अकबर बीरबल, akbar birbal stories in hindi

akbar birbal stories in hindi

birbal.jpg

अकबर बीरबल स्टोरीज इन हिंदी 

बीरबल और सोने की खेती 

akbar birbal stories in hindi, एक बार एक नौकर अकबर के महल में फूलदान को साफ करने के लिए गया फूलदान को साफ करते-करते उस नौकर से फूलदान टूट कर गिर गया और टूट गया और नौकर उसके टुकड़े लेकर बाहर चला गया फिर कुछ देर बाद अकबर वहां पर आए और देखा कि वहां पर तो फूलदान नहीं है 




अकबर ने वहां पर पहरा दे रहे सिपाही को अपने पास बुलाया और कहा कि यहां पर जो फूलदान रखा था वह कहां चला गया है सिपाही ने कहा कि जब तक उसकी सफाई चल रही थी तब तक तो वह यही था हो सकता है उस नौकर को पता हो जो इसकी सफाई कर रहा था




फिर अकबर उस नौकर को बुलाया और पूछा कि यहां पर जो फूलदान था जिसकी तुम सफाई कर रहे थे वह कहां चला गया है डरते हुए कहा कि महाराज वह तो मुझ से गिर कर टूट गया है इस पर अकबर ने कहा कि तुम झूठ बोल रहे हो फूलदान तुम्हारे ही पास है और तुम कह रहे हो वह टूट गया है

नौकर ने कहा महाराज मैं सच कह रहा हूं वह टूट गया है पर अकबर इस बात को मानने को तैयार नहीं थे इसलिए उन्होंने उसे देशनिकाला की सजा दे दी फिर अगले दिन अकबर दरबार में बैठे हुए थे और पूछ रहे थे सही से कि क्या आपने कभी ना कभी झूठ बोला है दरबार में नवरत्न बैठे हुए थे और उन्होंने कहा कि कि कभी भी झूठ हम ने नहीं बोला है

Read Story-चार मित्रो की कहानी

इस पर अकबर ने बीरबल से पूछा कि क्या तुमने कभी झूठ बोला है तो बीरबल ने कहा कि हम कभी ना कभी तो झूठ बोलते ही हैं इस पर अकबर ने कहा कि बाकी लोग तो सब सच कह रहे हैं कि उन्होंने कभी झूठ नहीं बोला है और तुम कह रहे हो कि तुमने झूठ बोला है हमारे दरबार में एक झूठा आदमी है

 

इस पर बीरबल ने कहा कि हमें कभी-कभी ऐसी परिस्थितियों आ जाती हैं जिससे हमें झूठ बोलना पड़ता पर अकबर ने कहा कि हमें बिल्कुल भी झूठ बोलना पसंद नहीं है इस परिस्थिति चाहे कोई भी हो पर झूठ झूठ ही होता है फिर राजा इस बात को सुनकर बड़े परेशान हुए और कहा कि तुम एक झूठे आदमी हो और तुम्हें दरबार से निकाला जाता है और बीरबल वहां से चले गए

Read Story-गरीब आदमी

फिर बीरबल अपने घर गए और कुछ सोचने लगे सोचते सोचते हैं उनके दिमाग में आया और उन्होंने अपने नौकर को बुलाया और कहा कि यह डाली ले जाकर सुनार के पास जाओ और ऐसी ही एक डाली सोने की बनवा लाओ नौकर उस डाली को लेकर सुनार के पास गया और सुनार ने ऐसी एक डाली बनाकर उसे दे दी

 

फिर बीरबल राज दरबार में उस डाली को लेकर आए अकबर से मिले कहा कि तो तुम्हें दरबार में आने के लिए मना कर रखा है लेकिन फिर भी तुम आ गए ऐसी गुस्ताखी क्यों कर रहे हो बीरबल ने कहा जी मैंने राज्य की भलाई के लिए ही यहां पर उपस्थित हुआ हूं.

