बुद्धिमान राजा या नौकर, funny story in hindi

funny story in hindi

बुद्धिमान राजा या नौकर

story.jpg

story in hindi

funny story in hindi, यह कहानी एक ऐसे राजा की है जो अपने आप को बहुत ही बुद्धिमान समझता था वह सोचता था कि उससे  बुद्धिमान कोई भी दुनिया में नहीं है





राजा मन में यह सोचा करता था कि लोग उसके बारे में क्या सोचते हैं 1 दिन ऐसा सोचकर राजा ने दरबार में सभी को बुलाया सभी लोग दरबार में शामिल हो गए तो राजा ने अपनी एक उंगली उठाकर सभी को दिखाई





सभी दरबारी राजा की ओर देखने लगे और सोचने लगे कि पता नहीं राजा क्या पूछ रहा है सभी लोग राजा से डरते थे इसलिए किसी ने भी अपने मुंह से कुछ भी बोलना सही नहीं समझा हमसे राजा ने अपने मंत्री को अपने पास बुलाया और कहा कि

 

मुझे सबसे बुद्धिमान आदमी ढूंढ कर दिखाओ और उसे मेरे पास लेकर आओ मैं जानना चाहता हूं कि मुझे भी बुद्धिमान दुनिया में है या नहीं है राजा का मंत्री बहुत परेशान हो गया काफी दिन बीत गए लेकिन उसे ऐसा कोई भी आदमी नहीं मिला जो बहुत ही बुद्धिमान हो

 

अब राजा का मंत्री यह सोचने लगा कि राजा जी अगले दिन  उससे पूछेंगे कि ऐसा कोई आदमी उसे मिला है या नहीं उसी वक्त राजा के मंत्री का बेटा वही पर था और उसने कहा कि पिताजी मैं आपकी समस्या का हल कर सकता हूं

 

मंत्री बड़ा खुश हुआ उसने सोचा कि चलो मेरे बेटे ही मेरी मदद कर दे उसके बेटे ने अपने नौकर को बुलाकर कहा कि आप इसे राजा के पास ले जाइए और राजा की सारी समस्याओं का हल आसानी से कर सकता है पर मंत्री को विश्वास नहीं हो रहा था

 

एक नौकर कैसे बुद्धिमान हो सकता है और अपने बेटे की बात रख कर मंत्री नौकर को अपने साथ ले गया और राजा के सामने खड़ा कर दिया और कहा कि यह सबसे बुद्धिमान यह जो मुझे मिला है राजा ने उसकी ओर देखा और राजा ने एक उंगली दिखाई

 

जब नौकर ने एक उंगली राजा की देखी तो नौकर ने दो उंगली राजा को दिखाएं फिर कुछ देर बाद राजा ने तीन उंगली दिखाई और नौकर ने तीन उंगलियां देखकर अपना सिर हिलाया और वहां से जाने के लिए तैयार हो गया

 

तभी राजा ने कहा कि मैं समझ गया हूं यह व्यक्ति भी बुद्धिमान है राजा ने उसे काफी धन दिया और वहां से चला गया पर मंत्री को कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था इसलिए राजा से मंत्री ने पूछा कि आपने उससे क्या पूछा था

 

तभी राजा ने कहा कि मैंने उसे एक उंगली दिखाई कि क्या वह मुझसे बुद्धिमान है लेकिन उसने दो उंगली दिखाई यानी कि वह ऊपर वाला भगवान ही सबसे बुद्धिमान है राजा ने कहा कि मेने उसे 3 उंगलियां और दिखाई कि क्या हम तीनों में से भी कोई बुद्धिमान है

 

तब उसने अपना सर हिलाया और कोई नहीं है यह सुनकर मंत्री जी के घर आ गए और और नौकर से पूछा की कि तुमने राजा का क्या जवाब दिया

 

नौकर ने कहा कि मैंने तो सिर्फ इतना सोचा था कि मेरे पास तीन बकरियां है अब राजा ने कहा कि एक बकरी मुझे दे दो तो मैंने सोचा कि एक बकरी का क्या करेंगे वे दोनों मैं राजा को दो बकरियां दे देता हूं लेकिन जब राजा ने तीनों बकरी लेनी चाही

 

funny story in hindi, तो मैंने उन्हें मना कर दिया और वहां से चलने लगा मंत्री ने पूरी बात सुनी तो मंत्री नौकर की तरफ देखकर मुस्कुराए और सोचने लगे कि दुनिया भी बड़ी पागल है कि कहते कुछ हैं और सुनता कुछ है अगर आपको यह कहानी पसंद है यह आगे भी शेयर करें और कमेंट करके हमें भी बताएं.

Related Posts:-

Read More-बाबा की सीख

Read More-ढोंगी पंडित की कहानी 

Read More-बेवकूफ दोस्त की कहानी

Read More-सेब का फल हिंदी कहानी

Read More-साधू की पद यात्रा

Read More- धनवान आदमी हिंदी कहानी 

Read More-बहादुर बच्चा

Read More-राजा की बात हिंदी कहानी

Read More-छोटी सी मुलाकात कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!