निराली पोशाक, a short moral story in hindi

a short moral story in hindi

short moral story.jpg

a short moral story in hindi

निराली पोशाक

a short moral story in hindi, moral kahani, एक बार की बात है   एक महल में बहुत सुंदर राजकुमारी रहती थी उसी महल  में एक नौकर काम करता था वह बहुत सबसे अजीब था बहुत लंबा और बहुत मोटा था सब उसका मजाक उड़ाते थे पर राजकुमारी कहती थी कि तुम्हें अपने काम से मतलब रखना चाहिए

 




 एक दिन राजकुमारी की शादी थी महल में सब अपने लिए सुंदर सुंदर कपड़े बनवा रहे थे राजकुमारी ने उसको बोला कि मोनू क्या तुम भी अपने लिए सुंदर कपड़े सिलवा लो मोनू अपने लिए कपड़े खरीदने गया तो दुकान पर  उस दिन कोई सही कपड़े नहीं मिले

 




क्योंकि वह बहुत लंबा और मोटा था वह दर्जी के पास गया और कहने लगा मेरे लिए कपड़े सिल दो राजकुमारी की शादी है दर्जी ने कहा मेरे पास तुम जैसे मोटे और लंबे आदमी के लिए ना तो कपड़ा है और ना ही मैं तुम्हारे लिए अच्छे कपड़े बना सकता हूं

मोनू उदास हो गया वह उदास होकर एक पेड़ के नीचे बैठ गया देखा एक टोकरी वाला टोकरी बेच रहा था उसने उसे एक  टोकरी  खरीद ले  उसने तंबू का के कपड़े का कुर्ता बना लिया और  दो जूते बना लिए और टोकरी की टोपी बनाकर राजकुमारी की शादी में महल में चला गया

 

सब लोग मोनू को ही देख रहे थे क्योंकि उसके कपड़े सबसे निराले और अनोखे थे जो उस का मजाक उड़ाते थे वह भी अब चुप थे राजकुमारी ने उसे अपने पास बुलाया और कहा देखो यह सबसे निराली पोशाक है

 

a short moral story in hindi, moral kahani,  क्योंकि यह मोनू ने अपने मन से बनाई है अगर हम सुंदर और पतले नहीं है तो इसका मतलब यह नहीं कि हम कहीं भी आ जा नहीं सकते हमें अपने गुणों से ही अपनी पहचान बनानी चाहिए.

Related Posts:-

Read More-ज्ञान का भंडार

Read More-बिना सोचे विचारे

Read More-राजा और लेखक

Leave a Reply

error: Content is protected !!