Read Story-किताबो का रहस्य

मेरे पास एक साधु महाराज आए थे और उन्होंने यह डाली मुझे दी थी और कहा था कि अगर तुम किसी उपजाऊ जगह पर इस डाली के बीज बहुत हो गए तो तुम्हें सोने की फसल वहां पर उत्पन्न होगी और यही डाली मैं लेकर आपके पास आया हूं फिर अकबर ने कहा है कि क्या तुम्हें यकीन है कि वह साधु महाराज बिल्कुल सच बोल रहे थे तो.

 

बीरबल ने कहा कि हां वह मुझे डाली दे कर पानी पर चल कर वापस गए फिर बीरबल ने कहा कि वह एक महान साधु है जो कि पानी पर चल कर पूरे तालाब को उन्होंने पार कर दिया पहले तो मुझे भी विश्वास नहीं हुआ लेकिन अपनी आंखों से जब देखा तभी मुझे विश्वास आ गया फिर राजा ने कहा कि ठीक है अब ऐसी उपजाऊ जगह ढूंढो.

Read Story-इंसानियत की कहानी

तभी बीरबल ने कहा कि मैं  पहले ही उपजाऊ जगह देख चुका हूं आप चलकर वहां पर इस बीज को वो दीजिए तभी महाराज अगले दिन उस जगह पर गए तब जब सभी लोग वहां पर पहुंच गए अकबर ने कहा कि बीरबल अब तुम इस डाली को वो दीजिए जिससे यहां पर सोने की फसल उग जाए और बीरबल ने कहा है कि इसे वही बोल सकता है

 

जो सच्चा इंसान है जिसने कभी भी जिंदगी में झूठ नहीं बोला तब अकबर ने सभी नवरत्नों से कहा कि आकर वो दीजिए पर कोई  नवरत्न में से आगे नहीं बढ़ा क्योंकि सभी झूठे थे  बीरबल ने कहा कि महाराज आप समय  क्यों मैं बर्बाद कर रहे हैं आप ही क्यों नहीं बोल देते तब अकबर ने कहा कि मैं भी नहीं बोल सकता

Read Story-तीन मजेदार कहानिया

मैंने भी कभी ना कभी एक झूठ बोला है इसलिए मैं डाली को नहीं बोल सकता बीरबल ने कहा कि दुनिया में कभी न कभी किसी न किसी जगह पर कोई ना कोई झूठ बोला ही गया है इसलिए पूरी दुनिया में कोई भी सच्चा इंसान नहीं है तभी अकबर बात समझ गए और कहने लगे कि

 

akbar birbal stories in hindi, बीरबल आपने हमें बहुत अच्छी तरह समझाया तो फिर अकबर ने उस नौकर को जिसे देशनिकाला दिया गया था उसे वापस बुला लिया और दोबारा से उसे नौकर की नोकरी दे दी गई और बीरबल को भी माफ कर दिया गया और फिर से बीरबल राज दरबार में आने लगे.

Read More-मोटू पतलू और फिल्म शूटिंग

Read More-मोटू पतलू और जादुई फूल

Read More-मोटू पतलू और जादुई टापू

Read More-मोटू पतलू और मिलावटी दूध

Read More-मोटू पतलू और साधू बाबा

Read More-मोटू पतलू और चिराग

Read More-मोटू पतलू और नगर की सफाई

Read More-मोटू-पतलू का सपना

Read More-पेटू पंडित हास्य कहानी

Read More-शेखचिल्ली की कुश्ती

Read More-शेखचिल्ली का मजाक

Read More-शेखचिल्ली की दुकान

Read More-छोटा भीम और जादूगरनी

Read More-छोटा भीम और क्रिकेट मैच

Read More-मोटू और पतलू का जहाज

Read More-मोटू और पतलू के समोसे

Read More-छोटा भीम और नगर में चोर

Read More-छोटा लड़का और डॉग

Leave a Reply

error: Content is protected !!