हु, जो की इस प्रकार है. मीनू के बगीचे में लाल तितलियाँ थीं. वे बगीचे में उड़ती रहती थीं. कभी इस फूल पर कभी उस फूल पर. माँ कहती थीं कि तितलियाँ फूलों का रस पीती हैं. वही उनका भोजन है. चलो हम तितलियाँ पकड़ें.

Read More-जल परी की कहानी

Read more-ऊंट और सियार की कहानी

आशा ने कहा. उसके पास तितलियाँ पकड़ने वाला जाल था. नहीं नहीं तितली मत पकड़ो मीनू ने कहा. पकड़ने से तितली उड़ नहीं सकेगी. फिर वह फूलों का रस कैसे निकालेगी. उसे खाना कौन खिलाएगा. वह तो भूख से मर जाएगी. उसके पर कोमल हैं, पकड़ने से वे टूट जाएँगे.

Read More-बोलने वाले पक्षी

Read More-अलादीन का जादुई चिराग

हाँ, उड़ती हुई तितलियाँ सुन्दर लगती हैं. उन्हें उड़ने दो. चलो हम पेड़ के नीचे बैठकर उन्हें उड़ते हुए देखते हैं. आशा ने कहा. आशा और मीनू पेड़ के नीचे बैठ गईं और देर तक सुन्दर तितलियों को उड़ते हुए देखती रहीं. तो दोस्तों आप लोगो को ये तितलियों की बहुत ही खूबसूरत कहानी किसी लगी, हमे जरूर बताये. हम आपके जवाब का इंतज़ार करेंगे.

Read More-कौवे और मैना की बाल कहानियां

Read More-चालाक लोमड़ी और भालू की कहानी

Read More-खरगोश की कहानी 

Read More-बच्चों का पार्क

Read More-अकबर बीरबल और युद्ध

Read More-बड़े हाथी की कहानी

Read More-एक शिक्षाप्रद कहानी

Read More-शेर और खरगोश

Read More-मोटू पतलू और साधू बाबा

Read More-मोटू पतलू और फिल्म शूटिंग

Read More-मोटू पतलू और जादुई फूल

Read More-मोटू पतलू और जादुई टापू

Read More-मोटू पतलू और मिलावटी दूध

Read More-छोटा भीम और जादूगरनी

Read More-छोटा भीम और क्रिकेट मैच

Read More-मोटू-पतलू का सपना

Read More-चाचा चौधरी और साबू

Read More-पेटू पंडित हास्य कहानी

Read More-शेखचिल्ली की कुश्ती

Read More-शेखचिल्ली का मजाक

Read More-मोटू और पतलू का जहाज

Read More-अकल की दवाई

Read More-कौवे का पेड़

Read More-छोटू का पार्क कहानी 

Read more-ऊंट और सियार की कहानी

Read More-राजा और लेखक

Read More- धनवान आदमी हिंदी कहानी

Read More-सेब का फल हिंदी कहानी

Read More-ढोंगी पंडित की कहानी 

Read More-बेवकूफ दोस्त की कहानी

Read More-मोटू और पतलू के समोसे

Read More-अमरूद किस का हिंदी कहानी

Read More-छोटा भीम और नगर में चोर

Read More-छोटा लड़का और डॉग

Leave a Reply

error: Content is protected !!