अजनबी मेहमान की कहानी, good story in hindi

good story in hindi

अजनबी मेहमान की कहानी 

hindi story.jpg

good story in hindi

ये कहानी एक ऐसे किरदार की है , जो की बिना अपना अंजाम जाने ही किसी की बात मैं आ जाता है और आखिर मैं अपनी जान गवा बैठता है. एक राजा शीलदत्त के कमरे में मंदाकनी नाम की जोंक ने डेरा डाल रखा था. रोज रात को जब राजा शीलदत्त जाता. तो वह चुपके से बाहर निकलती और राजा शीलदत्त का खून चूसकर फिर अपने स्थान पर जा छिपती.





संयोग से एक दिन शिवदत्त नाम का एक मछर भी राजा शीलदत्त के कमरे में आ पहुंचा. जोंक ने जब उसे देखा तो वहां से चले जाने को कहा. उसने अपने अधिकार क्षेत्र में किसी अन्य का दखल सहन नहीं था. लेकिन मछर भी कम चतुर न था, बोलो, देखो, मेहमान से इसी तरह बर्ताव नहीं किया जाता, मैं आज रात तुम्हारा मेहमान हूं.




जोंक अततः मछर की चिकनी चुपड़ी बातों में आ गई और उसे शरण देते हुए बोली, ठीक है, तुम यहां रातभर रुक सकते हो, लेकिन राजा शीलदत्त को काटोगे तो नहीं उसका खून चूसने के लिए. मछर बोला, लेकिन मैं तुम्हारा मेहमान है, मुझे कुछ तो दोगी खाने के लिए. और राजा शीलदत्त के खून से बढ़िया भोजन और क्या हो सकता है. ठीक है. जोंक बोली, तुम चुपचाप राजा शीलदत्त का खून चूस लेना, उसे पीड़ा का आभास नहीं होना चाहिए. जैसा तुम कहोगी, बिलकुल वैसा ही होगा.

Read More-राजा और मंत्री की कहानी 

Read More-एक छोटी सी मदद की कहानी

कहकर मछर कमरे में राजा शीलदत्त के आने की प्रतीक्षा करने लगा. रात ढलने पर राजा शीलदत्त वहां आया और बिस्तर पर पड़कर सो गया. उसे देख मछर सब कुछ भूलकर राजा शीलदत्त को काटने लगा, खून चूसने के लिए. ऐसा स्वादिष्ट खून उसने पहली बार चखा था, इसलिए वह राजा शीलदत्त को जोर जोर से काटकर उसका खून चूसने लगा.

Read More-एक नाटक से सीख

Read More-जादुई बक्सा हिंदी कथा

इससे राजा शीलदत्त के शरीर में तेज खुजली होने लगी और उसकी नींद उचट गई. उसने क्रोध में भरकर अपने सेवकों से मछर को ढूंढकर मारने को कहा. यह सुनकर चतुर मछर तो पंलग के पाए के नीचे छिप गया, लेकिन चादर के कोने पर बैठी जोंक राजा शीलदत्त के सेवकों की नजर में आ गई. उन्होंने उसे पकड़ा और मार डाला. तो दोस्तों इसलिए ये बात सही है की कभी भी किसी अनजान किबट्ट पर हमे कभी भी एक दम से भरोसा नहीं करना चाहिए.

Read More-गुलाब के फूल की कहानी

Read More-समय का महत्व

Read More-एक किसान की कहानी

Read More-पशु की भाषा हिंदी कहानी

Read More-उस पल की कहानी

Read More-एक महाराजा की कहानी

Read More-वो सोता और खाता था हिंदी कहानी

Read More-मंगू और दूसरी पत्नी की कहानी

Read More-सोच की कहानी

Read More-एक शादी की कहानी

Read More-छोटा सा गांव हिंदी कहानी

Read More-एक बोतल दूध की कहानी

Read More-सुबह की हिंदी कहानी

Read More-जादुई लड़के की हिंदी कहानी

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-आईने की हिंदी कहानी

Read More-जादुई कटोरा की कहानी

Read More-एक चोर की हिंदी कहानी

Read More-जीवन की सच्ची कहानी

Read More-छज्जू की प्रतियोगिता

Read More-जब उस पार्क में गए

Read More-असली दोस्ती क्या है

Read More-एक अच्छी छोटी कहानी

Read More-गुफा का सच

Read More-बाबा का शाप हिंदी कहानी

Read More-यादगार सफर

Read More-सब की खातिर एक कहानी

Read More-जादू का किला    

Read More-मेरे जीवन की कहानी

Read More-आखिर क्यों एक कहानी

Read More-मेरा बेटा हिंदी कहानी

Read More-दूल्हा बिकता है एक कहानी

Read More-जादूगर की हिंदी कहानी

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी

Read More-हीरे का व्यापारी

Read More-पंडित के सपने की कहानी

Read More-बिना सोचे विचारे

Read More-जादू की अंगूठी

Read More-गमले वाली बूढ़ी औरत

Read More-छोटी सी बात हिंदी कहानी

Read More-समय जरूर बदलेगा

Read More-सोच का फल कहानी

Read More-निराली पोशाक

Read More-पेड़ और झाड़ी

Read More-राजा और चोर की कहानी

Read More-पत्नी का कहना

Read More-एक किसान

Read More-रेल का डिब्बा

Read More-छोटी सी मदद

Read More-दिल को छूने वाली कहानी

Read More-गुस्सा क्यों

Read More-राजा की सोच कहानी

Read More-हिंदी कहानी एक सच

Read More-दोस्त की सच्ची कहानी

Read More-हिंदी कहानी विवाह

Read more-गांव में बदलाव

Read More-चश्में की हिंदी कहानी

Read More-परीक्षा का परिणाम

Read More-सफल किसान एक कहानी

Read More-एक दूरबीन का राज

Leave a Reply

error: Content is protected !!