अकबर का इतिहास काल, akbar history in hindi

akbar history in hindi

akbar.jpg

अकबर के इतिहास काल से जुडी जानकारी 

akbar history in hindi, आज हम यहां पर अकबर के जीवन काल के बारे में बताएंगे अकबर का पूरा नाम अबुल फतेह जलालुद्दीन मोहम्मद अकबर का जन्म 15 अक्टूबर 1542 अमर कोर्ट में हुआ था अकबर के पिता का नाम हिमायू था और माता का नाम हमीदा बानो.




यहां पर हम अकबर की पत्नी के बारे में जानकारी देंगे अकबर की पत्नी जोधाबाई सलीमा सुल्तान, मरियम थी अकबर के पुत्र का नाम जहांगीर और  और दूसरा नाम सलीम था अकबर की मृत्यु 27 अक्टूबर 1605 में हो गई थी




जब अकबर के पिता की मृत्यु हुई अकबर की उम्र 13 साल की थी अकबर अपने  राज्य का विस्तार से बढ़ाना चाहता था इसके लिए उसने दूसरे राज्यों से वैवाहिक संबंध मित्रता आदि का उपयोग करना शुरू कर दिया अकबर का मानना था कि अगर हम इसका प्रयोग करते हैं तो इससे हमारे सम्राज्य को पूरी शक्ति प्रदान होगी

हमारे साम्राज्य का विस्तार पूरे राज्य में हो पाएगा अकबर का विवाह जोधा से इस तरह हुआ क्योंकि अकबर ने राजपूतों के साथ अब मित्रता बनाई और मित्रता बनाने के बाद उनके परिवार से मेलजोल हुआ जिससे उनकी शादी जोधा अकबर से हो गई जोधा अकबर की  प्रेम कहानी आज भी पढ़ी जा सकती हैं

 

 अकबर एक महान शासक था उस ने हिंदुओं के लिए बहुत ही अच्छे काम किए हिंदुओं का जजिया कर भी अकबर ने समाप्त कर दिया था जिससे हिंदू राज्य भी खुश हो गए थे इसका कारण था कि मैं अकबर पर पूरा भरोसा करने लगे थे बहुत से राजपूतों ने अकबर की अकबर की मित्रता को स्वीकार कर लिया था

Read More-अजब गजब हिंदी

लेकिन महाराणा प्रताप ने मित्रता करने से इंकार कर दिया था हल्दीघाटी का युद्ध आपने सुना ही होगा महाराणा प्रताप के बीच यह बहुत ही भयंकर युद्ध जिसमें महाराणा प्रताप  पूरी तरह से घायल हो गए वह जंगल में जाना पड़ा हुआ अपने परिवार के साथ जंगल में ही रहे और उन्होंने प्रण किया कि हम जब तक मेवाड़ को वापस नहीं लेंगे तब तक हम घास की बनी रोटियां ही खाएंगे और घास पर ही सोएंगे और

 

सभी सुखों को त्याग देंगे अकबर ने एक विशाल साम्राज्य की स्थापना की जो कि कश्मीर से काबुल तक फैला दिया साम्राज्य बड़ा होने के कारण अकबर ने उसे  बांट दिया और सभी अधिकारियों को अलग-अलग जगह पर नियुक्त कर दिया

Read More-रियल हॉरर स्टोरीज इन हिंदी

 जिससे कि वह शासन को सही ढंग से चला पाए अकबर ने दो ही कर लगाए थे एक तो उसमें भूमि कर और एक व्यापार कर अकबर जानते थे कि अगर सम्राज्य का विस्तार करना है और सम्राज्य को सही ढंग से चलाना है तो हिंदुओं और राजपूतों से मित्रता बनाए रखनी होगी तभी वह राज्य को विस्तार से फैला पाएंगे और अपना शासन कर पाएंगे

 

इसलिए उन्होंने हिंदुओं को सेना में अच्छे पदों पर रखा और राजपूतों से अपने व्यवहारिक संबंध और मित्रता के संबंध बनाए रखें अकबर ने बहुत से ऐसे अच्छे कार्य किए जो कि हिंदुओं का भी उन्होंने विश्वास जीता उन्होंने हिंदुओं पर लगा जजिया कर भी समाप्त कर दिया जिससे धर्म परिवर्तन भी नहीं हो पाया और इस पर भी पूरी तरह से रोक लगा दी अकबर ने भेदभाव की भावना को भी सभी लोगों में समाप्त कर दिया

Read More-ओरछा

अकबर हमेशा सभी कार्य करने से पहले अपने विद्धवानो से परामर्श करते थे और तभी वह अपने कार्य को आरंभ करते थे पर लिखी किताब अकबर नामा रचना अकबर पर ही उपलब्ध है अकबर ने महाभारत और रामायण को भी फारसी भाषा में अनुवाद करवाया था और उसी समय में तुलसीदास की रामचरितमानस की रचना उसी समय में हुई और

 

यही समय था जहां पर कागज पर लिखने की कार्य को सबसे पहली बार किया गया अकबर और बीरबल के किस्से तो आपने बहुत सुने हूं मैं अकबर के दरबार में आपने  9 रत्नों के बारे में सुना ही होगा अकबर को कला साहित्य का बहुत बड़ा शौक था

Read More-बेयर ग्रील्स

अकबर ने आगरा के पास फतेहपुर सीकरी ही बनवाया था और कुछ सालों तक उसे अपनी राजधानी भी बनाए रखा बने आगरा में  लाल किला का भी निर्माण करवाया था और फतेहपुर सीकरी में बुलंद दरवाजा का निर्माण करवाया गुजरात में विजय स्मारक बनवाया

 

akbar history in hindi, अगर गौर से देखा जाए तो अकबर एक महान शासक था और एक अच्छा शासक था जिसने बहुत सारे अच्छे काम किए और यह इतिहास में एक प्रमुख शासकों में से एक है.

अन्य कहानी भी पढ़े 

भूत कहा रहते है जानिये

किले का रहस्य 

एक हवैली

जंगल में भूत को देखा

जंगल वाला भूत

भूत की कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!