कंजूस धोबी की हास्य कहानी, hindi stories

hindi stories

कंजूस धोबी की कहानी

hindi story.jpg

hindi stories

ये कहानी धोबी और धोबन की है, जो की बड़ी ही मजेदार कहानी है. आपको ये कहानी पढ़कर बड़ा ही अच्छा लगेगा. तो अब सीधे चलते है कहानी की और. एक था धोबी, एक थी धोबन और दोनों बहुत ही कंजूस थे. उनके घर कोई मेहमान आता, तो उन्हें लगता कि कोई आफत आ गई.





एक बार उनके घर तीन मेहमान आ धमके. धोबी के मन में फिक्र हो गई. उसने सोचा कि ऐसी कोई तरकीब चाहिए, कि ये मेहमान यहाँ से चले जाएं. धोबी ने घर के अन्दर जाकर धोबन से कहा, सुनो, जब मैं अपना डंडा लेकर तुम्हें मारने दौडू़ तो तुम आटे वाली बरनी लेकर घर के बाहर निकल जाना. मैं तुम्हारे पीछे पीछे दौड़ूंगा. मेहमान समझ जायेंगे कि इस घर में झगड़ा है, और वे वापस चले जाएंगे.




धोबन बोली, अच्छी बात है. कुछ देर के बाद धोबी घर में बैठा था. धोबी डंडा लेकर दौड़ा. धोबन ने आटे वाली बरनी उठाई और भाग खड़ी हुई. मेहमान सोचने लगे, लगता है यह धोबी कंजूस है. यह हमको खिलाना नहीं चाहता, इसलिए यह सारा नाटक कर रहा है. लेकिन हम इसे छोड़ेंगे नहीं. चलो, हम पहली मंजिल पर चलें और वहां जाकर सो जाएं. मेहमान ऊपर जाकर सो गए. यह मानकर कि मेहमान चले गए होंगे, कुछ देर के बाद धोबी और धोबन दोनों घर लौटे. मेहमानों को घर में न देखकर धोबी बहुत खुश हुआ और बोला, अच्छा हुआ बला टली.

Read More-शेखचिल्ली का मजाक

Read More-शेखचिल्ली की कुश्ती

Read More-शेखचिल्ली की तबीयत

फिर धोबी और धोबन दोनों एक दूसरे की तारीफ़ करने लगे. धोबी बोला, मैं कितना होशियार हूं कि डंडा लेकर दौड़ा. धोबन बोली, मैं कितनी फुरतीली हूं कि बरनी लेकर भागी. मेहमानों ने बात सुनी, तो वे ऊपर से ही बोले, और हम कितने चतुर हैं कि ऊपर आराम से सोए हैं. सुनकर धोबी धोबन दोनों खिसिया गए. उन्होंने मेहमानों को नीचे बुला लिया और अच्छी तरह खिला पिलाकर बिदा किया. तो दोस्तों आप लोगो को ये कहानी कैसी लगी, और क्या आप और भी ऐसी कहानिया चाहते है तो हमे जरूर बताये.

Read More-शेख चिल्ली बना डॉक्टर

Read More-पेटू पंडित हास्य कहानी

Read More-शेखचिल्ली की दुकान

Read More-शेखचिल्ली का डंडा

Read More-शेखचिल्ली का कुआं

Read More-दूल्हा बिकता है एक कहानी

Read More-मेरा बेटा हिंदी कहानी

Read More-जादूगर की हिंदी कहानी

Read More-छोटी सी बात हिंदी कहानी

Read More-भोजन मोजी जब रहे भूखे

Read More-समय जरूर बदलेगा

Read More-सोच का फल कहानी

Read More-निराली पोशाक

Read More-पेड़ और झाड़ी

Read More-राजा और चोर की कहानी

Read More-पत्नी का कहना

Read More-एक किसान

Read More-रेल का डिब्बा

Read More-छोटी सी मदद

Read More-दिल को छूने वाली कहानी

Read More-गुस्सा क्यों

Read More-राजा की सोच कहानी

Read More-हिंदी कहानी एक सच

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-हिंदी कहानी विवाह

Read more-गांव में बदलाव

Read More-चश्में की हिंदी कहानी

Read More-परीक्षा का परिणाम

Read More-सफल किसान एक कहानी

Read More-एक दूरबीन का राज

Read More-मोटू और ठण्ड

Read More-राजा और मंत्री की कहानी 

Read More-एक छोटी सी मदद की कहानी

Read More-एक नाटक से सीख

Read More-जादुई बक्सा हिंदी कथा

Read More-गुलाब के फूल की कहानी

Read More-समय का महत्व

Read More-एक किसान की कहानी

Read More-पशु की भाषा हिंदी कहानी

Read More-मेरे जीवन की कहानी

Read More-आखिर क्यों एक कहानी

Read More-मेरा बेटा हिंदी कहानी

Read More-दूल्हा बिकता है एक कहानी

Read More-जादूगर की हिंदी कहानी

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी

Read More-हीरे का व्यापारी

Read More-पंडित के सपने की कहानी

Read More-बिना सोचे विचारे

Read More-जादू की अंगूठी

Read More-गमले वाली बूढ़ी औरत

Read More-छोटी सी बात हिंदी कहानी

Read More-समय जरूर बदलेगा

Read More-सोच का फल कहानी

Read More-निराली पोशाक

Read More-पेड़ और झाड़ी

Read More-राजा और चोर की कहानी

Read More-पत्नी का कहना

Read More-एक किसान

Read More-रेल का डिब्बा

Read More-छोटी सी मदद

Read More-दिल को छूने वाली कहानी

Read More-गुस्सा क्यों

Read More-राजा की सोच कहानी

Read More-हिंदी कहानी एक सच

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-हिंदी कहानी विवाह

Read more-गांव में बदलाव

Read More-चश्में की हिंदी कहानी

Read More-परीक्षा का परिणाम

Read More-सफल किसान एक कहानी

Read More-एक दूरबीन का राज

Leave a Reply

error: Content is protected !!