जब अधिक ज्ञान आता है, gyan ki kahaniya

gyan ki kahaniya

gyan ki kahaniya.jpg

gyan ki kahaniya

जब अधिक ज्ञान आता है हिंदी कहानी 

gyan ki kahaniya, hindi ki kahaniya, hindi story, एक दिन एक आदमी जंगल से गुजर रहा था वह आदमी बहुत ही परेशान था और किसी  जगह को ढूंढ रहा था जहां पर वह अपना जीवन बिता सके क्योंकि वह जीवन में अकेला पड़ गया था और उसे बहुत सी परेशानियां भी हो रही थी




थोड़ी दूर चलने के बाद उसे एक आश्रम दिखाई दिया जहां पर एक साधु महाराज कुछ जानवरों से और पशु पक्षियों से बात कर रहे थे इन जानवरों से बातों को करता देख उस आदमी ने सोचा कि अगर मैं भी यह जान सकूं कि यह बातें कैसे होती है तो मुझे बड़ा फायदा होगा




फिर वह उस साधु महाराज जी के पास गया और अपनी समस्या उन्हें बताई और कहा कि मुझे अगर यह विद्या सीखने को मिल जाए तो इससे दूसरों का भला कर पाऊं और साधु महाराज ने  विद्या उसे सिखा दी और कहा कि इसका गलत उपयोग बिल्कुल भी मत करना

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी 

ऐसा कहकर वह अपने नगर को चल दिया जहां से वह आया था और सोचने लगा था कि अब तो मुझे यह ज्ञान मिल गया है अब मैं अपना फायदा करूंगा फिर वह अपने घर आ गया और घर आकर अपने जानवरों की सेवा करने लगा उनका दूध निकालने लगा

Read More-राजभोज का आनंद

फिर उसने देखा कि कबूतर बातें कर रहे थे कि यह जो बकरी है इसके पास यह जल्दी ही बीमार पड़ जाएगी और मर जाएगी फिर उस आदमी ने सोचा कि इस बकरी को जल्दी ही बेच देता हूं नहीं तो या मर जाएगा

Read More-राजा की सोच कहानी

मेरे भी किसी काम के नहीं होगी और उसने अच्छे दामों पर वह बकरी बेच दी फिर 2 दिन बाद एक कुत्ता बात कर रहा था कि इसके पास जो यह है बैल है यह जल्दी ही बीमार पड़ जाएगा और यह ज्यादा चल फिर भी नहीं पाएगा इन बातों को सुनकर उस आदमी ने सोचा कि इस बैल को भी बेच देता हूं नहीं तो यह मेरे लिए समस्या बन जाएगा

Read More-पंडित और रामू की कहानी

फिर उस आदमी ने अगले दिन बाजार में जाकर बैल को भेज दिया और कुछ दिन बाद पता लगा कि बकरी भी नहीं रही और बैल भी बीमार पड़ गया अब वह आदमी खुश हो गया कि मुझे कोई ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है

Read More-रामनाथ की साइकिल हिंदी कहानी

मैंने तो समय से पहले ही यह भेज दिया था फिर कुछ दिनों बाद बिल्ली बातें कर रही थी कि यह जो हमारा मालिक है जो यहां पर रहता है यह भी जल्दी बीमार पड़ने वाला है पहले तो उस आदमी को विश्वास नहीं हुआ

 

gyan ki kahaniya, hindi ki kahaniya, hindi story, लेकिन फिर वह साधु महाराज जी के पास गया और कहने लगा कि मैंने जानवरों से सुना है कि मैं बीमार पड़ने वाला हूं अगर आप कोई ऐसा उपाय बता दें कि जिससे मैं बीमार ना पड़े तो इस पर साधु महाराज ने कहा मैंने पहले ही कहा था कि इस ज्ञान का गलत उपयोग मत करना और समझाया था कि तुम इसका उपयोग गलत कामों के लिए नहीं करोगे लेकिन तुम नहीं माने अब जो है वह तो खुद ही भुगतना होगा.

More Hindi Story       More Moral Story

Leave a Reply

error: Content is protected !!