जैसी करनी वैसी भरनी, hindi kahania

hindi kahania 

जैसी करनी वैसी भरनी 

hindi story.jpg

hindi kahania

मैं आज आपको एक ऐसे पक्षी की कहानी सुनाने जा रहा हु, जिसने अपने मतलब के लिए एक दूसरे पक्षी से दोस्ती की ताकि वो आराम से उसके साथ रहकर अपने जीवन को सुखद बना सके. लेकिन उसे क्या पता था की जैसा आप काम करते हो , आपको फल भी वैसा ही मिलता है.





तो आए देखते है की कैसे उस पक्षी को उसकी किये की सजा मिली. मेरठ शहर मैं एक बिज़नेस मैन रहता था, उसके घर मैं कोयल का एक घोसला भी था और वो भी किचिन मैं. एक दिन एक लालची गिद्ध जो है वो उधर से आ निकला . वंहा मछली को देखकर उसके मुह में पानी आ गया .




तब उसके मन में विचार आया कि मुझे इस किचिन में घुसना चाहिए लेकिन कैसे घुसू ये सोचकर वो परेशान था. तभी उसकी नजर वो कोयल के घोंसले पर पड़ी . उसने सोचा कि मैं अगर कोयल से दोस्ती कर लूँ तो शायद मेरी बात बन जाएँ . कोयल जब दाना चुगने के लिए बाहर निकली है तो गिद्ध उसके साथ साथ निकलता है . थोड़ी देर बाद कोयल ने पीछे मुड़कर देखा कि गिद्ध उसके पीछे है.

Read More-राजा और मंत्री की कहानी 

Read More-एक छोटी सी मदद की कहानी

इस पर कोयल ने गिद्ध से कहा भाई तुम मेरे पीछे क्यों हो, इस पर गिद्ध ने कोयल से कहा कि तुम मुझे अच्छे लगते हो इसलिए मैं तुमसे दोस्ती करना चाहता हूँ. इस पर गिद्ध से कोयल ने कहा कि हम कैसे दोस्त बन सकते है हमारा और तुम्हारा भोजन भी तो अलग अलग है मैं बीज खाता हूँ और तुम मांस .

Read More-एक नाटक से सीख

Read More-जादुई बक्सा हिंदी कथा

इस पर गिद्ध ने चापलूसी दिखाते हुए कहा , कौन सी बड़ी बात है मेरे पास घर नहीं है. इसलिए हम साथ साथ तो रह ही सकते है , और साथ ही भोजन खोजने आया करेंगे तुम अपना और मैं अपना . इस पर घर के मालिक ने देखा कि कोयल के साथ एक गिद्ध भी है तो उसने सोचा कि चलो कोयल का दोस्त होगा , इसलिए उसने उस बारे में अधिक नहीं सोचा .

Read More-गुलाब के फूल की कहानी

Read More-समय का महत्व

अगले दिन कोयल खाना खोजने के लिए साथ चलने को कहता है तो गिद्ध ने दर्द का बहाना बना कर मना कर दिया . इस पर कोयल अकेला ही चला गया, क्योंकि गिद्ध ने घर के मालिक को यह कहते हुए सुना था. नौकर को कि आज कुछ मेहमान आ रहे है इसलिए तुम मछली बना लेना .

Read More-एक किसान की कहानी

Read More-पशु की भाषा हिंदी कहानी

उधर गिद्ध नौकर के रसोई से बाहर निकलने का इन्तजार ही कर रहा था कि उसके जाते ही गिद्ध ने थाली और झपटा और मछली उठाकर आराम से खाने लगा . नौकर जब वापिस आया तो गिद्ध को मछली खाते देख गुस्से से भर गया और उसने गिद्ध को पकड़ कर गर्दन मरोड़ कर मार डाला . जब शाम में कोयल वापिस आया तो उसने गिद्ध की हालत देखी तो सारी बात समझ गया . इसलिए बुजुर्गो का ये कहना सत्य है की जो जैसा करता है वो वैसा ही भरता है. इसलिए हमे सदा ही सही काम करने चाहिए, कभी भी हमे गलत काम नहीं करने चाहिए.

Read More-उस पल की कहानी

Read More-एक महाराजा की कहानी

Read More-वो सोता और खाता था हिंदी कहानी

Read More-मंगू और दूसरी पत्नी की कहानी

Read More-सोच की कहानी

Read More-एक शादी की कहानी

Read More-छोटा सा गांव हिंदी कहानी

Read More-एक बोतल दूध की कहानी

Read More-सुबह की हिंदी कहानी

Read More-जादुई लड़के की हिंदी कहानी

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-आईने की हिंदी कहानी

Read More-जादुई कटोरा की कहानी

Read More-एक चोर की हिंदी कहानी

Read More-जीवन की सच्ची कहानी

Read More-छज्जू की प्रतियोगिता

Read More-जब उस पार्क में गए

Read More-असली दोस्ती क्या है

Read More-एक अच्छी छोटी कहानी

Read More-गुफा का सच

Read More-बाबा का शाप हिंदी कहानी

Read More-यादगार सफर

Read More-सब की खातिर एक कहानी

Read More-जादू का किला    

Read More-मेरे जीवन की कहानी

Read More-आखिर क्यों एक कहानी

Read More-मेरा बेटा हिंदी कहानी

Read More-दूल्हा बिकता है एक कहानी

Read More-जादूगर की हिंदी कहानी

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी

Read More-हीरे का व्यापारी

Read More-पंडित के सपने की कहानी

Read More-बिना सोचे विचारे

Read More-जादू की अंगूठी

Read More-गमले वाली बूढ़ी औरत

Read More-छोटी सी बात हिंदी कहानी

Read More-समय जरूर बदलेगा

Read More-सोच का फल कहानी

Read More-निराली पोशाक

Read More-पेड़ और झाड़ी

Read More-राजा और चोर की कहानी

Read More-पत्नी का कहना

Read More-एक किसान

Read More-रेल का डिब्बा

Read More-छोटी सी मदद

Read More-दिल को छूने वाली कहानी

Read More-गुस्सा क्यों

Read More-राजा की सोच कहानी

Read More-हिंदी कहानी एक सच

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-हिंदी कहानी विवाह

Read more-गांव में बदलाव

Read More-चश्में की हिंदी कहानी

Read More-परीक्षा का परिणाम

Read More-सफल किसान एक कहानी

Read More-एक दूरबीन का राज

Leave a Reply

error: Content is protected !!